• ENG | தமிழ்
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

जानें क्या है Moonlighting? जिससे जा रही है लोगों की जॉब

What is Moonlighting in hindi: Wipro कंपनी ने मूनलाइटिंग के आरोप में अपने 300 इंपलाई को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। क्या आप भी करते हैं मूनलाइटिंग।   
author-profile
Published -26 Sep 2022, 10:35 ISTUpdated -26 Sep 2022, 13:15 IST
Next
Article
what is moonlighting

भारत के दिग्गज आईटी कंपनियों में शामिल विप्रो के बारे में तो आप जानते ही होंगे लेकिन क्या आप जानते हैं विप्रो ने अपने कंपनी के 300 लोगों को नौकरी से निकालने का फैसला किया है। ये फैसला मूनलाइटिंग के वजह से लिया गया है। अब आप सोच रहे होंगे कि ये मूनलाइटिंग क्या होता है। तो चलिए जानते हैं।

freelancing is good option

मूनलाइटिंग क्या होता है

मूनलाइटिंग की बात करें तो ये एक दूसरी तरह की जॉब है। जब कोई कर्मचारी अपनी फिक्स नौकरी के साथ ही दूसरी जगह भी चोरी-छिपे काम करता है तो उसे तकनीकी तौर पर मूनलाइटिंग कहा जाता है। कई लोग बिना कंपनी को जानकारी दिए दूसरी कंपनियां या प्रोजेक्ट के लिए काम किया करते हैं।

आईटी क्षेत्र में होता है सबसे अधिक

आईटी क्षेत्र में हर दूसरे लोग मूनलाइटिंग करते है। कई लोग घर से काम करने के दौरान एक साथ दो जगह काम करते है। ऐसे में कई बार उनकी कमाई तो हो जाती है लेकिन उसके ऊपर काम काफी ज्यादा बढ़ जाता है।

इसे जरूर पढ़ें: इन कारणों को जानने के बाद आप भी जॉब नहीं, करेंगी फ्रीलांसिंग

फ्रीलांसिंग से अलग है मूनलाइटिंग

ये फ्रीलांसर से पूरी तरह अलग होता है क्योंकि फ्रीलांसर किसी कंपनी के कर्मचारी नहीं होते है। ऐसे में आप जितना काम करते हैं आपको उतना ही पैसा दिया जाता है। मूनलाइटिंग के अंतर्गत आप दो कंपनी में काम करते हो। ऐसे में इसे कई कंपनी पसंद नहीं करती है।

विप्रो के अलावा कई कंपनी करती हैं मूनलाइटिंग का विरोध

सिर्फ विप्रो ने नहीं बल्कि आईटी क्षेत्र के कई बड़े कंपनी ने मूनलाइटिंग को गलत कहा है। उन्ही में से एक है इंफोसिस जिसने मूनलाइटिंग को गलत बताया था और अपने कर्मचारियों को कहा था कि वे इससे दूर रहें। वे अगर ऐसा करते पाए गए तो उन्हें नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है।

इसे जरूर पढ़ें: महिलाएं घर बैठे-बैठे कर सकती हैं खूब कमाई, जानें कैसे

जानें कंपनी के सीईओ का क्या मानना है

वहीं कई अन्य कंपनी के सीईओ का मानना है कि ऐसी व्यवस्था में उन्हें कोई परेशानी नहीं है। अगर कोई कर्मचारी अपना काम खत्म करने के बाद एक्स्ट्रा वर्क करके कुछ पैसे कमाना चाहता है तो उसे इसकी इजाजत मिलनी चाहिए। इसमें कुछ भी गलत नहीं है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।  

 

 

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।