• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial

बच्चों के बेडरूम में चादर से लेकर कालीन बिछाते समय इन वास्तु नियमों को ना करें नजरअंदाज

अगर आप बच्चों के कमरे में चादर, परदे या कालीन आदि बिछा रही हैं, तो कुछ वास्तु नियमों का खास ख्याल रखें। 
Published -01 Jun 2022, 18:05 ISTUpdated -01 Jun 2022, 18:13 IST
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial
  • Published -01 Jun 2022, 18:05 ISTUpdated -01 Jun 2022, 18:13 IST
Next
Article
Baccho Ke Bedroom Me Chadar Aur Kaalin Se Jude Vastu Tips hindi

किसी भी पैरेंट के लिए घर का सबसे खास हिस्सा होता है बच्चों का कमरा। वह बच्चे के बेडरूम को एक बेहद ही खास तरह से डिजाइन करना चाहते हैं और इसलिए वॉल कलर से लेकर फर्नीचर तक हर छोटी-छोटी डिटेल पर ध्यान देते हैं। इसी क्रम में वह बेडशीट से लेकर कालीन या परदों को भी बिल्कुल नजरअंदाज नहीं करते। हो सकता है कि आप बेडशीट के कलर, डिजाइन या पैटर्न पर ही ध्यान देते हों।

लेकिन यहां आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि यह चीजें कहीं ना कहीं आपके बच्चे से जुड़ी हैं और इसलिए आपको कुछ ऐसा करना चाहिए जिससे यह सभी चीजें उनके जीवन में सकारात्मकता लेकर आए। आपको शायद पता ना हो, लेकिन इन चीजों का भी अपना एक वास्तु विज्ञान होता है। इसलिए, अगर बच्चों के कमरे में बेडशीट या कालीन बिछा रहे हैं तो आपको वास्तु के इन नियमों का ख्याल रखना चाहिए। तो चलिए आज इस लेख में वास्तुशास्त्री डॉ. आनंद भारद्वाज आपको कुछ ऐसे ही नियमों के बारे में बता रहे हैं-

इसे जरूर पढ़ें- घर पर तुलसी का पौधा लगाते वक्त रखें इन 20 बातों का ध्यान, हो जाएंगे मालामाल

Baccho Ke Bedroom Me Chadar

कलर का रखें ध्यान

जब भी आप बच्चों के कमरे में बेडशीट या कालीन आदि बिछा रही हैं तो कलर का खास रूप से ध्यान रखें। उनके कमरे में आपको वाइब्रेंट कलर्स का इस्तेमाल करना चाहिए। इसका सकारात्मक प्रभाव बच्चों के मूड पर पड़ता है। कभी भी बच्चों के कमरे में डल कलर का इस्तेमाल ना करें। इसके अलावा, बच्चों के कमरे में किसी भी रूप में ब्लैक कलर का इस्तेमाल कम से कम करना चाहिए। बच्चों के विकास के लिए हल्का हरा, हल्का नीला कलर परदों व बेडशीट में इस्तेमाल किया जा सकता है। वहीं बेटी के कमरे में आप पर्पल, पिंक, कलर का इस्तेमाल करने पर विचार करें।

इसे जरूर पढ़ें- वास्तु के अनुसार कैसी बनाएं किचन? इन 20 टिप्स को फॉलो करने से होगी धन की वर्षा

ionside quote Expert

लाइनिंग वाले परदों का करें इस्तेमाल

जब आप बच्चों के कमरे के लिए परदे सलेक्ट कर रही हैं, तो कोशिश करें कि आप उनके कमरे में लाइनिंग वाले परदों का इस्तेमाल करें। इसका अर्थ यह है कि पीछे एक हल्का परदा हो और उसके आगे आप हैवी परदा लगाएं। इससे यह फायदा होता है कि जब बच्चों को हल्की लाइट की जरूरत होती है तो उन्हें पूरी खिड़की खोलने की आवश्यकता नहीं होती है। बस वह हैवी परदे को हटाएंगे, तो शीयर परदे से धीमी-धीमी लाइट आती रहेगी।

Baccho Ke Bedroom

बेडशीट का डिजाइन

बच्चों के कमरे के लिए मार्केट में तरह-तरह की बेडशीट मिलती हैं, जिन पर बेहद ही अट्रैक्टिव डिजाइन बने हुए होते हैं। ऐसे में अगर आप बच्चों के लिए बेडशीट का डिजाइन सलेक्ट कर रहे हैं, तो कुछ खास तरह के डिजाइन से दूर रहें। मसलन, सांप-सीढ़ी, जंगली पशु जैसे शेर या हाथी का डिजाइन बच्चों के कमरे के लिए ना चुनें। आप इसकी जगह पालतू पशु की आकृति ले सकते हैं। वहीं, इसके अलावा फूलों या ज्योमेट्रिकल डिजाइन की बेडशीट भी बच्चों के कमरे के लिए उचित मानी जाती है।

कारपेट का डिजाइन

बेडशीट की तरह ही कारपेट के डिजाइन में भी किसी डरावनी या हिंसक पशु के डिजाइन को इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। बच्चों के कमरे के लिए बेज़ कलर, लाइट येलो या लाइट ब्राउन कलर के कारपेट का इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि, इस बात का ध्यान रखें कि कालीन पर समय-समय पर डस्टिंग करते रहना या वैक्यूम का इस्तेमाल करना आवश्यक होता है। अन्यथा कारपेट पर डस्ट जमा हो जाती है और ऐसे में बच्चों के बीमार होने का खतरा काफी बढ़ जाता है।

तो अब जब भी आप बच्चे के कमरे में बेडशीट या कालीन बिछाएं तो वास्तु के इन टिप्स का भी ध्यान रखें। इससे बच्चों के जीवन में सकारात्मकता आएगी।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।  

Image Credit- freepik, pexels

 

 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।