• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile
  • Shilpa
  • Editorial

ट्रैक्टर ड्राइवर की बेटी कैसे बनी सबसे कम उम्र की कबड्डी खिलाड़ी, जानें उनकी सक्सेस स्टोरी

खेलो इंडिया यूथ गेम्स में इतु मंडल ने सबसे कम उम्र की कबड्डी प्लेयर बन इतिहास रच दिया। जानें उनकी कहानी।  
Published -08 Jun 2022, 17:25 ISTUpdated -08 Jun 2022, 17:45 IST
author-profile
  • Shilpa
  • Editorial
  • Published -08 Jun 2022, 17:25 ISTUpdated -08 Jun 2022, 17:45 IST
Next
Article
Dumka Girl Etu Mandal m

Khelo India Youth Games लड़कियां हर क्षेत्र में अपने काम से नया मुकाम हासिल कर रही हैं। आजकल लड़कियां पढ़ाई से लेकर खेल  क्षेत्र में बढ़ चढ़कर भाग ले रही हैं।  इतना ही नहीं अपने परिवार और देश का नाम रोशन कर रही हैं। हाल ही में झारखंड की इतु मंडल ने खेलो इंडिया यूथ गेम्स में सबसे कम उम्र की खिलाड़ी बनकर इतिहास रच दिया है। इस लेख में हम आपको इतु मंडल के संघर्ष की कहानी के बारे में बताएंगे। किन उन्होंने यहां तक सफर कैसे तय किया है। चलिए हमारे साथ जानते हैं कौन है इतु मंडल और कैसे इतनी कम उम्र में हासिल किया ये मुकाम।

कौन है इतु मंडल

इतु मंडल 13 साल की कबड्डी खिलाड़ी है। उनके पिता ट्रैक्टर ड्राइवर है। इतु का जन्म झारखंड के दुमका जिले में हुआ था। जब वह 8 साल की थी, तब से उन्हें कबड्डी खेल से काफी लगाव हो था।

इतु मंडल कैसे रचा इतिहास?

इतु मंडल सबसे कम उम्र की खिलाड़ी है। उन्होंने अपना पहला रेड करने से पहले ये रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। इतु ने अपना पहला मैच महाराष्ट्र की टीम के साथ खेला।

परिवार से मिली मदद

ईतु ने इंटरव्यू में बताया है कि वह परिवार में सबसे बड़ी हैं। और  उनके माता-पिता उन्हें खेल में भाग लेने के लिए पूरी तरह से छूट दी है। आगे उन्होंने कहा कि उनके ऊपर परिवार की जिम्मेदारी निभाने का किसी भी तरह का दबाव नहीं है।

इसे जरूर पढ़ेंः जानें कब और कैसे हुई महिला क्रिकेट टीम की शुरुआत

कोच बनना चाहती हैं ईतु मंडल

ईतु मंडल जल्द ही अंडर 18 टीम का हिस्सा बन जाएंगी। लेकिन उनके सपने केवल टीम का हिस्सा बनना नहीं है बल्कि उन्हें कोच भी बनना है। इंटरव्यू के दौरान इतु बताया है कि इस खेल में उन्हें लंबा रास्ता तय करना है लेकिन वह खेल से रिटायर होने के बाद कोच बनना चाहती हैं। वह इस खेल की सारी जानकारी हासिल करें अन्य युवाओं को इसकी शिक्षा देंगी। 

इसे जरूर पढ़ेंः पी वी सिंधु ने वो कमाल कर दिखाया है जो आज तक कोई भारतीय महिला खिलाड़ी नहीं कर पाई

महिलाओं के लिए कबड्डी लीक

पिछले कुछ सालों में कबड्डी खेल गांव खेल नहीं बल्कि बड़ा खेल बनकर उभरा है। इससे गांव के युवा को एक बड़ा मंच मिला है। कबड्डी खेल ने कुछ खिलाड़ी को बड़ा स्टार बनाया है। वहीं महिला कबड्डी की बात करें तो साल 2016 में महिलाओं के लिए प्रोफेशनल कबड्डी लीग की शुरुआत की गई है। इस लीग की मदद से कई यंग लड़कियां गेम को खेलने के लिए आकर्षित हुए हैं। (भारतीय महिला खिलाड़ी)

Recommended Video

खेलो इंडिया यूथ गेम

देश में खेल की स्थिति की सुधार के लिए भारत सरकार ने खेलो इंडिया कार्यक्रम योजना की शुरुआत की है। इसका उद्देश्य देश में खेलों को बढ़ावा देने का है। इस योजना के तहत कई यंग खिलाड़ी को मौका मिला है जिससे वह अपनी प्रतिभा को दिखा सकें। (महिलाओं के लिए बेस्ट खेल)

उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।  

Image Credit: pib twitter

 
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।