नए साल पर HerZindagi ने लोगों को दिलाएं हैं ये resolution, निभाएंगें या नहीं आइए जानते हैं

By Saudamini Pandey31 Dec 2018, 14:39 IST

नए साल अपने साथ लाता है ढेर सारी खुशियां। नया साल लाइफ के एक नए चैप्टर की शुरुआत करता है। इस मौके पर ज्यादातर पुरुष और महिलाएं अपनी लाइफ को बेहतर बनाने के लिए कुछ रिजोल्यूशन लेते हैं। महिलाएं इस तरह के कुछ कॉमन रिजोल्यूशन लेती हैं, अब मैं अपने काम टाइम से करूंगी, इस साल 10 किलो वजन घटाऊंगी, हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाऊंगी, सुबह एक्सरसाइज करूंगी, पति से झगड़ा नहीं करूंगी, अच्छी कंपनी में जॉब करूंगी, वगैरह-वगैरह। इसी तरह पुरुष रिजोल्यूशन लेते है कि मैं इस साल दोगुना कमाऊंगा, नया घर लूंगा, नई गाड़ी लूंगा, लग्जरी हॉलीडे पर जाऊंगा।

नए साल के ये रिजोल्यूशन भी बस लेने के लिए लिए जाते हैं और कुछ वक्त बाद ही टूट जाते हैं। जरूरत है कुछ ऐसे रिजोल्यूशन लेने की, जिनके लिए हम डेडीकेटेड रहें और जिनसे हम अपनी रिलेशनशिप्स को बेहतर बना पाएं, अपनी सोसाइटी के लिए कुछ योगदान दें। HerZindagi ने इस बार पुरुष और महिलाओं को ऐसे ही कुछ नई तरह के रिजोल्यूशन लेने के लिए इंस्पायर किया, जो उन्हें एक बेहतर इंसान बनाएं। HerZindagi की तरफ से प्रभजोत कौर ने पुरुष और महिलाओं को न्यू इयर रिजोल्यूशन की चिट्स उठाने के लिए कहा। 

Watch more : इस तरह बनाएं टेस्टी Rum and Raisin Cake

ये रिजोल्यूशन्स हैं स्पेशल

इन रिजोल्यूशन्स ने महिलाओं और पुरुषों को सोचने का एक अलग नजरिया दिया। मसलन महिलाओं ने इस तरह के रिजोल्यूशन लिए - मैं अपनी सास की बुराई नहीं करूंगी, मैं अपने हसबैंड पर ट्रस्ट करूंगी, मैं दूसरे की बेइज्जती नहीं करूंगी, फनी चैट स्क्रीन शॉट्स दोस्तों के साथ शेयर नहीं करूंगी, मैं किसी लड़की को उसके आउटफिट पर जज नहीं करूंगी, मैं गॉसिप नहीं करूंगी, मैं पेरेंट्स से झूठ नहीं बोलूंगी, मैं गंदगी नहीं फैलाऊंगी, मैं अपने हसबैंड का फोन चेक नहीं करूंगी। 

इसी तरह पुरुषों के लिए रिजोल्यूशन थे - मैं अपनी पार्टनर को ट्रस्ट करूंगा, गाली नहीं दूंगा, किसी भी औरत को बुरी नजर से नहीं देखूंगा, अपने कपड़े दो दिन तक रिपीट नहीं करूंगा, अपने पार्टनर के साथ घर के कामों में हाथ बटाऊंगा, ऑफिस से छुट्टी लेने के लिए मैं बेवकूफी भरे एक्सक्यूज नहीं दूंगा। 

Watch more : एसिड अटैक पीड़ितों के साहस की कहानी, ये हैं शीरोज़ की हीरोज़

इन रिजोल्यूशन से लाइफ होगी हैप्पी

हमारी आदतें ही हमें बनाती या बिगाड़ती हैं। अगर हम अपनी आदतों को सुधार लें तो एक इंसान के तौर पर भी हम बेहतर होंगे और सोसाइटी के लिए भी कुछ अच्छा कर पाएंगे। इसीलिए इन रिजोल्यूशन्स के साथ हम एक नई शुरुआत कर सकते हैं और नए साल को खुशगवार बना सकते हैं।