• Ankita Bangwal
  • Editorial27 May 2021, 11:50 IST

कौसानी जाएं तो इन 10 जगहों को एक्सप्लोर करना न भूलें

उत्तराखंड राज्य में ऐसे कई छोटे-छोटे गांव और हिल स्टेशन हैं, जो अपनी खूबसूरती के लिए जाने जाते हैं। ऐसे ही एक हिल स्टेशन कौसानी के बारे में जानें इस आ...
  • Ankita Bangwal
  • Editorial27 May 2021, 11:50 IST
kausani valley main

उत्तराखंड के बागेश्वर जिले में एक प्यारा सा हिल स्टेशन है कौसानी, जो अपनी खासियत के लिए जाना जाता है। यह त्रिशूल, नंदा देवा और पंचकुली जैसी हिमालय की चोटियों के शानदार और मनोरम दृश्य के लिए प्रसिद्ध है। यह जगह चीड़ के घने पेड़ों से घिरी एक पहाड़ी की चोटी पर है। यहां से बैजनाथ कत्यूरी, सोमेश्वर और गरुड़ की सुंदर घाटियों का अद्भुत नजारा देखने को मिलता है। सुंदर और मनोहर पहाड़ियों के अलावा यह मंदिरों, आश्रम और चाय के बागानों के लिए जाना जाता है। तो अगर कभी आपका प्लान कौसानी जानें का बनें तो आप यहां कहां-कहां घूमने जा सकते हैं, इसके बारे में जानिए इस आर्टिकल में।

 

1कौसानी टी एस्टेट

kausani tea estate

कौसानी का यह चाय बागान 200 हेक्टेयर में फैला है। आप इसकी सैर कर सकती हैं और दुकानों से ऑथेंटिक कौसानी चाय खरीद सकती हैं। कौसानी में कई फलों के बाग भी हैं जहां खुबानी और नाशपाती की खेती की जाती है। आप चाहें तो सड़क किनारे लगे स्टॉल से स्थानीय लोगों द्वारा तैयार किए गए ताजे फलों का जैम, जेली और अचार खरीद सकती हैं।

2अनासक्ति आश्रम

anasakti ashram

साल 1929 में गांधी जी कौसानी ठहरे थे और इस गांव की सुंदरता से प्रभावित होकर उन्होंने इसे 'भारत का स्विट्जरलैंड' कहा था। माना जाता है कि इस जगह ने उन्हे 'अनाशक्ति योग' लिखने के लिए प्रेरित किया। तभी से अनासक्ति आश्रम लोगों के आकर्षण केंद्र है। इस आश्रम में एक छोटा प्रेयर रूम है, एक संग्रहालय, एक लाइब्रेरी और रहने के लिए कुछ कमरे हैं।

 

3सुमित्रानंदन पंत आश्रम

sumitranandan pant gallery

आधुनिक भारत के सबसे प्रसिद्ध कवियों में से एक सुमित्रानंदन पंत का जन्म कौसानी में ही हुआ था। उनकी याद में कौसानी स्थित उनके पुश्तैनी घर को सरकारी संग्रहालय में तब्दील कर दिया गया है। संग्रहालय में उनकी कविताओं की मैनुस्क्रिप्ट्स, उनके साहित्यिक कार्यों के ड्राफ्ट कॉपी, उनके दैनिक उपयोग की वस्तुओं, उनके पत्रों, तस्वीरों और पुरस्कारों को रखा गया है।

4शॉल फैक्टरी

shawl factory in kausani

पारंपरिक कुमाऊंनी कलाकृति को बढ़ावा देने और स्थानीय लोगों के लिए रोजगार का स्रोत प्रदान करने के लिए, 2002 में कौसानी शॉल फैक्ट्री शुरू की गई थी। तब से, कौसानी शॉल पर्यटकों के लिए एक तरह की आकर्षण का केंद्र बनी है। स्थानीय बुनकरों के डिजाइन किए गए, कई रंगों और अलग-अलग सुंदर डिजाइन में आपको यहां मिलेंगे।

5सोमेश्वर वैली

someshwar valley

सोमेश्वर घाटी कौसानी से सिर्फ 10 किमी दूर है और यह दो नदियों कोसी और साईं के तट पर एक हिडन जेम है। यह घाटी सीढ़ीदार चावल के खेतों और देवदार से ढके पहाड़ों के लुभावने दृश्य दिखाती है। आप यहां लॉन्लोग वॉक्दस, कैंपिंग और साइकलिंग का आनंद ले सकती हैं। इसके साथ ही यहां सोमेश्वर मंदर भी बहुत लोकप्रिय है।

6बैजनाथ

kausani baijnath

बैजनाथ कुमाऊं में 'शिव हेरिटेज सर्किट' से जुड़े चार स्थानों में से एक है। हरे-भरे जंगलों और फलों के बागों से घिरा, पक्षियों, तितलियों और फूलों की दुर्लभ प्रजातियों को देखने के लिए बैजनाथ जा सकती हैं। यहां बैजनाथ मंदिर भी है जो 12वीं शताब्दी का भगवान शिव मंदिर है, और इस शहर का सबसे लोकप्रिय आकर्षण है।

7रानीखेत

ranikhet golfcourse

रानीखेत सदियों पुरानी शाही और औपनिवेशिक विरासत को समेटे हुए है । यहां सैन्य अस्पताल, कुमाऊं रेजिमेंट (केआरसी) और नागा रेजिमेंट है, जिसकी देखभाल भारतीय सेना करती है। इसके अलावा यहां 9-hole गोल्फ कोर्स है, जो एशिया का Highest गोल्फ कोर्स है।

8रूद्राधारी फॉल

rudradhari fall

कसौनी में रुद्रधारी फॉल और गुफाएं सीढ़ीदार खेतों, हरे-भरे धान के खेतों और घने हरे देवदार के जंगलों पर स्थित है। कसौनी के हिल स्टेशन में आदि कैलाश एरिय की ट्रेकिंग के दौरान इस शानदार झरने को देखा जा सकता है। 

9लक्ष्मी आश्रम

lakshmi ashram

1964 में महात्मा गांधी की एक स्टूडेंट कैथरीन हिलमैन ने इसे बनाया था। यह आश्रम कौसानी में स्थानीय महिलाओं के लिए समर्पित प्रसिद्ध स्थानों में से एक है। आश्रम में, महिलाओं को खाना पकाने, सिलाई करने, सब्जियां उगाने और जानवरों की देखभाल करने जैसे कई सामुदायिक कौशलों की शिक्षा दी जाती है।

 

10स्टारगेट observatory

stargate observatory

स्टारगेट observatory कौसानी में खगोलीय पिंडों की एक प्राइवेट observatory है। यह एस्ट्रोफोटोग्राफी के लिए एक रोमांचक जगह है और यहां पर स्कूलों, शौकिया खगोलविदों, फोटोग्राफरों के लिए वर्काशॉप का आयोजन होता है। इसके अलावा भी यहां कई सारी एक्टिविटीज होती हैं।

ऐसे ही अन्य रोचक जगहों के बारे में जानने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit : @euttaranchal & @uttarakhandtourism