बृहस्पतिवार के दिन तुलसी के उपाय से जीवन में आएगी आर्थिक संपन्नता

आर्थिक रूप से मजबूत होना चाहते हैं तो बृहस्पतिवार के दिन आप तुलसी के ये उपाय जरूर करें। 
brihaspativar  ke  asan  upay

तुलसी के पौधे को हिंदू धर्म में बहुत ही पवित्र माना गया है और साथ ही इसे देवी लक्ष्मी का स्वरूप भी कहा गया है। वैसे तो देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शुक्रवार का दिन समर्पित किया गया है, मगर जगतपिता नारायण यानि भगवान विष्णु की आराधना के लिए बृहस्पतिवार का दिन शास्त्रों में शुभ माना गया है। देवी लक्ष्मी भगवान विष्णु को अति प्रिय हैं इसलिए आप आर्थिक संपन्नता के लिए बृहस्पतिवार के दिन लक्ष्मी स्वरूप तुलसी के पौधे के यह उपाय कर सकते हैं। इन उपायों के बारे में हमें ज्योतिषाचार्य एवं पंडित विनोद सोनी जी बता रहे हैं।  

इसे जरूर पढ़ें: एस्‍ट्रो एक्सपर्ट: तुलसी के इन मंत्रों का करें उच्चारण, जीवन में आएगी खुशहाली

1तुलसी के पानी से स्नान

tulsi water in morning tips

बृहस्पतिवार के दिन स्नान करने वाले पानी में आपको तुलसी की 10 से 15 पत्तियां डालनी चाहिए। इसी के साथ चुटकी भर हल्दी भी पानी में डालें और इस पानी से स्नान करें। यदि आप नियमित रूप से हर बृहस्पतिवार को ऐसा करते हैं तो आपको धीरे से आर्थिक लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। आपको अटका हुआ धन प्राप्त होगा और यदि कोई कीमती वस्तु खो गई है तो वह भी आपको अचानक ही प्राप्त हो जाएगी। 

2तुलसी को अर्पित करें ये सामग्री

tulsi plant care tips

अगर आप बहुत समय से तंगी के दौर से गुजर रहे हैं या फिर आपका धन कहीं फंस गया है और लाख कोशिशों के बाद भी आप उसे दोबारा प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं, तो आपको हर बृहस्पतिवार के दिन तुलसी के पौधे में कच्चा दूध चढ़ाना चाहिए। आप केवल 5 से 7 चम्मच ही कच्चा दूध तुलसी के पौधे को अर्पित करें। दरअसल, तुलसी में अधिक दूध चढ़ाने से तुलसी के पौधे को नुकसान पहुंचा सकता है। आप चाहे तो साफ पानी में कच्चा दूध मिला कर भी तुलसी के पौधे को अर्पित कर सकती हैं। 

3घी का दिया जलाएं

thursday  astro  remedies

वैसे तो तुलसी की पूजा आपको हर दिन करनी चाहिए और सुबह-शाम तुलसी के पौधे पर घी का दिया जलाना चाहिए, मगर कई लोगों के घर में तुलसी का पौधा नहीं होता है या फिर पनप नहीं पाता है। ऐसे में आप हर बृहस्पतिवार के दिन किसी मंदिर में जा कर तुलसी के पौधे में सुबह-शाम देसी घी का दीपक जलाएं। ऐसा करने से दरिद्रता दूर होती है और धन कमाने के अवसर प्राप्त होते हैं। बेरोजगारों को तो हर दिन तुलसी के पौधे पर जल चढ़ाना चाहिए और दीपक जलाना चाहिए। 

इसे जरूर पढ़ें: तुलसी के पौधे को हरा-भरा रखने के सरल उपाय

4तुलसी की परिक्रमा

tulsi solution for home peace happiness

अगर आप हर दिन तुलसी के पौधे में जल नहीं अर्पित कर पाते हैं, तो बृहस्पतिवार के दिन ऐसा अवश्य करें। तुलसी को जल चढ़ाने से पूर्व सूर्य देव को जल अर्पित करें। इसके बाद पात्र में बचा हुआ जल तुलसी को चढ़ाएं और 3 बार तुलसी की परिक्रमा करें। परिक्रमा करने से आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है, यह ऊर्जा आपको सही मार्ग पर चलने की प्रेरणा देती है और अच्छे कर्म करने का रास्ता दिखाती है। 

5तुलसी के पत्तों का उपाय

tulsi vivah easy rangoli tips

जो तुलसी के पत्ते पौधे से झड़ जाते हैं और सूख जाते हैं, उन्हें फेंकने के स्थान पर आपको उन्हें लाल कपड़े में बांध कर बृहस्पतिवार के दिन अपने पर्स में रख लेना चाहिए। इस उपाय से आपके पर्स में हमेशा धन बना रहेगा और कभी पैसों की जरूरत पड़ने पर पर्स खाली नहीं होगा। 

6सूखे तुलसी के पौधे का उपाय

uses for tulsi plant

मौसम बदलने का प्रभाव तुलसी के पौधे पर भी पड़ता है। ऐसे में तुलसी का पौधा सूखने लग जाता है। शास्त्रों के मुताबिक कभी घर में सूखा तुलसी का पौधा लगा कर न रखें। इससे घर की सुख-समृद्धि और आर्थिक संपन्नता पर भी असर पड़ता है। ऐसे में बृहस्पतिवार के दिन आप तुलसी के पौधे को किसी भी पवित्र नदी के जल में प्रवाहित कर सकते हैं। 

7तुलसी के पौधे में गांठ

tulsi mantra prosperity growth

यदि आपका कोई काम काफी समय से नहीं बन पा रहा है, जिससे आपको आर्थिक नुकसान झेलना पड़ रहा है तो आप बृहस्पतिवार के दिन तुलसी के पौधे में रक्षा सूत्र से 7 गांठ लगा दें। जब आपका कार्य पूरा हो जाए तो उन सभी गाठों को खोल दें। 

8विवाहित महिला करें ये उपाय

tulsi magical mantra for good life and prosperity

अगर आपके पति आर्थिक रूप से परेशानियों का सामना कर रहे हैं, तो आपको तुलसी की विधि-विधान के साथ पूजा करनी चाहिए और तुलसी में लाल वस्त्र और चूड़ी चढ़ानी चाहिए। ऐसा करने से देवी लक्ष्‍मी प्रसन्‍न होती हैं और आर्थिक मुसीबतों को कम करती हैं। 

उम्‍मीद है कि आपको तुलसी के यह उपाय पसंद आए होंगे। इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें, साथ ही ऐसे और आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।