भारतीय परिवारों में सोना हमेशा से एक भावनात्‍मक स्‍थान रखता है। हमारे यहां शादी विवाह से लेकर हर तरह के खास मौको पर सोना खरीदने का चलन है। भारत में किसी भी खास मौके पर सोना खरीदना शुभ माना जाता है। वैसे इसके पीछे लोगों की एक धारणा ये भी है कि सोना खरीदकर लोग पैसे की इन्वेस्टमेंट करते हैं, ताकि पैसा सेव रह सके। कुछ ऐसे त्‍योहार हैं जिनमें सोना खरीदना बहुत महत्‍वपूर्ण हो जाता है। उनमें से एक त्योहार है अक्षय तृतीया, इस दिन को सोना खरीदने के लिए जो विशेष रूप से शुभ माना जाता है। अक्षय तृतीया को शुभ दिन माना जाता है, इसलिए कई लोग इस दिन नया व्‍यापार शुरू करते हैं। कई लोग यह भी मानते हैं कि इस दिन कीमती धातु खरीदने से समृद्धि और सौभाग्य आता है। इसलिए देश में सोने की सबसे ज्यादा खरीदारी धनतेरस और अक्षय तृतीया पर होती है। जिन्‍हें सोने की शुद्धता और कीमतों के बारे में जानकारी होती है वो ज्‍वेलरी खरीदते वक्‍त मोल-भाव नहीं करते हैं, लेकिन जिन्‍हें इन चीजों की जानकारी नहीं होती हैं वो लोग मोल-भाव करते हैं। वैसे सोने की दुकान या शोरूम से सोना खरीदने के पहले हमें उसके बारे में कुछ बेसिक चीजें जान लेनी चाहिए।

akshay tritiya inside

इसे जरूर पढ़ें: आपके सोने के गहने फिर से चमक उठेंगे, घर में ही अजमाएं ये 4 आसान टिप्स

इस साल अक्षय तृतीया पर अगर आप सोना खरीदने का मन बना रही हैं तो कुछ बातों का ध्‍यान जरूर रखें। तो आइए जानें, कौन सी है वो 6 बातें जिनका आपको रखना होगा ध्‍यान।

हॉलमार्क गोल्‍ड का रखें ध्‍यान

भारत में सोने की शुद्धता के परिचायक के रुप में हॉलमार्क का चिन्‍ह सभी गोल्‍ड ज्‍वेलरी में लगा होता है। इससे पता चलता है कि कौन सा सोना 22 कैरेट का है और कौन सा 18 कैरेट का। अक्षय तृतीया पर सोने की खरीदते समय हॉलमार्क जरूर देखें, क्योंकि हॉलमार्क से सोने की शुद्धता की पहचान होती है। साथ ही, ज्वेलर से सोने की शुद्धता और कीमत जानकर उससे बिल पर जरूर लिखवाएं। कई बार लोग हॉलमार्क के निशान नहीं देखते हैं। अगर आपको हॉलमार्क की जानकारी नहीं है तो इसकी जानकारी जरूर प्राप्‍त करें। अगर आप जो सोने के गहने खरीद रही हैं और उनमें नग लगे हुए है तो ध्‍यान रखें कि ऐसे में सुनार आप से नग की कीमत भी वसूलता है। इसलिए सुनार से उन नगों की रत्ती के बारे में भी पूछें और शुद्धता का पैमाना जानने के बाद उसका सर्टिफिकेट भी लें। अगर किसी भी गहने में हॉलमार्क का निशान नहीं है तो आपको ऐसा गोल्‍ड खरीदने से बचना चाहिए। हॉलमार्क गोल्‍ड की शुद्धता को जांचने का यह सबसे अच्‍छा तरीका है जो कि भारतीय मानक ब्‍यूरो द्वारा प्रदान किया गया है।

सोने की शुद्धता का रखें ध्‍यान

सोने के गहने हमेशा कैरेट में बेचे जाते हैं। सबसे शुद्ध 24 कैरेट का सोना माना जाता है। इसलिए सोने की दुकान या शोरूम में ज्‍यादातर या तो 22 कैरेट का सोना बेचा जाता है या उससे कम का। किसी भी आकार का 24 कैरेट का सोना है तो उसमें 22 कैरेट सोना होगा और दो कैरेट में जिंक, कॉपर, कैडमियम या फिर चांदी हो सकती है। इन धातुओं के साथ मिश्र धातु सोने के गहने के रंगों को निर्धारित करते हैं। आपने ध्‍यान दिया होगा कि 22 कैरेट का सोना कभी-कभी हल्‍का ब्राउन नजर आता है ऐसा कॉपर की वजह से होता है। शुद्ध सोना 24 कैरट का होता है। मगर, 24 कैरट के सोने से गहने नहीं बन पाते हैं। गहने बनाने के लिए 22 या 18 कैरट के सोने का इस्तेमाल होता है और 22 कैरेट की कीमत 24 कैरेट से कम होती है। सोने के गहने कैरेट में होते है जबकी डायमंड के लिए अंग्रेजी के शब्‍द कैरट का इस्‍तेमाल किया जाता है और कई बार लोग इसमें धोखा खा जाते हैं। कैरट डायमंड को मापने या वजन करने की इकाई है।

akshay tritiya inside

मेकिंग चार्ज का रखें ध्‍यान

आपकों गहनों के मेकिंग चार्ज के बारे में भी पता होना चाहिए। इसलिए ऐसे गहने खरीदें जिनका मेकिंग चार्ज कम हो। ताकि आप जब भी गहने बेचें तो आपको नुकसान ना हो। आमतौर पर सोना बेचते वक्‍त उसकी उस समय चल रही कीमत और उसका मेकिंग चार्ज अहम भूमिका निभाता है। आपने जब सोना खरीदा था तब अगर सोने की कीमत ज्‍यादा थी और अब जब बेचना चाहती हैं तो मार्किट में कीमत कम है तो आपको सोना बेचते हुए नुकसान होगा।

akshay tritiya inside

वहीं, जब भी आप सोना बेचती हैं तो हमेशा सोने की मेकिंग चार्ज को काटकर ही उसकी कीमत लगाई जाती है, जिससे नुकसान की संभावना होती है। अगर आप ऐसे नुकसान से बचना चाहती हैं तो कोशिश करें की आपने जिस शोरूम से सोना खरीदा था वहीं पर उसे बेचें। जहां से आपने सोना खरीदा था वहीं बेचने पर वो शोरूम वाले मेकिंग चार्ज नहीं काटते।

akshay tritiya inside

इसे जरूर पढ़ें: बहू के साथ प्यार बढ़ाने के लिए सासू मां जरुर दें मुंह दिखाई पर ये '1 तोहफा'

सोने की छोटी दुकान से बचें

अगर बात की जाए शुद्ध सोने की तो सोने की छोटी दुकान से सोना खरीदना जोखिम भरा हो सकता है, इसलिए सोने की छोटी दुकान से सोना खरीदने से बचें। जब भी सोना खरीदे तो शोरूम या बड़ी दुकान से ही खरीदें और बिल लेना ना भूलें।

बायबैक ऑफर का रखें ध्‍यान

सोने के डिजाइन और ट्रेंड्स बदलते रहते हैं इसलिए सोने के गहने खरीदते वक्‍त इस बात का ध्यान रखें कि इसमें कोई बायबैक ऑफर या एक्सचेंज ऑफर है।

Photo courtesy- (Sukkhi.com, Candere, herebfilesat.ga & KSVHS Jewellery & freepik) 

 

Loading...
Loading...