Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    मानसून में ये 10 आयुर्वेदिक सुपरफूड्स खाएंगी तो बीमारियां छू भी नहीं पाएंगी

    मानसून की मौसमी बीमारियों को मात देने के लिए अपने खाने की लिस्‍ट में आयुर्वेदिक सुपरफूड्स को शामिल करने का यह सही समय है। 
    author-profile
    Published - 30 Jul 2020, 20:30 ISTUpdated - 04 Aug 2020, 11:20 IST
    ayurvedic things for monsoon main

    मानसून सबसे फेवरेट मौसमों में से एक है। यह न केवल हमें उमस भरी गर्मी से राहत देता है, बल्कि मानसून की सुनहरी सुबह और मिट्टी की महक ही कुछ ऐसी होती है, जिसे हर कोई इस मौसम में ग्रहण करना चाहता है। लेकिन मानसून अपने साथ बीमारियों और संक्रमणों की एक श्रृंखला भी लाता है जो आपके शरीर और समग्र स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती हैं। जिनमें से अधिकांश बारिश के मौसम में आपके द्वारा खाए जाने वाले फूड्स पर निर्भर करता है। सब्जियां, फल और मसाले जैसे हेल्‍दी फूड्स खाने से इम्‍यून सिस्‍टम को बढ़ावा और हेल्‍दी रखने में मदद मिलती है। इसलिए, अगर आप इस बात को लेकर भ्रमित हैं कि अपने खाने की लिस्‍ट में आप कौन से फूड्स का चयन कर सकती हैं तो चिंता न करें क्योंकि हम हेल्‍दी आयुर्वेदिक सुपरफूड की लिस्‍ट आपके लिए लेकर आए हैं जो बरसात के मौसम में खाने के लिए बेस्‍ट हैं। इन आयुर्वेदिक फूड्स के बारे में हमें आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट वाजपेयी जी बता रहे हैं।

    1अदरक

    ginger for monsoon inside

    यह आयुर्वेदिक सुपरफूड शरीर में उत्तेजित वात को शांत करता है जो मानसून के दौरान एक आम चिंता का विषय हो सकता है। यह शरीर के डाइजेस्टिव सिस्‍टम को बेहतर बनाता है जिससे आप एनर्जी से भरपूर बनी रहती हैं। इसके अलावा, अदरक शरीर के टिशू को पोषक तत्वों में सुधार करने में मदद करता है। यह सर्दी और फ्लू को दूर रखने के लिए बहुत आवश्यक होता है।

    2करेला

    karela benefits

    यूं तो करेला स्‍वाद में कड़वा होता है लेकिन इससे आपको बहुत सारे हेल्‍थ बेनिफिट्स मिल सकते हैं। मानसून में इसे खाना खासतौर पर फायदेमंद होता है क्‍योंकि यह विटामिन सी का एक समृद्ध स्रोत है जो इम्‍यूनिटी को बढ़ावा देने में मदद करता है। साथ ही इसमें स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए मजबूत एंटीवायरल गुण होते हैं।

    3लहसुन

    garlic for monsoon inside

    लहसुन एक और भारतीय सुपरफूड है। लहसुन मेटाबॉलिज्‍म को बढ़ाता है और इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो प्राकृतिक रूप से शरीर की इम्‍यूनिटी बनाने में मदद करते हैं। इसको खाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि इसे रोज़ दाल और करी में इस्तेमाल किया जाए। लहसुन का उपयोग स्वाद बढा़ने के लिए सॉस और गर्म सूप में भी किया जा सकता है। 

    4सेंधा नमक

    sendha namak

    मानसून के मौसम में सेंधा नमक का उपयोग आपको खाना पकाने के लिए करना चाहिए क्योंकि यह आपके शरीर के पित्त (अग्नि) तत्व को बढ़ाता है, जिसका अर्थ है कि डाइजेशन को बढ़ाता है जो आमतौर पर मानसून के मौसम में कम होता है।

    5पुदीना

    mint for monsoon inside

    आमतौर पर मानसून के दौरान साग न खाने की सलाह दी जाती है, लेकिन इस मौसम में पुदीना खाना बहुत अच्‍छा माना जाता है। पुदीना में शीतलक गुण होते हैं, इसलिए इसे गर्म चाय, गर्म सलाद या नार्मल पानी में नींबू के साथ लिया जाता है। यह एक प्राकृतिक डीकन्जेस्टेंट है, इसलिए जुकाम और फ्लू को दूर भगाने में मदद करता है।

    6मूंग की दाल

    mong dal

    इस मानसून में सबसे उपयोगी माना जाता है। इसमें मौजूद प्रोटीन, विटामिन और मिनरल इम्‍यूनिटी को बढ़ाने के साथ ही पूरे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छे होते हैं। यह आपके शरीर में वायु और अग्नि तत्व को शांत करता है और आपको संतुलित स्वभाव प्राप्त करने में मदद करता है। इस मौसम में इसका सेवन करने का सबसे अच्छा तरीका मूंग-आधारित सूप या पैनकेक है। इस मौसम में कच्ची मूंग की फलियों को खाने से बचें।

    7शहद

    honey for monsoon inside

    कमजोर डाइजेशन वालों के लिए शहद एक वरदान है। यह आसानी से पचने वाला कार्बोहाइड्रेट है जो तुरंत एनर्जी देता है। मानसून में बहुत सी महिलाएं डाइजेस्टिव सिस्‍टम से परेशान रहती हैं लेकिन शहद से आप इस समस्‍या से आसानी से मुकाबला कर सकती हैं। एक चम्मच शहद को दो चम्मच नींबू के रस और एक गिलास गुनगुने पानी के साथ खाली पेट लें ताकि आपको इसके फायदे मिल सकें।

    8लौकी

    lauki benefits

    मानसून में लौकी का सेवन भी आपकी हेल्‍थ के लिए अच्‍छा माना जाता है। यह अत्यधिक क्षारीय है जो आपके डाइजेस्टिव सिस्‍टम को एक्टिव रखने के लिए जरूरी होता है। मानसून के दौरान पेट के मजबूत होने से काफी फायदे मिल सकते हैं। लौकी का उपयोग करने के कई तरीके हैं, आप इसे सब्‍जी, सूप और पराठे के रूप में खा सकती हैं। 

    9हल्दी

    turmeric for monsoon inside

    इससे बेहतर इम्युनिटी बूस्टर कोई नहीं हो सकता है। आपको गले में खराश, फ्लू, खांसी और सर्दी से बचने के लिए हल्दी की जरूरत होती है। दिन में एक बार थोड़ी हल्दी और नमक के पानी से गरारे करें। इसका उपयोग करने का सबसे अच्छा तरीका ग्रीन टी है और आप इसका इसतेमाल हर रोज खाना पकाने में भी कर सकती हैं। 

    10लाल चावल

    red rice for monsoon inside

    सफेद चावल की तुलना में लाल चावल आपके शरीर के लिए बेहतर होते हैं। यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं, इसलिए यह आपकी इम्‍यूनिटी को बनाए रखते हैं। यह बी 6 और आयरन का भी एक अच्छा स्रोत होते हैं जो हड्डियों के स्वास्थ्य में हेल्‍प करते हैं, खासकर अगर आप मसल्‍स में ठंडे मौसम के कारण कठोरता का अनुभव करती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।