जब हमारे अपने हमें हमेशा के लिए छोड़कर चले जाते हैं तो उसका गम कोई और नहीं समझ सकता। उनसे जुड़ी खट्टी-मीठी यादें हमें अक्सर याद आती हैं। उनकी हंसी-मुस्कुराहट, उनकी शरारतें, उनका प्यार, उनका गुस्सा सबकुछ याद आता है, लेकिन साथ ही इस बात की भी टीस होती है कि हम उनसे फिर कभी भी मिल नहीं पाएंगे। लेकिन एक मां को अपनी 4 साल पहले गुजर चुकी बेटी से फिर से मिलने का मौका मिला और यह संभव हुआ वर्चुअल रियलिटी के सहारे। वर्चुअल रियलिटी के जरिए मां ने ना सिर्फ अपनी बेटी को छूकर महसूस किया, बल्कि उससे बातें भी कीं।  

तकनीक की मदद से मृत बेटी से मिलना हुआ संभव

mother meets her daughter after death through virtual reality

वर्चुअल रियलिटी की मदद से इस मां को अपनी पिछड़ चुकी बेटी से मिलाया गया, जिसकी साल 2016 में मौत हो गई थी। मां की बेटी से बात कराने और उसे छूने के लिए टच सेंसिटिव ग्लव्स और ऑडियो का सहारा लिया गया। यह अपने आप में अद्भुत है, लेकिन तकनीक के सहारे अब परिवार के मृत परिजनों से मिलना संभव हो गया है, उन्हें छूआ जा सकता है और जिनसे बातें भी की जा सकती हैं। यह घटना कोरिया के एक टीवी शो में देखने को मिली। 'मीटिंग यू' नाम के इस शो में यह अनूठी पहल की गई। 

इसे जरूर पढ़ें: मां-बेटी साथ में लें इन 10 एक्टिविटीज का मजा

वर्चुअल रियलिटी के सहारे मां से मिली बेटी

बच्चों से मां के कितने ही जज्बात जुड़े होते हैं। बच्चे जब मां से बात करते हैं तो मां को एक अलग ही तरह की खुशी होती है। ऐसा अहसास दुनिया के किसी और व्यक्ति से बात करने पर नहीं होता। अपनी प्यारी बेटी से हमेशा के लिए बिछड़ जाने के बाद जब इस मां को उसे छूने और महसूस करने का मौका मिला तो वह भावुक हो उठी। इस बातचीत के दौरान बेटी ने अपनी मां को यकीन दिलाया कि अब वह किसी तरह का दर्द महसूस नहीं कर रही है। शो बनाने वालों ने मां को बेटी से मिलवाने के लिए वाइव वर्चुअल रिऐलिटी हेडगियर दिया था। इसके बाद मां को एक गार्डन में ले जाया गया, जहां उनकी बेटी बैंगनी कलर की ड्रेस में खड़ी होकर मुस्कुरा रही थी। बेटी को इतने सालों बाद देखते ही मां जज्बाती हो गई। मां को अपने पास देख बेटी कहने लगी, 'मां मुझे तुम्हारी बहुत याद आती है'। इसके जवाब में मां ने भी बेटी से कहा कि वह भी उसे मिस करती है।

इसे जरूर पढ़ें: अपनी बेटी को पहले पीरियड्स के बारे में कैसे बताएं, एक्सपर्ट से जानिए

चेहरा डिजाइन करने में हुई की गई कड़ी मेहनत

कोरियाई कंपनी Munhwa Broadcasting Corporation ने इस बच्ची का चेहरे को डिजाइन करने में काफी मशक्कत की है। इस प्रोजेक्ट पर काम करने वालों ने इस बात का पूरा खयाल रखा कि मृत बच्ची का चेहरा, शरीर और आवाज ऑरिजनल के बिल्कुल करीब हो ताकि मां को अपनी बेटी के पास होने का अहसास हो।

Recommended Video

शुरुआती झिझक के बाद मां हो गई सहज

शुरुआत में मां को अपनी बेटी को डिजिटल रूप में फील करने में मां को थोड़ा संकोच हो रहा था, लेकिन बेटी के कहने के बाद उन्होंने उसका हाथ पकड़ा और इसके साथ ही बेटी से जुड़ी सारी यादें ताजा हो गईं। शायद इसीलिए उसकी नन्हीं उंगलियों को छूते हुए उनकी आंखों से आंसू गिरने लगे। बाहर से इस शो को देख रहे मृत बच्ची के पिता, भाई और बहन भी देख रहे थे और वे भी इस पल में काफी इमोशनल नजर आ रहे थे। कुछ देर तक मां और बेटी की यह चर्चा चली, इसके बाद बेटी ने मां से कहा, 'अब मैं थक गई है और सोना चाहती हूं, जिसके बाद मां को अपनी लाडली बेटी से विदा लेनी पड़ी।

अपनों के सदमे से उबारेगी वर्चुअल रिएलिटी

कई बार अपनों को खो देने पर महिलाएं सदमे में भी चली जाती हैं। वे इस बात को स्वीकार ही नहीं कर पातीं कि उनके अपने अब नहीं रहे। उनके मन में बार-बार अपने प्रियजनों से मिलने का खयाल आता है। वर्चुअल रिएलिटी के सहारे अपनों से मिलकर कुछ पल के लिए ही सही, चेहरे पर मुस्कुराहट लाई जा सकती है।