जानें कौन हैं भारत की 29 महिलाएं जिन्हें साल 2021 में पद्म अवॉर्ड्स से किया गया सम्मानित

आइए जानें इस साल किन महिलाओं को पद्म अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है और उन महिलाओं के जीवन की कुछ ख़ास बातें। 
padma shri award

हमारे देश में शिक्षा, कला, विज्ञान, मनोरंजन और समाजकार्यों के लिए पद्म सम्मान दिए जाते हैं। जिसमें उन लोगों का नाम शामिल होता है जिन्होंने इनमें से किसी भी क्षेत्र में अपना विशेष योगदान तो दिया ही है साथ ही जिन्होंने अपनी कुछ अलग पहचान भी बनाई है। इसी क्रम में भारत में कुछ सर्वोच्च नागरिक सम्मान, पद्म पुरस्कार, 2021 में 119 महान लोगों को प्रदान किए गए थे। पुरस्कार विजेताओं को सम्मानित करने का एक समारोह 2020 में कोविड -19 महामारी के कारण आयोजित नहीं किया जा सका था इसलिए उन लोगों को भी इस साल 2021 में पद्म पुरस्कार दिए गए जो इसे 2019 में प्राप्त नहीं कर पाए थे।

हाल ही में 8 नवंबर को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने शटलर पीवी सिंधु, फुटबॉलर ओइनम बेमबेम देवी, अभिनेत्री कंगना रनौत, फिल्म निर्माता एकता कपूर  समेत कई लोगों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। इस पूरी सूची में 7 पद्म विभूषण, 10 पद्म भूषण और 102 पद्म श्री पुरस्कार विजेता शामिल हैं। जिनमें से सोलह पुरस्कार मरणोपरांत प्रदान किए गए हैं। पुरस्कार पाने वालों की सूची में 29 महिलाएं और एक ट्रांस व्यक्ति शामिल हैं। आइये जानें इस साल पद्म पुरस्कार पाने वाली 29 महिलाओं के बारे में जिन्होंने पद्म पुरस्कार प्राप्त करके देश का सम्मान बढ़ाया है। 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

11 -कृष्णण नायर शांतिकुमारी चित्रा

ks chitra

कर्नाटक म्यूजिक को अपनी जिंदगी समर्पित करने वाली प्लेबैक सिंगर के एस चित्रा को उनके रीजनल म्यूजिक में योगदान के लिए पद्म भूषन अवॉर्ड मिला है। वह 4 दशकों से संगीत उद्योग का हिस्सा रही हैं और उन्होंने 25,000 से अधिक गाने गाए हैं।

22 -सुमित्रा महाजन

sumitra mahajan

सुमित्रा महाजन 'ताई' का जन्म 12 अप्रैल साल 1943 को महाराष्ट्र में हुआ था और महज 22 साल की उम्र में उनकी शादी इंदौर के एडवोकेट जयंत महाजन से हो गई थी। सुमित्रा महाजन जानी मानी पॉलिटीशियन हैं और 2014 से 2019 तक लोकसभ स्पीकर रह चुकी हैं। इस साल उन्हें देश के सबसे बड़े सम्मान पद्मा विभूषण से नवाजा गया है। आमतौर पर यह सामान राजनीति के क्षेत्र में उपलब्धि प्राप्त लोगों को दिया जाता है। 

33 -पी अनीता

p anitha

पी अनीता भारत की बास्केटबॉल टीम की पूर्व कप्तान हैं और वो चेन्नई की रहने वाली हैं। उन्होंने अपने खेल के करियर में लगभग 30 पदक जीते हैं।  ने विभिन्न चैंपियनशिप में लगभग 30 पदक जीते हैं। बास्केटबॉल में अपने शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें इस बार पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित किया गया है। 

 

44 -भूरी बाई

bhuri bai

भूरी बाई को हम उनकी पेंटिंग्स की वजह से पहचानते हैं। अपनी पारंपरिक ग्रामीण पेंटिंग्स को वो अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर ले गईं। उनके काम को विदेशों में लोकप्रिय संग्रहालयों और दीर्घाओं में प्रदर्शित किया जाता है। भूरी बाई को भील आर्ट' को रिवाइव करने के क्षेत्र में पद्मश्री से सम्मानित किया गया है। 

