कपड़ों से जुड़े वास्तु टिप्स जानें


Smriti Kiran
www.herzindagi.com

    वास्तु शास्त्र के अनुसार जीवन में सुख-शांति न समृद्धि बनाए रखने के लिए कई उपाय बताए गए हैं। कपड़ों को भी वास्तु से जोड़ा गया है।

    हमारे रहन-सहन व पहनावे भी वास्तु दोष का कारण बनते हैं। आइए जानें कपड़ों से जुड़े कुछ वास्तु टिप्स-

कब खरीदें नए कपड़े

    ऑनलाइन शॉपिंग में आजकल कोई नहीं सोचता है कि कब कपड़ा खरीदना शुभ होता है और कब नहीं। जब जो अच्छा लगता है लोग खरीद लेते हैं।

नए कपड़े खरीदें

    वास्तु के अनुसार कभी भी कपड़े का शॉपिंग करना सही नहीं होता है। जैसे कि शुक्रवार का दिन कपड़ा खरीदना शुभ होता है, वहीं शनीवार को अशुभ।

नए कपड़े न पहनें

    शनिवार को न हीं नए कपड़े खरीदने चाहिए और न ही नए कपड़े पहनने चाहिए। ऐसा करने से आर्थिक क्षति का सामना करना पड़ सकता है।

फटे और जले हुए कपड़े न पहनें

    कपड़े का जलना और फटना दोनों ही वास्‍तु के हिसाब से अशुभ माना गया है। कपड़ा नया हो या पुराना जलने और फटने पर उसे फेंक दें या फिर अच्‍छी तरह से रफू करा लें।

काले रंग के कपड़े

    हिंदु धर्म के अनुसार काले रंग के कपड़े पहनकर कभी भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए जैसे पूजा- अनुष्ठान आदि, लेकिन शनिवार को इस रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है।

सफेद रंग के कपड़े

    अगर आपका मन अशांत रहता है तो आपको सफेद रंग के कपड़े ज्‍यादा पहनने चाहिए। सफेद रंग के कपड़ों का संबंध शुक्र ग्रह से होता है और यह वास्‍तु शास्‍त्र में बहुत ही शुभ माना गया है।

पीले रंग के कपड़े

    पीले रंग के कपड़ों को गुरू ग्रह से जोड़ कर देखा जाता है। वहीं अगर आप किसी भी काम को कर पाने में जल्‍दी सफल नहीं हो पाते हैं तो आपके लिए पीले रंग के कपड़े शुभ साबित होंगे।

लाल रंग के कपड़े

    अगर आपके अंदर आत्मविश्वास की कमी है तो लाल रंग के कपड़े का यूज ज्यादा करें। वास्तु के अनुसार इस रंग के कपड़े पहनने से व्यक्ति उत्साही, ऊर्जावान तथा प्रबल इच्छाशक्ति वाला बनता है।

पुराने कपड़ों का क्‍या करें

    वास्तु के हिसाब से घर में पड़े पुराने कपड़े बिल्कुल गलत माने गए हैं। पुराने कपड़ों को घर की साफ-सफाई में यूज करें, दान दें या फिर फेंक दें, लेकिन घर में न रखें।

साफ कपड़े पहनें

    वास्‍तु के हिसाब से साफ कपड़े ही पहनें। कई लोगों की आदत होती है कि वह एक ही कपड़े को बिना धोए 2 से 3 बार पहनते हैं, जो धनहानि का कारण बन सकता है।

सलाह

    यह लेख सामान्य जानकारी पर आधारित है। किसी भी तरह की विशेष जानकारी के लिए वास्तु एक्सपर्ट की सलाह लें।

    स्टोरी अच्छी लगी हो तो शेयर करें। साथ ही ऐसी अन्य स्टोरी जानने के लिए क्लिक करें herzindagi.com