मां बनना किसी भी स्त्री के लिए एक बेहद ही सुखद अहसास होता है। लेकिन यह अहसास तभी किसी महिला को खुशी देता है, जब प्रेग्नेंसी को सोच-समझकर प्लॉन किया जाए। दरअसल, पैरेंटिंग एक बेहद ही टफ टास्क है और इसलिए पैरेंट्स बनने से पहले ना सिर्फ महिला का शरीर व फाइनेंशियल कंडीशन आदि भी सही होनी चाहिए। हो सकता है कि पहली प्रेग्नेंसी को आप चाहे प्लॉन ना करें और शादी के बाद जल्द से जल्द मां बनना चाहें, लेकिन जब बात दूसरे बच्चे की आती है तो आपको बेहद ही सोच-समझकर कोई निर्णय करना चाहिए। दरअसल, एक बच्चे के बाद महिला के शरीर में कुछ कॉम्पलीकेशन आ सकती हैं। इसके अलावा आपके पहले बच्चे की देखरेख और आपकी फाइनेंशियल कंडीशन काफी महत्व रखती है। हो सकता है कि आप दूसरी बार मां बनने की इच्छा रखती हों। लेकिन जब आप दूसरी बार मां बनने की सोच रही हैं तो प्रेग्नेंसी से पहले कुछ बातों पर सोच-विचार जरूर कीजिए और इस बारे में अपने पार्टनर से भी जरूर बात कीजिए-

मां की उम्र व सेहत

tips while planning for second child

जब एक महिला दोबारा मां बनने पर विचार कर रही है तो यह सबसे जरूरी है कि वह अपनी उम्र व सेहत पर फोकस करे। दरअसल, जैसे-जैसे महिलाओं उम्र बढ़ती है, उनके मासिक धर्म में भी कई बदलाव होते हैं। उनके अंडो की गुणवत्ता उनकी उम्र के साथ भी घटती जाती है।

इसे जरूर पढ़ें- Pregnancy Tips: महिलाओं में फर्टिलिटी को तेजी से बढ़ाती हैं ये 5 चीजें

इससे दूसरे बच्चे में गर्भपात या आनुवांशिक दोष होने की संभावना बढ़ सकती है। इसके अलावा आपको अपनी सेहत व हेल्थ कॉम्पलीकेशन पर भी ध्यान देना चाहिए। इसलिए अगर आपकी उम्र अधिक है तो गर्भधारण से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श लेना आपके लिए अच्छा रहेगा।

पिता की उम्र 

tips while planning for second child

सुनने में आपको शायद अजीब लगे, लेकिन दूसरा बच्चा प्लान करते समय पुरूष की उम्र भी काफी मायने रखती है। शोध से पता चला है कि 35 साल की उम्र के बाद पुरुषों में शुक्राणु की गुणवत्ता में कमी होती है। ऐसे में गर्भधारण की संभावना पहले की अपेक्षा कम हो जाती है।

करियर व परिवार पर फोकस

tips while planning for second child

यह एक बेहद महत्वपूर्ण स्टेप है, जिस पर अधिकतर कपल्स ध्यान ही नहीं देते। सबसे पहले आपको अपने पारिवारिक लक्ष्यों पर ध्यान देना होगा। हो सकता है कि आप दूसरा बच्चा अभी चाहती हों, लेकिन आपका पार्टनर इसके लिए तैयार ना हो। ऐसे में आपस में बातचीत के जरिए एक-दूसरे के नजरिए को समझने की कोशिश करें।

Recommended Video

उसके बाद ही कोई फैसला लें। इसके अलावा, आपको यह भी समझना होगा कि प्रेग्नेंसी का अर्थ है करियर से ब्रेक लेना। पहले खुद से यह सवाल करें कि क्या आप अभी इसके लिए तैयार हैं या फिर आपका काम ऐसा है जिसे आप घर से कर सकें। इन सभी मुद्दों पर विचार करने के बाद ही दूसरी बार प्रेग्नेंसी प्लॉन करें।

उम्र का फासला

tips while planning for second child

जब आप दूसरा बच्चा प्लॉन कर रही हैं तो यह जरूरी है कि आपका पहला बच्चा उम्र में थोड़ा बड़ा हो। दरअसल, एक स्त्री के लिए एक साथ दो बच्चों को संभालना काफी मुश्किल होता है। ऐसे में अगर पहला बच्चा अपने छोटे-छोटे काम खुद करने में सक्षम होगा तो इससे आपके लिए नवजात शिशु पर ध्यान देना काफी आसान हो जाएगा।

इसे जरूर पढ़ें- प्रेग्‍नेंसी के दौरान चेहरे पर डार्क कलर के पैचेज क्‍यों पड़ते हैं? बचाव के बारे में जानें

फाइनेंशियल स्टेबिलिटी

tips while planning for second child

सेकंड बेबी प्लॉन करते हुए यह एक बेहद ही महत्वपूर्ण फैक्टर है, जिस पर ध्यान दिया जाना बेहद जरूरी है। दरअसल, प्रेग्नेंसी होते ही खर्चे शुरू हो जाते हैं। ऐसे में अगर आप फाइनेंशियल स्टेबल हैं और दो बच्चों को एक बेहतर परवरिश दे सकती हैं, तभी दूसरे बच्चे के बारे में सोचें।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इस तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।