Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    जानें किस वरदान के कारण होती है हिन्दू धर्म में सांपों की पूजा

    आज हम आपको इस बारे में बताने जा रहे हैं कि आखिर क्यों हिन्दू धर्म में सांपों की पूजा का विधान है।  
    author-profile
    • Gaveshna Sharma
    • Editorial
    Updated at - 2022-12-30,10:32 IST
    Next
    Article
    naga worship

    Reason Behind Worship Of Naga: हिन्दू धर्म में सांपों को पूजनीय माना जाता है। न सिर्फ सांपों की पूजा होती है बल्कि नाग पंचमी के रूप में सांपों का पर्व भी मनाया जाता है। शास्त्रों में सर्प पूजा का अत्यंत महत्व है। 

    इसका एक कारण तो यह है कि सर्प का भगवान से पुराना नाता है। जहां वासुकी नाग भगवान शिव के गले में स्थापित हैं तो वहीं, भगवान विष्णु शेषनाग पर विराजमान हैं लेकिन इसके अलावा, एक कारण और भी है। 

    हमारे ज्योतिष एक्सपर्ट डॉ राधाकांत वत्स ने हमें बताया कि हिन्दू धर्म में सांपों की पूजा करने का मुख्य कारण है उन्हें मिला एक वरदान। तो चलिए विस्तार से जानते हैं क्या है इस वरदान के पीछे की कहानी।  

    • युग-युगांतर पहले से ही नाग वंश की स्थापना हो चुकी थी। सनातन धर्म में अनेक शक्तिशाली और भयंकर विषधर सांप हुए हैं। इन सभी सांपों में शेषनाग का स्थान सबसे श्रेष्ठ है। 
    • बहराल पौराणिक कथाओं के अनुसार, नागों (हिन्दू धर्म के बलशाली नाग)का पूजन तब से शुरू हुआ था जब से भगवान शिव ने वासुकी नाग को अपने गले में स्थान दिया था पर कुछ कथाओं में सांपों की पूजा को द्वापर युग से जोड़कर देखा जाता है। 
    worship of snakes
    • यानी कि जब कालिया नाग ने यमुना नदी में अपना निवास बना लिया था तब श्री कृष्ण ने कालिया नाग को यमुना छोड़ने के लिए कहा पर कालिया ने अपने अहंकार में श्री कृष्ण को न पहचानते हुए उन्हें युद्ध की चुनौती दे डाली। 
    worship of nagas
    • कालिया की चुनौती को स्वीकार करते हुए श्री कृष्ण ने कालिया से युद्ध किया और उसे परास्त कर दिया। कालिया ने श्री कृष्ण की शक्ति को पहचाना और साथ ही यह भी जाना कि श्री कृष्ण भगवान विष्णु के ही अवतार हैं। 
    • कालिया ने श्री कृष्ण से क्षमा मांगी और उन्हें अभयदान देने का अनुरोध किया। तब श्री कृष्ण (श्री कृष्ण ने क्यों खाए थे केले के छिलके) ने कालिया को यमुना से चले जाने का आदेश देने के साथ-साथ समस्त सांपों के पूजे जाने का वरदान भी दिया। 
    nagas worship
    • तभी से ऐसा कहा जाता है कि हिन्दू धर्म में सांपों की पूजा का विधान स्थापित हुआ और इनकी पूजा से कभी भी किसी को भी सर्प दंश का भय नहीं सताता है। सर्प पूजा से व्यक्ति को भय से मुक्ति मिल जाती है।  

    तो इस कारण से हिन्दू धर्म में सांपों की पूजा होती है। अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। आपका इस बारे में क्या ख्याल है? हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

    Image Credit: Shutterstock, Freepik 

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।