घर की सुख समृद्धि के लिए भगवान शिव को भूलकर भी न चढ़ाएं ये 10 चीज़ें

यदि आप शिव जी को प्रसन्न करने के लिए उनका पूजन करते हैं तो पूजा के दौरान यहां बताई गई चीज़ों का इस्तेमाल न करें।
never offer these things tpo shiva

हिंदू धर्म के अनुसार भगवान शिव का पूजन विशेष रूप से फलदायी माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि जो भी भक्त पूरे श्रद्धा भाव से और पूरी निष्ठा से शिव पूजन करता है उसे अवश्य ही शुभ फलों की प्राप्ति होती है और सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है। लेकिन शिव पूजन के लिए कुछ नियमों का पालन करना जरूरी बताया गया है और यह भी मान्यता है कि जो भी व्यक्ति शिव पूजन के दौरान इन नियमों का पालन नहीं करता है उसे शिव कृपा नहीं मिलती है और जीवन में दुखों का आगमन भी होता है।

उन्हीं नियमों में से कुछ नियम हैं शिव पूजन के दौरान कुछ चीज़ों का उपयोग न करना। जी हां, घर की सुख समृद्धि के लिए शिव पूजन के दौरान यहां बताई गयी चीज़ों का इस्तेमाल भूलकर भी नहीं करना चाहिए। आइए नई दिल्ली के जाने माने पंडित, एस्ट्रोलॉजी, कर्मकांड,पितृदोष और वास्तु विशेषज्ञ प्रशांत मिश्रा जी से जानें कौन सी हैं वो चीज़ें।

1तुलसी दल

tulsi dal lord shiva

भगवान शिव की पूजा के दौरान तुलसी की पत्तियों का सेवन वर्जित माना जाता है क्योंकि तुलसी को भगवान विष्णु की पत्नी के रूप में पूजा जाता है और उनकी विष्णु जी के साथ पूजा की जाती है। इसलिए मान्यता है कि विष्णु प्रिया तुलसी को शिव जी को अर्पित करना पाप स्वरूप माना जाता है क्योंकि शिव जी उनके ज्येष्ठ के समान हैं और तुलसी जी ने अपनी तपस्या से भगवान श्रीहरि को पति रूप में प्राप्त किया था।

2शंख का इस्तेमाल

shankh use lord shiva

शिव पूजन के दौरान शंख को शामिल नहीं करना चाहिए। कुछ लोग शंख से जलाभिषेक करते हैं लेकिन ऐसा करना वर्जित है क्योंकि पौराणिक कथाओं के अनुसार  शिव जी ने शंखचूर्ण नाम के एक राक्षस का वध किया था। इसलिए उसका वध करने की वजह से शिव पूजन में शंख का इस्तेमाल भी नहीं किया जाता है और उस राक्षस की पत्नी का नाम भी तुलसी था इसलिए एक और कथा के अनुसार शिव पूजन में तुलसी दल को रखना भी उपयुक्त नहीं बताया जाता है।

 

3सिंदूर या कुमकुम

sindoor use for shiv pujan

आमतौर पर ईश्वर की पूजा के दौरान लाल सिन्दूर या कुमकुम चढ़ाना शुभ माना जाता है। लेकिन जब भी शिव पूजन की बात आती है तब पूजा में सिंदूर या कुमकुम की जगह चन्दन का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसी मान्यता है कि शिव जी वैरागी हैं और उन्हें लाल सिंदूर चढ़ाना उनका अपमान करने के समान है।

4तिल का इस्तेमाल

til use lord shiva

ऐसी मान्यता है कि तिल भगवान विष्णु के मैल से उत्पन्न हुआ है, इसलिए भगवान विष्णु को तिल अर्पित किया जाता है लेकिन शिव जी को इसे भूलकर भी नहीं चढ़ाना चाहिए। ऐसा करने से शिव कृपा की प्राप्ति नहीं होती है।

5केतकी का फूल

ketki flower lord shiva

मान्यतानुसार शिव जी के पूजन में सफ़ेद फूलों को चढ़ाना शुभ माना जाता है लेकिन भूलकर भी शिव पूजन में केतकी के फूलों का इस्तेमाल न करें। ऐसा करने से शिव जी की भक्ति का फल प्राप्त नहीं होता है क्योंकि एक पौराणिक कथा के अनुसार केतकी के फूल को शिव पूजन के लिए श्रापित माना गया था।

6कटे-फटे हुए बेल पत्र

bel patra

वैसे तो मान्यता है कि बेल पात्र शिव जी को मुख्य रूप से प्रिय है और इसे पूजा में चढ़ाने से शिव जी की भक्ति का फल प्राप्त होता है। लेकिन कभी भी शिव जी को कटे -फटे बेल पत्र नहीं चढाने चाहिए। इसके अलावा बेल पत्र हमेशा तीन पत्तियों वाले ही चढ़ाने चाहिए।

7नारियल पानी

nariyal pani use

शिव जी को हमेशा जल की धारा पसंद आती है लेकिन शिव जी को कभी भी नारियल पानी नहीं चढ़ाना चाहिए। नारियल पानी चढ़ाने से भक्ति का उल्टा फल मिल सकता है।

8हल्दी का इस्तेमाल

turmeric use

शिव पूजन में हल्दी का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए। मान्यता है की हल्दी शुभ कामों में इस्तेमाल में लाई जाती है जबकि शिव जी श्मशान में निवास करते हैं। इसलिए उनके पूजन में हल्दी का इस्तेमाल वर्जित होता है।

 

9खंडित चावल

rice in lord shiva puja

वैसे तो किसी भी पूजा के दौरान टूटे हुए चावल इस्तेमाल नहीं किये जाते हैं लेकिन ख़ासतौर पर शिव पूजन के दौरान टूटे हुए चावलों का इस्तेमाल न करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो शिव जी की पूजा का फल प्राप्त नहीं होगा।

10लाल फूलों का इस्तेमाल

red flower shiv pujan

शिव पूजन में लाल रंग की किसी भी सामग्री का इस्तेमाल वर्जित होता है लेकिन मुख्य रूप से लाल फूल जैसे गुड़हल के फूल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से शिव जी प्रसन्न होने के बजाय नाराज हो सकते हैं।

यदि आप शिव पूजन का पूरी तरह से फल प्राप्त करना चाहते हैं तो पूजन के दौरान यहां बताई चीज़ों का इस्तेमाल न करें।