Women’s day 2019: मदरहुड पर एकता को मिली कैसी-कैसी एडवाइस, देखें वीडियो

By Anuradha Gupta04 Mar 2019, 14:17 IST

टीवी सीरियल क्‍वीन एकता कपूर हालही में मम्‍मी बनी हैं। उन्‍होंने सेरोगेसी से मां बनने का फैसला लिया था और 27 जनवरी 2019 को उनके घर में बेबी बॉय की किलकारियां गूंजी थीं। एकता कपूर ने अपने बेटे के नाम रवि कपूर रखा है। हालही में टीम हरजिंदगी से हुई मुलाकत में एकता ने मदरहुड पर काफी कुछ कहा। 

मां बनक कैसा लग रहा है? 

इस सवाल पर एकता ने मुस्‍कुराते हुए कहा कि मां बनना बहुत ही खुशी का एहसास कराता है और मैं मां बन कर बहुत खुश हूं। बहुत सारे कमिटमेंट्स करने होते हैं और मैं अपने बेबी के लिए वो सारे कमिटमेंट्स करने के लिए तैयार हूं। 

मदर्स के लिए बेस्‍ट एडवाइस 

इस सवाल पर एकता ने कहा कि हर मां एक जैसी नहीं होती और किसी भी मां की ममता को आंका नहीं जा सकता । मां बच्‍चे से लाड़ करती हैं तो बच्‍चे पर गुस्‍सा भी करती हैं उसे इरीटेशन भी होता है तो कभी ऐसा भी लगता है कि हर चीज कितनी खूबसूरत है। कोई मां जैसा आज फील कर रही है हो सकता है कि 2 साल बाद कुछ और ही फील करे। इन सब के बावजूद यह जर्नी बहुत ही सुंदर होती है। 

मां बनने के बाद सबसे खराब एडवाइस 

मां बनने के बाद एकता को सबसे खराब एडवाइस क्‍या मिली इस सवाल पर उनका जवाब था, ‘मां बनने के बाद कुछ लोगो ने कहा कि अब तो मां बन गई हो। अब जिंदगी बदल जाएगी। सब कुछ उतना आसान नहीं होगा। उनकी बातों से मुझे लगा कि ऐसा क्‍या होने वाला है।’

इस दौरान सबसे ज्‍यादा मोटिवेशनल कौन था

एकता ने कहा, ‘मेरे मॉम डैड मेरे लिए सबसे ज्‍यादा मोटिवेशनल रहे। मेरी मां तो मेरी लिए मां से भी बढ़ कर हैं। वह केवल मुझे लाड़ प्‍यार ही नहीं देतीं। बल्कि मेरे अच्‍छे औश्र बुरे को भी मेरे सामने रखती हैं। मेरे डैड पंजाबी डैड हैं। वह हमेशा चाहते हैं मेरी लाइफ में कोई रोलरकोस्‍टर न हो। मैं चीखती चिल्‍लाती हूं तो वह कहते हैं। आराम से काम किया करो। मगर, अब मुझे मेरे माता पिता ने ऐसा ही पैदा किया है। मै आइटम बॉम हूं। मगर, मेरी मां मुझे हमेशा सपोर्ट करती हैं।’

वुमेंस डे का संदेश 

एकता ने कहा, ‘महिलाओं को ऑसम नहीं फ्लॉसम होना चाहिए। जो महिला अपने फ्लॅाज को ऑसम तरीके से शो कर सके। वही आज के दौर की महिला है। वुमन इम्‍पावरमेंट का मतलब यह नहीं होता कि आप पुरुषों के कंधे से कंधा मिला कर चलने लगें। बल्कि हम महिला को कुछ अलग हट कर करना चाहिए।’