55 -लखीमी बरुआही

lakhimi baruah

लखीमी बरुआ असम की एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं। उन्होंने वंचित पृष्ठभूमि की महिलाओं की मदद के लिए वर्ष 1998 में कोनोकलोटा महिला शहरी सहकारी बैंक की शुरुआत की।

 

66 -रजनी बेक्टर

rajni bector

रजनी बेक्टर की कंपनी मिसेज बेक्टर्स फूड स्पेशलिटीज ने करीब 198 गुना ओवरसब्सक्राइब कर इतिहास रच दिया है। उसने सभी उत्पादों में क्रीम सामग्री का उपयोग करके अपना ब्रांड क्रेमिका विकसित किया है। पुरस्कार समारोह के बाद उन्होंने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों से बातचीत की। 

77 -संघखुमी बौलचुआक

padma shri

मिज़ोराम की सोशल वर्कर संघखुमी ने मीज़ो सोसाइटी के लिए काम किया और उनके लिए कई पॉलिसीज के लिए लड़ाई की। मिजोरम में अपने सामाजिक कार्यों के लिए उन्हें पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 

 

88-मैरी कॉम

mary kom padma shri

बॉक्सिंग में भारत की तरफ से छह बार की वर्ल्ड चैंपियन मैरीकॉम को इस बार पद्म विभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। भारत में महिला बॉक्सिंग का चेहरा, एमसी मैरी कॉम पद्म पुरस्कार की प्राप्तकर्ता भी थीं। 

99-कंगना रनौत

kangana padma shri

इस साल अपने अभिनय की वजह से लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र बन चुकी अभिनेत्री कंगना रनौत को भी पद्म श्री पुरस्कार से नवाज़ा गया है। पिछले महीने ही कंगना को उनकी फिल्म पंगा और मणिकर्णिका : द क्वीन ऑफ झांसी के लिए नेशनल अवार्ड भी मिला था।

इसे भी पढ़ें: कंगना रनौत और अदनान सामी समेत इन हस्तियों को मिला पद्म अवॉर्ड, देखें अवार्ड सेरेमनी की तस्वीरें

 

 

1010 -पीवी सिंधु

pv sindhu padma shri

भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु को भारत का तीसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण मिला है। 

1111- एकता कपूर

ekta kapoor padma shri

भारत की सबसे लोकप्रिय निर्माता और निर्देशक, एकता कपूर को प्रदर्शन कला में उनके योगदान के लिए चौथा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार मिला।

 

1212-सुश्री बिजॉय चक्रवर्ती

bijoya chakraborty

सार्वजनिक मामलों में  सुश्री बिजॉय चक्रवर्ती के योगदान के लिए उन्हें इस साल पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 

 

1313 - मौमा दासो

mouma das

खिलाड़ियों की सूची में एक अन्य खिलाड़ी, मौमा दास एक टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं। वह अतीत में विभिन्न अंतरराष्ट्रीय आयोजनों में देश का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं।

1414 -राधे देवी

radhe devi

वह मणिपुर में एक प्रसिद्ध पारंपरिक ब्राइडल वियर डिजाइनर हैं। उनकी प्रतिभा को देखते हुए राधे देवी को इस साल पद्मा अवार्ड से सम्मानित किया गया है। 

 

1515 -शांति देवी

shanti devi

ओड़िशा की शांति देवी को कोरापुटिया गांधी के नाम से जाना जाता है। ये विनोबा भावे के आंदोलन से प्रेरित होकर खुद सोशल वर्क में आगे हैं और अनाथ बच्चों और परेशान महिलाओं के लिए काम करती हैं। उनकी स्वैच्छिक संस्था, सेवा समाह का उद्देश्य अनाथों और गरीब बच्चों का पुनर्वास करना है।

1616 अंशू जामसेनप्पा

anshu jamsempa

अंशू जामसेनप्पा एक भारतीय पर्वतारोही हैं और वो पहली महिला हैं जिन्होंने एक ही सीजन में दो बार माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई की है। वो सबसे तेज़ डबल सम्मिट अडेंड करने वाली पर्वतारोही हैं जिन्होंने ये काम सिर्फ 5 दिनों में किया था। उन्हें इस साल पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।  

 

1717- पूर्णमासी जानी

purnamasi jani padma

ओड़िशा की पूर्णमासी जानी को कला के क्षेत्र में अच्छे प्रदर्शन के लिए पद्म श्री पुरुस्कार मिला है। बिना किसी पढ़ाई के भी 50 हज़ार से ज्यादा भक्ति गीत उन्होंने उड़िया, कुई और संस्कृति में लिखे और गाए हैं।  

