• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile
  • Shilpa
  • Editorial

क्यों किसी भी शुभ कार्य से पहले फोड़ा जाता है नारियल? जानें महत्व

हिंदू धर्म में नारियल को बेहद शुभ माना जाता है। पुराणों के अनुसार नारियल को मां लक्ष्मी का स्वरूप माना गया है।   
Published -22 May 2022, 15:00 ISTUpdated -21 May 2022, 19:56 IST
author-profile
  • Shilpa
  • Editorial
  • Published -22 May 2022, 15:00 ISTUpdated -21 May 2022, 19:56 IST
Next
Article
Why Coconut Is Breaking On Every Auspicious Occasions In Hindi m

पूजा हो या हवन किसी भी मांगलिक कार्य में नारियल का महत्व बहुत ज्यादा होता है। बिना नारियल के पूजा अधूरी मानी जाती है। हिंदू धर्म में किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत नारियल फोड़कर की जाती है। लगभग हर मांगलिक कार्यों में नारियल का उपयोग किया जाता है। आखिर हर अच्छे काम से पहले नारियल फोड़ने के पीछे क्या कारण है? नारियल को मंगलकारी फल क्यों माना जाता है? अगर आपके मन में भी यही सवाल है तो आज हम इस लेख के माध्यम से आपके सभी सवालों का जवाब देंगे।

इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए हमने जाने माने पंडित, एस्ट्रोलॉजी, कर्मकांड,पितृदोष और वास्तु विशेषज्ञ प्रशांत मिश्रा जी से बातचीत की उन्होंने बताया कि इस फल को लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के लिए फोड़ा जाता है। इसके अलावा कई धार्मिक कारण है। आइए जानते हैं पौराणिक महत्व

मां लक्ष्मी का वास

Breaking coconut on Amavasya ()

मान्यता है कि भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी जब पृथ्वी  पर अवतरित हुए थे तो वह अपने साथ नारियल का पेड़ लाए थे। कहा जाता है कि इसमें ब्रह्मा, विष्णु और महेश वास करते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नारियल को माता लक्ष्मी का का स्वरूप माना जाता है। इसे श्रीफल भी कहा जाता है। कहते हैं कि जिस घर में नारियल होता है वहां मां लक्ष्मी का वास होता है। (मां लक्ष्मी को कैसे करें प्रसन्न)

क्यों फोड़ा जाता है नारियल

नारियल तोड़ने का एक अर्थ भगवान को प्रसन्न करना भी है। ऐसा माना जाता है कि नारियल व्यक्ति के बाहरी और आंतरिक मन को दिखाता है। ऐसे में जब नारियल फोड़ा जाता है जिसका मतलब होता है कि व्यक्ति का अहंकार खत्म कर, खुद को भगवान के चरणों में समर्पित करना। (पूजा करने का सही तरीका)

बलि के रूप में फोड़ा जाता है नारियल

Breaking coconut on Amavasya ()

किसी भी शुभ कार्य से पहले नारियल फोड़ने की परंपरा पशु बलि की प्रथा को रोकने के लिए भी की गई थी। कहते हैं कि नारियल का जल घर में छिड़कने से घर की सारी नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाती है। (आरती करने का सही तरीका)

इसे जरूर पढ़ेंः Lord Hanuman Puja : हनुमान जी की पूजा करते वक्‍त महिलाएं रखें इन 4 बातों का ध्‍यान

पवित्र फल

हवन, यज्ञ और पूजा बिना नारियल के अधूरी मानी जाती है। नारियल सबसे पवित्र फल माना जाता है इसी वजह से इसे सभी देवी देवताओं को अर्पित किया जाता है। यह फल धन और सुख-समृद्धि का सूचक माना जाता है।

इसे जरूर पढ़ेंः पूजा पाठ के दौरान इन 8 जरूरी बातों का रखें ध्‍यान

Recommended Video


भगवान शिव का प्रतीक

Breaking coconut on Amavasya

नारियल के तीन बिंदु भगवान शिव का प्रतीक माना जाता है। मान्यताओं के अनुसार नारियल के तीन बिंदुओं को भगवान के शिव के त्रिनेत्रों से जोड़ा गया है। घर नारियल रखने से बरकत और सुख-समृद्धि आती है। 

उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।  

Image Credit: freepik 

 
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।