ये हैं भारत के सबसे ऊंचे पहाड़


Bhagya shri singh
www.herzindagi.com

    पहाड़ों पर घूमना किसी जन्नत की सैर से कम नहीं होता। जानें भारत के सबसे ऊंचे पहाड़ों के बारे में।

कंचनजंघा पहाड़

    यह भारत की सबसे ऊंची पर्वत चोटी और विश्व का तीसरा सबसे ऊंचा पहाड़ है। इसकी ऊंचाई 8,586 मीटर है। यह सिक्किम राज्य में है।

नंदा देवी

    नंदा देवी पर्वत भारत की दूसरी एवं विश्व की 23वीं सर्वोच्च चोटी है। यह भी भारत और नेपाल की सीमा पर मौजूद है।

कैमेट पर्वत

    कैमेट पर्वत, भारत के उत्तराखण्ड राज्य के गढ़वाल क्षेत्र में स्थित है। यह भारत की तीसरी सबसे ऊंची चोटी है और कई चोटियों से घिरी हुई है।

साल्तोरो कांगरी

    साल्तोरो कांगरी काराकोरम पर्वत श्रेणी की साल्तोरो पर्वतमाला नामक उपश्रेणी का सबसे ऊंचा पहाड़ और विश्व का 31वांसर्वोच्च पर्वत है। यह सियाचिन ग्लेशियर से पश्चिम में स्थित है।

सेजर कांगरी

    सेजर कांगरी पहाड़ भारत की पांचवी सबसे ऊंची चोटी है। यह जम्मू कश्मीर की काराकोरम रेंज के दक्षिण-पूर्वी भाग में स्थित है। यह पीक ट्रेकिंग के लिए फेमस है।

ममस्तोंग कांगड़ी

    ममस्तोंग कांगड़ी पर्वत भारत की छठी सबसे ऊंची चोटी है और विश्व की 48वीं सबसे ऊंची सबसे चोटी है। यह चोटी भी काराकोरम रेंज में स्थित है।

रिमो कारगिल चोटी

    रिमो कारगिल चोटी भारत की सातवीं सबसे ऊंची चोटी है। यह पहाड़ काराकोरम पर्वत श्रंखला का एक अहम भाग है।

हरदोल चोटी

    हरदोल पहाड़ भारत की आठवीं सबसे ऊंची चोटी है। यह पिथौरागढ़ जिले की मिलम घाटी के उत्तरी छोर पर मौजूद है।

चौखंबा पहाड़

    भारत की नौवीं सबसे ऊंची चोटी चौखंबा पीक है। यह गंगोत्री समूह की प्रमुख चोटी है। यह उत्तराखंड के गढ़वाल में मौजूद है।

अनाइमुडी

    इस चोटी की ऊंचाई 2,695 मी है। अनाइमुडी भारत के पश्चिमी घाट की पर्वतमाला का एक पर्वत है। यह नीलगिरी पर्वत श्रंखला में ही अन्नामलाई पर्वत श्रंखला भी स्थित है।

त्रिशूल पर्वत

    इस चोटी की ऊंचाई 7,120 मी है। त्रिशूल हिमालय की तीन चोटियों के समूह का नाम है, जो पश्चिमी कुमाऊं में स्थित हैं।

जोंगसॉन्ग पीक

    इस चोटी की ऊंचाई 7,462 मी है। यह पहाड़ भारत, नेपाल और तिब्बत की सीमा पर मौजूद है। विश्व का 57वां सर्वोच्च पर्वत भी है।

    स्टोरी अच्छी लगी तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। ऐसी अन्य स्टोरीज के लिए क्लिक करें