1818- प्रकाश कौर

prakash kaur

जालंधर की सुश्री प्रकाश कौर को पंजाब में उनके सामाजिक कार्यों के लिए पद्मश्री मिला है। उन्होंने करीब 80 अनाथ और समाज से त्याग दी गई लड़कियों की देखरेख की और उन्हें सही दिशा दिखाई। 

1919- संजीदा खातून

sanjida khatun

संजीदा खातून बंगलादेशी म्यूजिकोलॉजिस्ट हैं। उन्हें सोशल वर्क, आर्ट्स और कल्चर के क्षेत्र में जाना माना नाम हैं। बांग्लादेश की सुश्री संजीदा खातून बांग्लादेश मुक्ति संग्रामी शिल्पी संगठन की संस्थापकों में से एक हैं। अपने सराहनीय काम के लिए उन्हें पद्मा श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 

2020- नीरू कुमार

niru kumar

नीरू कुमार दिल्ली से हैं और वो सोशल वर्क से जुड़ी हुई हैं । वो लंबे समय से अपने काम के प्रति समर्पित हैं। उन्हें इस साल पद्मा श्री अवॉर्ड से नवाज़ा गया है। 

2121- सुश्री लाजवंती

ms lajwanti

पंजाब की रहने वाली सुश्री लाजवंती अपने काम से राज्य की फुलकारी परंपरा को जिंदा रखने के लिए जानी जाती हैं। इस साल उन्हें पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

2222-बिरुबाला राभा

birubala rabha

असम की सामाजिक कार्यकर्ता, सुश्री बिरुबाला राभा 1980 के दशक से डायन शिकार के खिलाफ संघर्ष कर रही हैं।

2323 -बॉम्बे जयश्री रामनाथ

jayshri ramnath

कोलकाता से आने वाली जयश्री 58 साल की हैं और क्लासिकल म्यूजिक और फिल्म वर्ल्ड का जाना माना नाम हैं। सुश्री जयश्री रामनाथ तमिलनाडु की एक संगीतकार हैं, जिन्होंने तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, हिंदी सहित कई भाषाओं में गाया है। उन्हें पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। 

इसे भी पढ़ें: नायका फाउंडर फाल्गुनी नायर ने रचा इतिहास, बनीं भारत की सेल्फ मेड सबसे अमीर महिला करोड़पति

2424- सिंधुताई सपकाली

sindhubai sapkal

स्थानीय लोगों द्वारा प्यार से माई कहलाने वाली सिंधुताई 'संमति बाल निकेतन संस्था' नामक एक अनाथालय चलाती हैं। उन्हें इस साल पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 

2525 -विदुषी के.एस. जयलक्ष्मी

vijaylakshmi

साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए उन्हें पद्म श्री पुरस्कार मिला। वह सुधर्मा की संयुक्त संपादक हैं, जो संस्कृत के सबसे पुराने दैनिक समाचार पत्रों में से एक है।

26-मौमा दास

भारतीय टेबल टेनिस प्लेयर मौमा दास ने अपने बेहतरीन खेल के जरिए कई बार भारत का नाम रौशन किया है। टेबल टेनिस में उनके योगदान की वजह से उन्हें इस साल पद्मश्री सम्मान दिया गया है। 

27-छुटनी देवी

झारखंड की छुटनी देवी को उनके गांव वालों ने चुड़ैल बताकर निष्काषित कर दिया था। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और समाज की इस बुराई के खिलाफ लड़ाई की और 55 अन्य लोगों की मदद की। इसलिए इन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया। 

28 -दुलारी देवी

बिहार की दुलारी देवी ने मधुबनी पेंटिंग में दुनियाभर में नाम कमाया है। इन्हें इस क्षेत्र में योगदान के लिए पद्मश्री सम्मान मिला है। 

29-तुलसी गौड़ा 

तुलसी गौड़ा को पर्यावरण संरक्षण के लिए कई अवॉर्ड्स मिले हैं। इन्होंने अपनी पूरी जिंदगी पर्यावरण संरक्षण के लिए समर्पित कर दिया। इसके लिए इन्हें पद्म सम्‍मान से सम्‍मानित किया गया है।