• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

अचार बेचने वाली इस महिला को मिल चुका है पद्मश्री, जानें इनकी इंस्पायरिंग कहानी

मुजफ्फरपुर की अचार  बेचने वाली राज कुमारी को पद्मश्री मिल चुका है। इस आर्टिकल में जानिए उनकी इंस्पिरेशनल कहानी। 
author-profile
  • Geetu Katyal
  • Editorial
Published -22 Jul 2022, 16:12 ISTUpdated -22 Jul 2022, 16:54 IST
Next
Article
padmashree awardee shri raj kumari inspirational story

किसी ने सही कहा है कि लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती और कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती। बिहार के मु्ज्जफरपुर की अचार बेचने वाली इस महिला के बारे में जानकर भी आपको ऐसा ही लगेगा। उन्होंने अपनी मेहनत के बल पर फर्श से अर्श तक का सफर तय किया है। इस आर्टिकल में हम आपको बिहार की एक ऐसी महिला की कहानी बताएंगे जिन्होंने साइकिल पर अचार बेचना शुरू किया था और आज उनका बिजनेस खड़ा हो चुका है। सिर्फ इतना ही नहीं उन्हें राष्ट्रपति से पद्मश्री भी मिल चुका है। आइए जानते हैं किसान चाची नाम से फेमस हुई राज कुमारी की इंस्पायरिंग कहानी। 

ऐसे हुई राज कुमारी के सफर की शुरुआत 

Raj kumari

राज कुमारी ने खेती के साथ अपने सफर की शुरुआत की थी और इस वक्त उन्होंने शायद ही सोचा हो कि एक दिन उनका नाम पूरे भारत में धूम मचाएगा। उन्होंने 90 के दशक में अपने पति के साथ परंपरागत खेती की और अपनी मेहनत के बल पर खेती का उत्पादन भी बढ़ाया। तभी से लोग उनका नाम जानने लग गए थे। फिर उन्होंने अचार बनाना शुरू किया। इस काम को बेहतर तरीके से करने के लिए उन्होंने विज्ञान केंद्र से फूड प्रॉसेसिंग की ट्रेनिंग ली। राज ने तरह-तरह के अचार बनाकर बेचना शुरू किया। एक इंटरव्यू में राज बताती हैं कि अचार बेचना हर किसी को आता है लेकिन शुरुआत में मुझे बिजनेस कैसे किया जाता है इसकी जानकारी नहीं थी। 

इसे भी पढ़ेंः 20 हजार का टीवी सिर्फ 5 हजार में, दिल्ली में यहां मिलते हैं सस्ते सेकंड हैंड इलेक्ट्रॉनिक्स

आप भी लें किसान चाची से इंस्पिरेशन 

राज कुमारी ने अपने जीवन में खेती से जुड़ी जितनी भी तकनीक सिखी उसे सिर्फ अपने तक न रखकर अन्य महिलाओं के साथ भी शेयर किया। जिससे उनके साथ-साथ और भी महिलाओं का भला हो सके। उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि हर महिला खेती में योगदान देती ही है। अगर कोई पुरुष खेती करता हैं तो भंडारण का काम महिलाएं ही देखती हैं। राज ने कहा कि इस काम के न महिलाओं को पैसे मिलते हैं और न ही कद्र होती है। यही कारण है कि वह अपने साथ दूसरी महिलाओं के आत्मनिर्भर बनने में भी मदद करती हैं। आज उन्होंने एक बड़ा मुकाम हासिल कर लिया है। यही कारण है कि उन्हें पद्मश्री से भी सम्मानित किया गया है। 

इसे भी पढ़ेंः घर में भिनभिनाती मक्खियों से छुटकारा पाने के लिए फॉलो करें ये टिप्स

राज कुमारी की इंस्पायरिंग कहानी बताती है कि बड़ा मुकाम हासिल करने के लिए बड़ी-बड़ी डिग्री नहीं बल्कि कुछ करने का जोश होना चाहिए। उनकी कहानी से हर महिला और भारतवासी को इंस्पिरेशन लेनी चाहिए। 

Recommended Video

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Photo Credit: @rashtrapatibhvn/Twitter, VVS Laxman/Twitter, ALL INDIA RADIO आकाशवाणी/Twitter

 

 

 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।