Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    'यात्रीगण कृपया ध्यान दें' आखिर किसकी है रेलवे स्टेशन पर गूंजने वाली यह आवाज

    अगर आपने ट्रेन से सफर किया है तो आपने रेलवे स्टेशन पर होने वाली अनाउंसमेंट को जरूर सुना होगा। लेकिन यह आवाज अखिर है किसकी यह आज हम आपको बताएंगे।   
    author-profile
    Updated at - 2023-01-25,10:31 IST
    Next
    Article
    WHO IS SARLA CHAUDHARY

    रेलवे स्टेशन पर जब भी कोई अनाउंसमेंट होता है तो स्टेशन पर लगे लाउडस्पीकर से यह आवाज आती है 'यात्रीगण कृपया ध्यान दें..' यह आवाज सुनने के बाद आपके मन में एक सवाल जरूर आता होगा कि आखिर यह आवाज है किसकी? तो चलिए आज हम आपको इस लेख में बताएंगे इस आवाज के पीछे आखिर है कौन। 

    जानिए किसकी है यह आवाज 

    SARLA CHAUDHARY

    आपको बता दें कि रेलवे स्टेशन पर सुनाई देने वाली यह आवाज सरला चौधरी की है। साल 1982 में सरला चौधरी सहित सैकड़ों उम्मीदवारों ने मध्य रेलवे में इस घोषणा करने वाले पद के लिए परीक्षा दी थी। उस समय सरला को इसके लिए काफी मेहनत करनी पड़ती थी लेकिन आखिर सरला चौधरी का चयन इस पद के लिए हो गया था।('अगला स्टेशन राजीव चौक है, दरवाजे बाईं तरफ खुलेंगे...' आखिर किसकी है दिल्ली मेट्रो में गूंजने वाली ये आवाज़)

    आपको बता दें कि सरला इस नौकरी में दैनिक मजदूरी के आधार पर शामिल हुई थी यानी की भर्ती के समय वो रेलवे में अस्थाई कर्मचारी थी। फिर साल 1986 में सरला को इस पद के लिए स्थाई कर दिया गया था। 

    कैसे होती थी अनाउंसमेंट?

    आपको जानकर हैरानी होगी पर उस समय पर कंप्यूटर न होने से हर स्टेशन पर समय-समय पर पहुंच कर उन्हें घोषणा करनी पड़ती थी। एक अनाउंसमेंट को रिकॉर्ड करने में लगभग 4 दिन लग जाते थे और अनाउंसमेंट को कई भाषाओं में भी र‍िकॉर्ड करना पड़ता था। आधुनिकता के साथ रेलवे में भी कई सारे बड़े बदलाव हुए। इसके बाद अनाउंसमेंट संभालने की जिम्मेदारी ट्रेन मैनेजमेंट सिस्टम को सौंप दी गई।

    इसे जरूर पढ़ें- अगर आप भी करने जा रही हैं दिल्ली मेट्रो में सफर, तो इन बातों का रखें ध्यान

    सरला की आवाज का जादू

    आज के समय में भी सरला की आवाज का जादू हर रेलवे पर सफर करने वाले व्यक्ति पर है क्योंकि आज भी देश भर के रेलवे स्टेशनों पर सरला चौधरी की ही प्री रिकॉर्डेड आवाज का इस्तेमाल किया जाता है और नई ट्रेनों के नाम के लिए बीच में दूसरी आवाज एड कर दिया जाता है।

     इसे भी पढ़ें-क्‍या आपको भी मेट्रो में मिलती हैं ऐसी महिलाएं ?

    सरला चौधरी भले ही आज रेलवे में अनाउंसर के पद पर न हों, लेकिन उनकी ये आवाज आज भी काम कर रही है।  अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। इस आर्टिकल के बारे में अपनी राय आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

     

    Image credit-freepik/facebook 

     

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।