जेनेटिक बीमारियों का कैसे पता लगाया जा सकता है? एक्‍सपर्ट से जानें

By Pooja Sinha12 Mar 2021, 17:04 IST

जेनेटिक काउंसलिंग एक इनफॉर्मेटिव डिस्कशन है। इसमें रोगियों और उनके परिवार के सदस्यों को परिवार में जेनेटिक बीमारियों के होने या पुनरावृत्ति के बारे में शिक्षित किया जाता है। प्रीनैटल जेनेटिक काउंसलिंग उन कपल्‍स के बीच काफी फेमस हो रहा है जो गर्भधारण के दौरान या गर्भधारण से पहले जेनेटिक बीमारियों की जांच करवाना चाहते हैं। जेनेटिक काउंसलर आपको स्थिति की गहराई, इससे जुड़े जोखिम और स्‍क्रीनिंग और टेस्‍ट के बारे में उपलब्‍ध विकल्‍पों की जानकारी देने में मदद करते हैं। गर्भधारण से पहले और प्रेग्‍नेंसी के दौरान जेनेटिक काउंसलिंग का क्‍या महत्‍व है? आइए इस वीडियो के माध्‍यम से एक्‍सपर्ट से विस्‍तार में जानते हैं।