शादी किसी भी व्‍यक्ति के जीवन का सबसे महत्‍वपूर्ण दिन होता है। शादी के बाद जीवन में नए बदलाव, नए रिश्‍ते और नई उमंगे आती हैं। खासतौर पर शादी के बाद आने वाले लगभग हर त्‍यौहार का महत्‍व बढ़ जाता है। हर नए-नवेले जोड़े को शादी के बाद आने वाले पहले त्‍यौहार का इंतजार रहता है। फिर चाहे वह आम कपल हो या फिर सेलिब्रिटी। 

टीवी सीरियल 'दिया और बाती हम' फेम एक्‍ट्रेस प्राची तेहलान को भी इस बार बेसब्री लोहड़ी के त्‍यौहार का इंतजार है। दरअसल, प्राची ने बीते वर्ष 7 अगस्‍त को दिल्‍ली के बिजनेसमैन रोहित सरोहा से शादी कर ली थी। शादी के बाद प्राची की यह पहली लोहड़ी है, जिसे लेकर वह काफी उत्‍साहित हैं। हालांकि, प्राची पंजाबी नहीं है इसलिए वह लोहड़ी को मकर संक्रांति  के रूप में मनाती हैं, मगर यह त्‍यौहार उन्‍हें बेहद पसंद है। 

हर जिंदगी को दिए इंटरव्‍यू में प्राची ने बताया कि शादी के बाद से उनकी लाइफ कितनी बदल गई है और वह इसे अपने जीवनसाथी के साथ कितना अधिक इंज्‍वॉय कर रही हैं। कोविड-19 संक्रमण के इस दौर में वह आने वाले मकर संक्रांति  के त्‍यौहार को किस तरह मनाएंगी आइए जानते हैं-  

इसे जरूर पढ़ें: Makar Sankranti 2020: कहीं खिचड़ी तो कही पोंगल के नाम से मनाया जाता है यह त्योहार

lohri celebration tips

कैसे मनाएंगी त्‍यौहार 

प्राची और उनके पति रोहित दोनों ही अलग-अलग क्षेत्रों से जुड़े हुए हैं। एक्‍ट्रेस होने की वजह से प्राची को अक्‍सर अपने काम के सिलसिले में घर से दूर रहना पड़ता है। मगर पति रोहित के साथ वक्‍त बिताने का प्राची एक भी मौका नहीं छोड़ती हैं। वह कहती हैं, 'हम दोनों को पहाड़ पसंद है और हमें जब भी वक्‍त मिलता है, हम पहाड़ों पर सैर करने चले जाते हैं। हमें त्‍यौहारों पर भी पहाड़ पर रहना पसंद है। मकर संक्रांति पर मौका मिला तो मैं रोहित के साथ ही इसे अपने सेकेंड होम उत्‍तराखंड में सेलिब्रेट करुंगी।'

शादी के बाद पहली मकर संक्रांति  क्‍यों हैं खास 

उत्‍तर भारत में लोहड़ी को मकर संक्रांति के रूप में मनाया जाता है। इस त्‍यौहार पर दान पुण्य को विशेष महत्‍व दिया गया है और इस दिन पतंगा भी उड़ाई जाती हैं। शादी के बाद पड़ने वाली पहली मकर संक्रांति भी खास होती है। इस पर्व पर बेटी के घर से तिल के लड्डू, खिचड़ी, पापड़, अचार और ढेर सारे गिफ्ट्स आते हैं। प्राची कहती हैं, ' शादी के बाद से पड़ रहे हर त्‍यौहार में कुछ खास हो रहा है। मकर संक्रांति का त्‍यौहार भी विशेष है और इस पर्व पर मेरे घर वाले रोहित और उनके घरवालों को गिफ्ट्स भेजेंगे।'

इसे जरूर पढ़ें: Special Wishes: मकर संक्रान्ति, पोंगल और लोहड़ी पर अपने प्रियजनों को भेजें ये शुभकामनाएं

how to celebrate lohri

बचपन की लोहड़ी की यादें 

वक्‍त के साथ काफी कुछ बदल चका है और त्‍यौहारों को सेलिब्रेट करने के तरीके में भी बहुत फर्क आ चुका है। लेकिन इन त्‍यौहारों को देख कर बचपन की यादें जरूर ताजा हो जाती हैं। प्राची कहती हैं, 'मेरा बचपन दिल्‍ली में बीता है और हम एक कोलोनी में रहा करते थे। जब लोहड़ी आती थी कोलोनी में एक जगह पर आग जलाई जाती थी और सभी वहीं इकट्ठा होकर इस त्‍यौहार को सेलिब्रेट करते थे। वहीं पर नाच-गाना होता था और सब मस्‍ती करते थे। मुझे यह सब कुछ देख कर बहुत अच्‍छा लगता था।'

Recommended Video

आपको बता दें कि प्राची टीवी सीरियल्‍स के साथ-साथ कई पंजाबी और साउथ इंडियन फिल्‍मों में भी काम कर चुकीं हैं। जल्‍द ही प्राची की तेलुगु फिल्म 'त्रिशंकू' भी रिलीज होने वाली है। प्राची हिंदी टीवी सीरियल्‍स के लिए भी कोशिश कर रही हैं, हालांकि, अभी तक उनकी झोली में एक भी हिंदी टीवी सीरियल नहीं है। मगर उम्‍मीद है कि प्राची जल्‍दी ही टीवी स्‍क्रीन पर किसी रोचक किरदार में नजर आएंगी। 

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें। साथ ही इसी तरह और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।