• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Shardiya Navratri Fast 2022: नवरात्रि में क्यों रखा जाता है व्रत? जानें इसके पीछे का कारण    

इस लेख में हम आपको बताएंगे कि नवरात्रि में व्रत रखने के पीछे का कारण क्या होता है।
author-profile
Published -21 Sep 2022, 16:24 ISTUpdated -21 Sep 2022, 16:33 IST
Next
Article
navratri  why we do fasting during navratri

नवरात्रि में देवी दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा होती है। इस पूजा को विधि-विधान के साथ किया जाता है। आपको बता दें कि इन नौ दिनों में कई सारे लोग हर नौ दिन व्रत रखते हैं वहीं कुछ लोग नवरात्रि के आखिरी दो दिन व्रत रखते हैं। इस व्रत को रखने के पीछे क्या कारण है इस लेख में हम आपको बताएंगे।  

क्या है नवरात्रि मनाने का कारण ?

आपको बता दें कि नवरात्रि मनाने का कारण सिर्फ धार्मिक मान्यताओं से ही नहीं है बल्कि इसके साथ- साथ प्रकृति में परिवर्तन भी है। हर साल भारत में दोनों प्रमुख नवरात्रि को हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार महिषासुर का वध माता दुर्गा ने किया था इस कारण से नवरात्रि मनाई जाती है।

नवरात्रि के नौ दिनों में लोग व्रत, पूजन और हवन करते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस व्रत से मन की शांति मिलती है साथ ही देवी माता की कृपा बनी रहती है। कई लोग नवरात्रि में घट स्थापना और हवन भी विधि- विधान के साथ करते हैं। 

इसे भी पढ़ें- नवरात्रि के 9 दिन करें दुर्गा सप्तशती अर्गला स्तोत्रम का पाठ, माता की होगी पूर्ण कृपा

क्यों रखा जाता है नवरात्रि में व्रत?

navratri vrat

आपको बता दें कि मान्यता है कि नवरात्रि का व्रत रखने से आत्मा की शुद्धि होती है और मन की शांति बनी रहती है। इसके साथ ही यह व्रत रखने से मानसिक, शारीरिक  और धार्मिक सभी प्रकार से लाभ मिलता है। नवरात्रि के व्रत से शरीर तो स्वस्थ रहता ही है मन में चिंता का भाव भी कम रहता है। ऐसा माना जाता है कि लोग नौ दिनों तक व्रत रखते है जिससे स्वास्थ्य समस्याएं भी कम होती हैं।

इस व्रत से शारीरिक शुद्धि भी होती है। जो लोग नौ दिनों का व्रत नहीं रखते हैं उनमें से कई लोग नवरात्रि के आखिरी के दो दिनों का व्रत रखते हैं। नवरात्रि के उपवास में कई लोग साबूदाना की खिचड़ी, कट्टु के आटे की पूड़ी खाते हैं। इसके अलावा भी कई तरह के भोग लोग बनाते हैं और सबसे पहले माता की पूजा करके और उन्हें भोग लगाकर फिर खुद भोजन करके व्रत को विधि-विधान के साथ खत्म करते हैं। 

क्या है नवरात्रि में व्रत रखने की पौराणिक कथा?

आपको बता दें कि धार्मिक मान्यताओं के अनुसार व्रत रखने की यह परंपरा पुराने समय से चली आ रही है। आपको बता दें कि हिंदू पुराणों के अनुसार माता दुर्गा का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए देवताओं ने भी नवरात्रि के व्रत किए थे। इंद्र देव ने भी राक्षस वृत्रासुर का वध करने के लिए माता दुर्गा की पूजा की थी और नवरात्रि में व्रत रखा था।

इसे जरूर पढ़ें: Shardiya Navratri 2022: बहुत ही शुभ योग में होगा माता का आगमन, कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त और महत्व जानें

यही नहीं भगवान विष्णु ने असुर मधु का वध करने के लिए नवरात्रि का व्रत किया था। इसके अलावा महाभारत में कौरवों पर विजय पाने के लिए पांडवों ने यह व्रत किया था। इस व्रत को करने से माता की कृपा उन पर बनी थी जिससे इन्हें विजय प्राप्त हुई थी। 

तो यह थी माता दुर्गा से जुड़ी हुई जानकारी। 

 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

  

image credit- unsplash/shutterstock

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।