हौसले बुलंद हों और मन में कामयाबी हासिल करने का जज्बा तो बड़े-बड़े लक्ष्य भी आसानी से हासिल किए जा सकते हैं। भारत का नाम रोशन करने वाली बेटी हिमा दास ने चेक रिपब्लिक में 400 मीटर की रेस 52.09 सेकंड में पूरी करके एक नया इतिहास रच दिया है। इस जीत के साथ हिमा ने पांचवा गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया। भारतीय रेसर हिमा दास ने लगातार स्वर्ण पदक जीतकर एक नए अध्याय की शुरुआत की है। पिछले 20 दिन में उन्होंने 5 गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिए हैं। हिमा दास की इस बड़ी कामयाबी पर उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद सहित देशभर के गणमान्य व्यक्तियों से बधाई संदेश मिल रहे हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: इंडिया ही नहीं पूरी दुनिया में अपने छोटे से गांव को पहचान दिलाने वाली हिमा दास की कहानी

चेक रिपब्लिक में पांचवी बार जीता सोना

hima das success inside

दिलचस्प बात ये है कि हिमा दास ने अपना पांचवां पदक चेक रिपब्लिक में जीता। यहां आयोजित हुए 'नोवे मेस्टो नाड मेटुजी ग्रां प्री' में हिमा ने 400 मीटर की रेस 52.09 सेकंड में पूरी कर नया कीर्तिमान स्थापित किया।

19 वर्षीय हिमा के करियर की यह दूसरी बड़ी उपलब्धि कही जा सकती है। इससे पहले उनकी परफॉर्मेंस 50.79 सेकेंड की रही थी, जब उन्होंने पिछले साल हुए एशियाई खेल के दौरान रेस लगाई थी। हिमा दास की इस सक्सेस पर पूरा देश गर्व महसूस कर रहा है और उन्हें भविष्य में भी अच्छी परफॉर्मेंस देने के लिए दुआ दे रहा है।

इसे जरूर पढ़ें: मिसेज इंडिया इंटरनेशनल तेजस्विनी सिंह के ख्‍वाबों के सच हो जाने की दास्तां, आप भी पढ़िए

देश की बेटी हिमा पर गर्व है

hima das fifth gold inside

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने बधाई संदेश में कहा, 

'हिमा दास के बड़े अचीवमेंट पर भारत को गर्व है। अलग-अलग टूर्नामेंट में उन्होंने 5 गोल्ड मेडल हासिल किए हैं। उन्हें बहुत-बहुत बधाई और भविष्य के लिए शुभकामनाएं।' 

इस पर हिमा दास ने लिखा, 'नरेंद्र मोदी सर, शुभेच्छाओं के लिए धन्यवाद। मैं मेहनत करना जारी रखूंगी और देश के लिए और भी मेडल्स लेकर आऊंगी।' जाहिर है कि हिमा दास अपनी कामयाबी से खासी उत्साहित है और देश का नाम गौरवान्वित करने के लिए अपनी तरफ से बेस्ट परफॉर्मेंस देने के लिए एक्साइटेड हैं। 

 

सोशल मीडिया यूजर्स भी हिमा दास को नई उड़न परी कहना शुरू कर दिया है। 

हिमा दास ने ऐसे जीते पांच स्वर्ण पदक

hima das bags  gold medal inside

  • पहला गोल्ड मेडल: 2 जुलाई- पोलैंड में पोजनान एथलेटिक्स ग्रां प्री में 200 मीटर रेस 23.65 सेकेंड में पूरी कर हासिल किया।
  • दूसरा गोल्ड मेडल: 7 जुलाई- पोलैंड में कुनटो एथलेटिक्स मीट में 200 मीटर रेस को 23.97 सेकेंड में पूरा कर जीता।
  • तीसरा गोल्ड मेडल: 13 जुलाई- चेक रिपब्लिक में क्लाद्नो एथलेटिक्स मीट में 200 मीटर रेस 23.43 सेकेंड में पूरी की।
  • चौथा गोल्ड मेडल: 17 जुलाई- चेक रिपब्लिक में ताबोर एथलेटिक्स मीट में 200 मीटर रेस 23.25 सेकंड के साथ जीती।

कड़ी मेहनत और कभी ना हार मानने वाले जज्बे की बदौलत हिमा दास ने यह बड़ी कामयाबी हासिल की है। HerZindagi की तरफ से उन्हें बहुत-बहुत बधाई। हमारी यही दुआ है कि हिमा इसी तरह देश का नाम रोशन करती रहें।