आजकल की पढ़ी-लिखी मां अपनी बेटियों के लिए अच्छी शिक्षा-दीक्षा चाहती हैं और उनकी हर ख्वाहिशों को पूरा करना चाहती हैं। पहले के समय में मां अपने बेटियों को घर के कामकाज और जिम्मेदारियों से अवगत कराना सबसे अहम समझती थीं, लेकिन आज के समय की मां अपने बेटी को पूरी तरह से आत्मनिर्भर और हर तरह से निपुण बनाने में विश्वास रखती हैं, वे बेटे और बेटियों में किसी तरह का फर्क नहीं समझतीं। मां की बेटी के लिए ऐसी सोच सराहनीय है, लेकिन इसके लिए पैसों का सही प्रबंधन होना भी बहुत जरूरी है। यानी बच्ची की पढ़ाई और उसके लालन-पालन से जुड़े खर्च उठाने के लिए पैसों का अच्छी स्कीमों में निवेश जरूरी है। आइए जानते हैं कुछ ऐसी गर्ल चाइल्ड सेविंग स्कीमों के बारे में, जिनके जरिए आप अपने बेटी की हर वित्तीय जरूरत के लिए अच्छा प्रबंध कर सकेंगी-

पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ) 

बेटी के लिए पीपीएफ में निवेश कई वजहों से बहुत अच्छा माना जाता है। 15 साल की इस योजना में आपको निश्चित रिटर्न्स मिलते हैं और इससे आप अपनी बेटी की शिक्षा के लिए एक बड़ी रकम इकट्ठी कर सकती हैं। इसमें  8.1 प्रतिशत की ब्याज दर मिलती है, जो बैंकों में बचत खाते पर मिल रही अधिकतम ब्याज दर 7 प्रतिशत की है। इस स्कीम के तहत मिलने वाला ब्याज भी पूरी तरह से कर मुक्त होता है। यही नहीं आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत आपको टैक्स में 1.5 लाख रुपए तक की छूट मिलती है। बच्चे के लिए कोष निर्माण करने का यह एक अच्छा तरीका है और इसमें एक निश्चित समयावधि के बाद बच्ची की किसी आकस्मिक आवश्यकता पड़ने पर आप आंशिक रूप से धन निकाल भी सकती हैं। 

Read more: पीपीएफ या ईएलएसएस, किसमें निवेश से मिलेगा बेहतर रिटर्न जानिए

investment for girl child inside

सुकन्या समृद्धि योजना

बच्चियों के बेहतर भविष्य और उनकी उच्च शिक्षा के लिए बड़ी राशि इकट्ठी करने के लिए आप सुकन्या समृद्धि योजना के तहत सुकन्या समृद्धि खाता खोल सकती हैं है। पीपीएफ की तरह इसमें भी 8.1 फीसदी की ब्याज दर मिलती है और यह पूरी तरह से कर मुक्त है। यहाँ भी आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के कर में छूट का लाभ मिलता है। बेटियों के लिए विशेष रूप से आई इस स्कीम को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि इससे बेटी की पढ़ाई या उसकी शादी के लिए धन संबंधी जरूरतों को पूरा किया जा सके। ऐसे में अगर आप अपनी बेटी की शादी या उसकी शिक्षा के लिए अभी से बचत करने का मन बना रही हैं तो इस योजना का लाभ उठा सकती हैं। 

investment for girl child inside

गोल्ड सेविंग

बेटी के सुनहरे भविष्य के लिए आप सोने में निवेश का विकल्प भी अपना सकती हैं, लेकिन इसके लिए सोने-चांदी के गहने खरीदने के बजाय गोल्ड ईटीएफ जैसे विकल्प अपनाना अच्छा रहेगा। ऐसी इसलिए क्योंकि इसमें आपको लॉकर या स्टोरेज से जुड़ा शुल्क नहीं देना पड़ता। इसमें इलेक्ट्रॉनिक रूप में भी निवेश करने की भी सुविधा है, इसीलिए इसमें सोना चोरी का डर नहीं रहता। आप हर महीने इसमें एक छोटी रकम का निवेश कर सकती हैं और धीरे-धीरे आपकी रकम में बढ़ोत्तरी हो जाएगी। यह तथ्य है कि सोना लंबी अवधि में कई दूसरी स्कीमों की तुलना में ज्यादा बेहतर रिटर्न्स देता है। इससे आप अमूमन 10-15 साल की अवधि में अच्छा लाभ पा सकती हैं और अपने बेटी की शिक्षा-दीक्षा और अन्य खर्चों पर लगा सकती हैं। इस निवेश में एक नुकसान यह होता है कि इसे बेचते समय आपको पूंजीगत लाभ कर चुकाना पड़ता है और यह कर देना अनिवार्य है।

Read more : अभी से ही सिखाएं अपने लाडले को पैसों की एबीसीडी

इक्विटी म्यूचुअल फंड

इक्विटी म्यूचुअल फंड एक और विकल्प है जहां आप अच्छा पैसा बना सकते हैं। ये म्यूचुअल फंड लंबी अवधि में मिलने वाले मुनाफे के मामले में अपनी उपयोगिता सिद्ध कर चुके हैं। उदाहरण के लिए, कई इक्विटी म्युचुअल फंड बैंक में जमा राशि से प्राप्त होने वाले मुनाफे से कहीं अधिक लाभ देते हैं। तो, अगर आप एक लंबी अवधि के निवेशक हैं, इनसे आपको अलग तरह का लाभ मिलेगा ।अपने बच्चों की शिक्षा या अन्य ऐसी योजनाओं बचत करना चाहते हैं तो यह सबसे कारगर उपाय है। 

म्यूचुअल फंड

म्यूचुअल फंड में निवेश आपको बचत खाते में मिलने वाले 7 प्रतिशत की रकम से ज्यादा बेहतर मुनाफा दे सकते हैं। ये म्यूचुअल फंड कर बैनिफिट भी देते हैं, इससे ये बैंक में जमा की जाने वाली राशि की तुलना ज्यादा आकर्षक हो जाते हैं। लेकिन इनमें निवेश करते हुए आपको ज्यादा सावधानी की जरूरत होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि म्यूचुअल फंड में निवेश बाजार जोखिमों के आधीन होता है और बच्ची के लिए निवेश करते हुए आपके लिए सुरक्षित विकल्प अपनाना ज्यादा अहम है। ऐसे में यह विकल्प तभी चुनें जब आप इसमें लंबी अवधि के लिए निवेश की योजना बना रही हों क्योंकि इसमें अच्छी रिटर्न लंबी अवधि में ही मिलते हैं। म्यूचुअल फंड में निवेश को ज्यादा सिक्योर करने के लिए आपको एक्सपर्ट से सलाह जरूर लेनी चाहिए, ताकि आप अपने पैसों को बेहतर तरीके से सिक्योर कर सकें। 

जो स्कीमें हमने आपको बताईं, उनका संपूर्ण आंकलन करने पर बच्चियों के लिए निवेश की सबसे अच्छी स्कीमें पीपीएफ और सुकन्या समृद्धि योजना ही है। किसी भी तरह के जोखिम से मुक्त इन योजनाओं में  ब्याज की अच्छी रकम मिलती है और इनमें निवेश करने वाले का मुनाफा भी कर मुक्त होता है।