जहां कई साल पहले शादी तक होने वाले दूल्हा व दुल्हन के ज्यादा मिलने- जुलने पर पाबंदी होती थी, वहीं पिछले कुछ सालों से प्री वेडिंग फोटोशूट का बढ़ता हुआ ट्रेंड देखा जा रहा है। जोड़ियां भले ही स्वर्ग में तय हो जाती हैं पर शादियों को धरती पर ही खूबसूरत बनाया जाता है। लोगों की बदलती लाइफस्टाइल की वजह से बीते कुछ सालों में वेडिंग ट्रेंड्स में भी काफी बदलाव देखे गए हैं। वेडिंग प्लानर्स की मदद से डेस्टिनेशन वेडिंग, थीम वेडिंग और प्री वेडिंग फोटोशूट करवाना आसान हो गया है। दूल्हा- दुल्हन शादी के कुछ समय पहले की मेमोरीज़ को फ्रेम करने के लिए फोटोशूट करवाते हैं। इससे दोनों को साथ में कुछ वक्त बिताने का मौका मिल जाता है और यादों का एलबम सहेजने का एक बहाना भी। लेकिन राजस्थान में ऐसे ही एक प्री-वेडिंग शूट के फोटो को लेकर पुलिस विभाग में शोर मचा हुआ है। राजस्थान के एक दरोगा ने अपनी शादी के लिए एक प्री-वेडिंग वीडियो शूटकरवाया और जैसे ही ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ पुलिसकर्मी को नोटिस जारी कर दिया गया। थानेदार की मंगेतर ने इच्छा जताई कि प्री-वेडिंग शूट के बहाने पुलिस महकमे की असलियत को शूट किया जाए।

क्या है मामला

कोटड़ा थाने के थानेदार धनपत सिंह ने करीब दो-ढाई महीने पहले अपनी होने वाली पत्नी के साथ प्री-वेडिंग शूट करवाया था। इसमें थानेदार की पहली मुलाकात ट्रैफिक पुलिस चेकिंग के दौरान उनकी होने वाली पत्नी से होती है। जब थानेदार कांस्टेबल के साथ खड़े होकर वाहन चालकों को रोकते हैं, तभी उनकी होने वाली पत्नी बिना हैलमेट लगाए स्कूटी चलाकर आ रही होती है। उसे कांस्टेबल रोकता है और चालान भरने के लिए पास में खड़े थानेदार से बात करने को कहता है। इस दौरान वीडियो में लड़की थानेदार की जेब में 500 का नोट बहुत ही रोमांटिक अंदाज में रखती है। इसके बाद वीडियो में रियल लाइफ के थानेदार 500 रुपये के रिश्वत की नोट को बड़े ही फिल्मी अंदाज में चूमते हैं। रील लाइफ के इस सीन के बाद थानेदार की रियल लाइफ में झमेला बनता दिख रहा है।

इसे भी पढ़ें: ईशा अंबानी और आनंद पीरामल फैमिली के साथ पहुंचे उदयपुर, प्री वेडिंग की तैयारियां हुई शुरु

महंगा पड़ा वेडिंग शूट 

इस मामले में जयपुर में तैनात आईजी लॉ एंड ऑर्डर डॉक्टर हवा सिंह घुमरिया ने राज्य के सभी एसपी और पुलिस उपायुक्त को आदेश जारी कर इस प्री-वेडिंग शूट को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। इस वीडियो में पुलिसकर्मी अपनी होने वाली पत्नी की गाड़ी रुकवाकर उससे रिश्वत लेकर अपनी वर्दी की जेब में रखते हुए दिख रहा है। उन्होंने कहा, 'विभाग के ही नवनियुक्त पुलिसकर्मी द्वारा ऐसा वीडियो बनवाना दुर्भाग्यपूर्ण है. इससे पुलिस महकमे की छवि धूमिल होती है। ऐसे में आदेश दिया जाता है कि पुलिस वर्दी के कोड ऑफ कंडक्ट को ध्यान में रखते हुए भविष्य में ऐसे किसी भी प्रकार के प्री-वेडिंग शूट में पुलिस वर्दी का उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध लगाकर कानूनी कार्रवाई की जाए।' वहीं इस मामले के सामने आने के बाद जिला पुलिस के कप्तान कैलाश विश्नोई ने भी कोटड़ा थानाधिकारी धनपत सिंह पर विभागीय जांच करने का निर्णय लिया है। जिससे भविष्य में कोई भी पुलिसकर्मी इस तरह की बात वापस दोहरा न सके। पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी किये गए आदेश को लेकर भी एसपी ने सभी अधीनस्थ कर्मचारियों और अधिकारियों को बता दिया है कि पुलिस की वर्दी का उपयोग सिर्फ गरिमामय जगहों पर ही इस्तेमाल करें।

rajes inside

इसे भी पढ़ें: प्री वेडिंग फोटोशूट से पहले ऐसे करें मेकअप

क्वालिटी टाइम स्पेंड करें पर ध्यान से हर कोई चाहता है कि वह शादी से पहले अपने जीवनसाथी के साथ कुछ समय गुज़ार सके। प्री वेडिंग फोटोशूट के बहाने कपल्स को एक- दूसरे के साथ क्वॉलिटी टाइम स्पेंड करने और एक- दूसरे को जानने- समझने का मौका मिलता है। ये शूट्स अमूमन घर के बाहर ही प्लान किए जाते हैं। आजकल तो वेडिंग फोटोग्राफर्स खुद ही प्री वेडिंग फोटोशूट से लेकर रिसेप्शन तक का पूरा पैकेज बना देते हैं। कई बार इसी पैकेज में कॉस्ट्यूम, प्रॉप्स  व टिकट आदि भी शामिल होते हैं। कई कपल्स अपनी शादी के कार्ड में भी इसी फोटोशूट की फोटो लगा लेते हैं तो कुछ शादी वाले दिन स्क्रीन पर इसका डिस्प्ले करते हैं। अगर आप भी अपनी यादों के कैनवस में कुछ ऐसे लम्हे जोड़ना चाहते है तो थानेदार धनपत सिंह जैसा कोई अनुचित काम न करें जिससे आपकी लाइफ में बवाल मच जाएं।