• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

Periods लेट होने पर बेवजह क्‍या-क्‍या सोचने लगती हैं लड़कियां

समय पर पीरियड्स न होने पर लड़कियां बेवजह पता नहीं क्‍या-क्‍या सोचने लगती है।
author-profile
Published -06 Sep 2017, 12:52 ISTUpdated -26 Sep 2017, 17:20 IST
Image Courtesy : Shutterstock.com periods  image main

कमर, पेट, टांगों में होने वाले दर्द और चिड़चिड़ापन और भी पता नहीं क्‍या-क्‍या प्रॉब्‍लम होने के कारण लगभग हर लड़की को पीरियड्स के वो 5 दिन बहुत ही खराब लगते हैं। लेकिन फिर भी वह चाहती हैं कि उनके पीरियड्स समय पर होते रहें। क्‍योंकि समय पर पीरियड्स न होने पर लड़कियां बेवजह पता नहीं क्‍या-क्‍या सोचने लगती है। क्‍या पीरियड्स लेट होने पर आपके मन में भी बेवजह ऐसे की खयाल आते है।

1हे राम! कहीं मैं pregnant तो नहीं हो गई

Image Courtesy : Shutterstock.com
pregnant  image

Periods लेट होने पर सबसे डरावना ख्‍याल जो लड़की के मन में आता है वह यह कि कहीं मैं pregnant तो नहीं हूं? खासतौर पर तब, जब लड़की रिलेशनशिप में हो। ऐसे में आप pregnancy के शुरुआती लक्षण अपने अंदर ढूंढने लगती हैं।

2होम प्रेगनेंसी टेस्ट से चेक करना

Image Courtesy : Shutterstock.com
pregnancy test

जब प्रेगनेंसी का शक लड़की के सिर चढ़कर बोलने लगता है तो वह इस संस्पेंस को खत्म कर देना चाहती हैं। काफी देर तक परेशान रहने के बाद और फिर आप होम प्रेगनेंसी टेस्ट इस्‍तेमाल करती हैं! जब आप टेस्ट करती हैं, तो वो निकलता है नेगेटिव। अचानक ही आपको जो खुशी महसूस होती है, वो आपके चेहरे से छिप नहीं पाती।

3घंटों गूगल पर बिताना

Image Courtesy : Shutterstock.com
google inside

Pregnancy का शक होने पर आप जल्‍दी से गूगल पर खोज करने लगती है और अपने शक का जवाब पाने के लिए प्रेगनेंसी के लक्षण ढूंढ़ने के लिए एक-एक आर्टिकल की खोज कर देती हो।

4बार-बार कैलेंडर देखना

Image Courtesy : Shutterstock.com
calender

Periods समय पर होने पर आपका ध्‍यान कैलेंडर पर नहीं जाता, लेकिन पीरियड्स समय पर न होने पर आप कैलेंडर निकालकर हिसाब-किताब लगाने लग जाती है। और कोशिश करती हैं कि कैलेंडर से ही सब पता चल जाए!

5अपने मन में कुछ-कुछ सोचना

Image Courtesy : Shutterstock.com
thyroid

इन सभी बातों के अलावा पीरियड्स न होने पर आप खुद से यह भी सोचने लगती हो कि हो सकता है मैंने पिछले महीने बहुत ज्‍यादा वजन बढ़ा लिया हो। या मुझे पीसीओएस या थायरॉयड की समस्‍या तो नहीं हैं।