आपके पास आपके बैंक की तरफ से कितने मैसेज आते होंगे जो ये कहें कि आपको सावधानी रखनी है और अपना ओटीपी आदि किसी से शेयर न करें? लगभग हर किसी के पास उसके बैंक से इस तरह के मैसेज जरूर आते हैं। बैंक अकाउंट्स और यूपीआई एप्स के कारण आजकल डिजिटल पैसों का ट्रांजैक्शन करना बहुत आसान हो गया है। हो भी क्यों न जब घंटों लाइन में लगने की जगह एक क्लिक से आपका काम हो जाएगा तो फिर लोग इसका फायदा क्यों न उठाएं। 

पर जहां चीज़ें आसान हो जाती हैं वहीं पर ये भी समस्या होती है कि इस तरह हैकर्स भी बहुत आसानी से आपका अकाउंट हैक कर सकते हैं। अक्सर घरों में हमारी मम्मियों को इन सब बातों का आइडिया नहीं होता और वो जाने अंजाने में किसी न किसी तरह की फिशिंग का शिकार हो जाती हैं। तो उन गलतियों की बात करते हैं जिन्हें करने से आपके बैंक अकाउंट को खतरा हो सकता है। 

हमने इसे लेकर स्मार्टफोन और गैजेट रिव्यूअर महेश टेलिकॉम के सह संस्थापक मनीष खत्री से बात की। उनका कहना था कि दिन रात गैजेट्स, एप्स और स्मार्टफोन्स आदि से डील करने के बाद भी एक बार उन्होंने किसी फिशिंग का शिकार होकर अपने यूट्यूब अकाउंट को कॉम्प्रोमाइज कर दिया था। हालांकि, उनके साथ बैंकिंग फ्रॉड नहीं हुआ, लेकिन यूट्यूब अकाउंट के हैक होने को लेकर ही आप समझ सकते हैं कि आपकी एक लापरवाही कितना खतरा पैदा कर सकती है। 

स्मार्टफोन की किस गलती को कभी नहीं करना चाहिए-

अगर आप स्मार्टफोन से नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं तो एक गलती कभी न करें। वो है फिशिंग लिंक्स पर क्लिक करने की। अधिकतर लोग इसी तरह के लिंक्स के कारण फिशिंग का शिकार हो जाते हैं। आपके पास किसी भी नंबर से मैसेज आए जिसमें आपको बेहतरीन ऑफर, आकर्षक लिंक्स आदि दिखें तो उनपर क्लिक न करें। 

smartphone and issues

इसे जरूर पढ़ें- आधार कार्ड से कैसे बदलें गलत डेट ऑफ बर्थ, जानें पूरी स्टेप्स

नेट बैंकिंग फ्रॉड और फिशिंग से बचने के लिए ये बातें ध्यान रखें- 

  • किसी भी अनजान लिंक पर क्लिक न करें। 
  • आपने क्रेडिट कार्ड नंबर और पैन कार्ड नंबर के जैसे कई टेक्स्ट मैसेज या मेल आपके पास आ सकते हैं जिनमें आपका आधा नंबर हाइड होगा। ऐसे टेक्स्ट मैसेज में कई बार लिंक्स होते हैं, इन्हें क्लिक न करें। 
  • अगर आपके पास ऐसा कोई मैसेज या कॉल आता है जहां क्रेडिट कार्ड लिमिट बढ़ाने के बारे में बोला जाता है तो उसपर रिस्पॉन्ड न करें। इसका सबसे अच्छा तरीका नेट बैंकिंग के जरिए ऐसी सर्विसेज लेने का है। 
  • नेट बैंकिंग के लिए ऑटोफिल यूज न करें। अगर आपको पासवर्ड याद नहीं रहते हैं तो कोई ऐसा पासवर्ड बनाने की कोशिश करें जो हमेशा याद रह सके, लेकिन उसे ऑटोफिल करना सही नहीं। 
  • किसी पब्लिक नेटवर्क पर अपना ईमेल अकाउंट न खोलें। 
  • अपने मोबाइल सॉफ्टवेयर को अपडेट न करने की गलती न करें। दरअसल, नए अपडेट्स के साथ नए सिक्योरिटी टूल्स भी जुड़ जाते हैं जो मदद कर सकते हैं।  
smartphone net banking

नेट बैंकिंग करते समय एक्सपर्ट की बताई ये टिप्स ध्यान रखें- 

एक्सपर्ट मनीष खत्री ने हमें नेट बैंकिंग को लेकर कुछ खास टिप्स बताईं हैं जिनका ध्यान हमेशा रखना चाहिए।   

मनीष खत्री का कहना है कि वो हमेशा नेट बैंकिंग या ऐसे पैसे ट्रांसफर करने वाले एप्स का इस्तेमाल करते समय 2 स्टेप ऑथेंटिकेशन का प्रयोग करते हैं। ऐसा इसलिए ताकि अगर गलती से पासवर्ड किसी और के हाथ लग भी जाएगा तो भी वेरिफिकेशन नहीं हो पाएगा क्योंकि आपके पास मैसेज या कॉल आएगा वेरिफाई करने के लिए। 

आपको ओटीपी की पावर को समझना होगा। ओटीपी आपको फिशिंग लिंक्स से बचाने का बहुत बड़ा साधन बन सकता है।  

अगर आपने गलती से किसी लिंक पर क्लिक कर भी दिया है तो आप अपने सभी अकाउंट्स के पासवर्ड्स बदल दें। हमेशा अपने अकाउंट्स के लिए बहुत स्ट्रॉन्ग पासवर्ड ही चुनें।  

इसे जरूर पढ़ें- आखिर क्यों होते हैं गैस सिलेंडर के नीचे की ओर छेद? जानिए सिलेंडर के बारे में कुछ अनोखे फैक्ट्स 

अगर हो गया है बैंकिंग फ्रॉड तो क्या करें? 

अगर आपके साथ बैंकिंग फ्रॉड हो गया है तो जल्द से जल्द अपने बैंक को इन्फॉर्म करें और आधिकारिक मेल करें। एफआईआर भी करनी होगी। ऐसा इसलिए क्योंकि अधिकतर बैंक्स 48 घंटे के बाद बैंकिंग फ्रॉड या फिशिंग की शिकायत को अमान्य मान लेते हैं।  

आपकी सावधानी आपके पैसे को सुरक्षित रखने के लिए बहुत जरूरी है। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।