1 या 2 नहीं इन 10 तरह के नमक का कर सकते हैं खाने में इस्तेमाल, जानें इनके फायदे और नुकसान

अगर आप हमेशा अपने खाने के लिए एक ही तरह का नमक इस्तेमाल करती हैं तो आपको फिर से सोच लेना चाहिए। ये 10 तरह के नमक सेहत भी बना सकते हैं और स्वाद भी। 
 types of salt

जहां तक खाना पकाने का सवाल है तो बिना नमक कभी काम नहीं हो सकता है। अगर खाने में नमक की मात्रा जरा सी भी कम ये ज्यादा हो जाए तो खाना खाने का मज़ा ही खराब हो जाता है। एक तरफ तो नमक खाने के लिए बहुत जरूरी होता है क्योंकि ये स्वाद के साथ-साथ आयोडीन की कमी को भी पूरा कर सकता है और दूसरी तरफ इसे ज्यादा खाने से बीपी की समस्या भी हो सकती है। हम अक्सर अपने खाने में एक ही तरह का नमक खाते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि अलग-अलग तरह का नमक इस्तेमाल कर न सिर्फ स्वाद बढ़ाया जा सकता है बल्कि अलग-अलग तरह के हेल्थ बेनेफिट्स भी लिए जा सकते हैं। 

आज हम आपको 10 तरह के नमक के बारे में जानकारी देंगे। इनके फायदे अलग-अलग रिसर्च के आधार पर लिखे गए हैं। इनमें से प्रमुख National Center for Biotechnology Information (ncbi) की रिसर्च है। 

 

1आयोडीन युक्त सादा नमक-

normal namak

रोजमर्रा के खाने में यही नमक इस्तेमाल किया जाता है। इसमें सोडियम और आयोडीन दोनों की ही मात्रा ज्यादा होती है और यही कारण है कि इसे बहुतायत में इस्तेमाल किया जाता है जो थायरॉइड ग्लांड्स के लिए अच्छा है। 

 

2काला नमक-

kala namak

सादे नमक के अलावा भारत में काला नमक भी बहुत प्रसिद्ध है। अगर किसी को अपच हो रही है या फिर एसिडिटी की समस्या है तो काला नमक खाना बेहतर होता है। ये पीरिड पेन में भी सहायक होता है। 

 

3सेंधा नमक-

sendha namak

सेंधा नमक को हिमालयन पिंक सॉल्ट भी कहा जाता है और व्रत में इस्तेमाल करने के साथ-साथ इस नमक में 84 तरह के मिनरल्स भी होते हैं जो सेहत के लिए अच्छे हैं। ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर लेवल को नॉर्मल रखने के लिए इस नमक को इस्तेमाल किया जा सकता है। 

 

4स्मोक्ड नमक-

smoked sea salt

अब आप सोच रहे होंगे कि ये कैसा नमक है तो मैं आपको बता दूं कि इस नमक को बनाने के लिए लकड़ी की आग का इस्तेमाल किया जाता है, इसलिए स्मोक्ड फ्लेवर आता है। इसका स्वास्थ्य को लेकर तो बहुत ज्यादा इस्तेमाल नहीं है, लेकिन ये मीट आदि का फ्लेवर बहुत बढ़ा देता है। 

 

5कोशर नमक-

kosher salt

ये नमक अनाज के दानों जैसा दिखता है। ये पूरी तरह से पिसा हुआ नहीं होता, लेकिन ये नॉर्मल नमक की तुलना में ज्यादा जल्दी घुल जाता है। इसे शेफ्स मीट और सब्जियों में फ्लेवर के लिए इस्तेमाल करते हैं। 

 

6अलाइया नमक-

himalayan red salt

इसे हवाइयन (हवाई स्टेट अमेरिका) रेड सॉल्ट के नाम से जाना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें वॉल्केनिक क्ले और आयरन ऑक्साइड की मात्रा होती है। शुरुआती दौर में हवाई के स्थानीय लोग इसे सफाई के लिए इस्तेमाल करते थे। ये काफी महंगा होता है और इसमें 80 तरह के मिनरल होते हैं। जिसे आयरन की कमी हो उसके लिए ये नमक काफी अच्छा साबित हो सकता है। 

 

7समुद्री नमक-

dead sea salt

जैसा कि नाम बता रहा है इसे समुद्र के पानी को वाष्पीकृत कर बनाया जाता है। इस नमक में भी आयोडीन की मात्रा ज्यादा होती है, हालांकि ये बहुत ज्यादा फिल्टर नहीं होता। ब्यूटी ट्रीटमेंट्स के लिए ये बहुत इस्तेमाल किया जाता है। इससे स्क्रब बहुत अच्छे बनते हैं। हालांकि, खाना बनाते समय मैरिनेशन के लिए भी ये इस्तेमाल होता है। 

 

8सेल्टिक (Celtic) ग्रे सी सॉल्ट

french grey salt

इसे इसका नाम इसके रंग की वजह से मिला है। ये आम तौर पर फ्रांस से इम्पोर्ट किया जाता है और इसका रंग ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इसमें बहुत सारे मिनरल्स मिले होते हैं। इसे सीफूड में इस्तेमाल किया जाता है और सब्जियों में भी इसका फ्लेवर अच्छा आता है। 

 

9फ्लेउर डे सेल (Fleur De Sel)

fluer de sel salt

ये भी एक फ्रेंच नमक है जो खास तौर पर ब्रिटनी (Brittany) नामक क्षेत्र से आता है। अन्य नमक के मुकाबले इस नमक में मॉइश्चर ज्यादा होता है और इस कारण इसका फ्लेवर ज्यादा देर तक जबान पर रहता है। इसे कई फ्रेंच शेफ अपने बनाए हुए खाने में इस्तेमाल करते हैं। 

 

10अजमोद का नमक

ajmod salt

अजमोद के बीज और नमक को एक साथ पीसकर इसे बनाया जाता है। इस तरह के नमक का स्वाद तो अच्छा होता है और कई मामलों में ये हाजमें के लिए भी दुरुस्त होता है, लेकिन इसमें आयोडीन की मात्रा काफी कम होती है। 

अब आप तरह-तरह के नमक के बारे में जान गई हैं और अपनी जरूरत के हिसाब से आप अपने खाने के लिए सही तरह के नमक का चुनाव कर सकती हैं। अगर ये स्टोरी आपको अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। 

 
Loading...
Loading...