Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    जन्‍मदिन पर कैसे शुरू हुई मोमबत्ती बुझाने की परंपरा

    जन्मदिन पर हम सभी मोमबत्ती बुझाते है क्या आप इसका कारण जानती हैं, आज हम आपको इससे जुड़ी कुछ खास बातें बताने वाले हैं।
    author-profile
    Updated at - 2022-12-22,15:27 IST
    Next
    Article
    Why do we cut cake and blow candles

    आज कल हम सभी अपना जन्मदिन काफी खास तरीके से मनाते हैं। पहले केवल बच्चे का जन्मदिन ही मनाया जाता था। वहीं अब की बात करें तो अब बच्चे से लेकर बड़े बूढ़े तक सभी अपना जन्मदिन काफी खास तरीके से मनाते हैं। ऐसे में क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर क्यों जन्मदिन पर हम मोमबत्ती बुझाते हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको इसके बारें में विस्तार से बताने वाले हैं।

    आज भले हम जन्मदिन वाले दिन बर्थडे केक काटते है वहीं हम केक पर लगी मोमबत्तियां भी बुझाते हैं। अगर बात पहले कि करें तो पहले के जमाने के लोग मोमबत्तियां बुझाने को सही नही मानते हैं। आज भी कई बुजुर्ग मोमबत्तियां नहीं बुझाते हैं। चलिए जानते हैं इसके पीछे का कारण।

    कैसे शुरू हुई यह परंपरा

    why do we blow out candles on birthday

    बता दे कि प्राचीन सभ्यता वाले देश ग्रीस यानी यूनान से मोमबत्ती को बुझाने की परंपरा शुरू हुई थीं। सदियों पहले यहां के लोग केक पर जलती हुई मोमबत्ती को लेकर अपने पूजा स्थल पर जाते थे। वहां जाने के बाद ही यहां के लोग केक कट करते थे उससे पहले यह मोमबत्ती को बुझाते भी थे। यहां के लोगों का मानना था कि मोमबत्तियों से निकालने वाली धुआं भगवान तक जाती हैं। ऐसे में यहां के लोगों ने ही इस रिवाज को शुरू किया था।

    इसे भी पढ़ें- बर्थडे पर कर रहे हैं घूमने की प्लानिंग? तो इन जगहों पर जाना ना भूलें

    केक को काटते वक्त मांगते हैं विश

    आज भी लोग जब भी केक को कट करते हैं तो सबसे पहले अपनी आंख बंद करके कोई एक विश मागते है। उसके बाद ही वह केक को कट करते हैं। बता दें कि 1746 में केक पर मोमबत्ती लगाने की परंपरा शुरू हुई थीं। इस दिन यहां किसी महान समाज के सुधारक का जन्मदिन था। इस दिन से ही यहां केक काटने से पहले मोमबत्ती बुझाना शुरू हुआ था। वहीं अब भी इस परंपरा को माना जाता है। भारत देश की बात करें तो भारत में लोग मोमबत्ती को जलाना शुभ मानते हैं। वहीं अगर बुझाने की बात करें तो भारत में मोमबत्ती को खुद से जलाकर स्वयं ही बुझा देना अशुभ माना गया है।

    इसे भी पढ़ें- अपनी नन्ही बिटिया रानी के लिए ऐसे करें घर पर बर्थडे पार्टी

    भारतीय दिया बुझाने को मागते हैं अशुभ

    भारत देश के लोग मोमबत्ती से ज्यादा दिया के बुझाने को अशुभ मानते हैं। ऐसे में भारत के लोग केक पर लगे कैंडल  भारतीयों ने केक पर लगी मोमबत्ती को बुझाना शुरू कर दिया था। आज भी हम जब भी केक कट करते हैं तो पहले अपनी विश मांगते हैं और उसके साथ ही केक पर लगे कैंडल को कट करते हैं। 

    अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। इस आर्टिकल के बारे में अपनी राय आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं

     

    Image Credit: Freepik 

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।