हमारी जिंदगी में कई ऐसे क्षण आते हैं जब हमें मुश्किलों के उपाय नहीं मिलते। कई बार घर-गृहस्थी की समस्याएं विकराल रूप ले लेती हैं तो कभी रिलेशनशिप में बात बिगड़ जाती है। कई बार फैमिली में लोगों के साथ तनाव बढ़ जाता है तो कभी ऑफिस में लोगों के साथ गहमागहमी हो जाती है। ऐसे समय में हमें परेशानियां ज्यादा बड़ी लगने लगती हैं, निराशा महसूस होने लगती हैं। ऐसे मुश्किल क्षणों में सबसे अहम होता है खुद को शांत रखना।

अगर आप खुद को ऐसे मुश्किल वक्त में रिलैक्स करना सीख लें तो बड़ी से बड़ी परेशानी को भी आसानी से हल कर सकती हैं। मन को शांत करने और पॉजिटिविटी लाने के लिए दीया जलाना एक बहुत अच्छा उपाय है। दीया जलाने से सिर्फ मन ही नहीं शांत होता, बल्कि इससे घर में सुख और समृद्धि भी आती है। 

diya lighting importance bring happiness positivity fulfill wishes inside

जीवन में लाता है सकारात्मकता

सनातन धर्म में दीपक की रोशनी को बहुत अहम माना गया है। ये अपने उज्जवल प्रकाश से जीवन में रोशनी भर देता है। दीया जलाने से घर में भी सकारात्मकता आती है।अलग-अलग तरह के मनवांछित इच्छाओं की पूर्ति के लिए अलग तरह का दीया जलाया जाता है। यदि आप अपनी किसी इच्छा की पूर्ति के लिए दीया जला रही हैं तो कुछ बातों का जरूर ध्यान रखें। ऐसा करने से आपकी मनोकामना जरूर पूर्ण होगी। 

Read more : वास्तु के ये शुभ प्रतीक लाएं तो घर में होगा सुख और समृद्धि का वास

diya lighting importance bring happiness positivity fulfill wishes inside

घी का दीया

घर के मंदिर में सदैव घी का दीया ही जलाएं। इससे घर की शुद्धि होती है, परिवार के सभी लोगों पर देवताओं की कृपा सदैव बनी रहती है और आपके घर की आर्थिक स्थिति भी मजबूत बनती है। 

Read more : EMI के बोझ से हैं परेशान तो ये तरीके अपनाएं और चैन की बंसी बजाएं

शिक्षा प्राप्ति के लिए दीया

शिक्षा की देवी मां शारदे को प्रसन्न रखने के लिए उनके सामने दो मुखी दीपक अवश्य जलाएं। यदि आपके पास दो मुखी दीया नहीं है तो सामान्य दीये में ही दो बाती जलाएं। इस बात पर ध्यान दें कि दीपक शुद्ध घी या तिल के तेल का हो। इससे मां सरस्वती शिक्षा में आ रही बाधाओं को दूर करती हैं और बच्चों की ज्ञान प्राप्ति का आशीर्वाद देती हैं। 

शनिदेव के लिए सरसों के तेल का दीया 

शनिदेव को प्रसन्न करने हेतु सरसों का तेल चढ़ाने जाने की परंपरा है, इसलिए हर शनिवार को शनि मंदिर में जाकर सरसों के तेल का दीया जलाएं। इस उपाय से शनिदेव की कृपा प्राप्त होती है और शनिदेव जीवन में आने वाले समस्त कष्टों को हर लेते हैं। इस उपाय को अपनाने से धन प्राप्ति का मार्ग भी खुल जाता है।

पति की लंबी उम्र के लिए दीया

पति की लंबी उम्र की कामना के लिए पत्नियों को प्रत्येक दिन नियम से एक मुखी गिलोय का दीपक प्रज्ज्वलित करना चाहिए। ऐसा करने से पति को दीर्घायु प्राप्त होती है और पत्नी पर भी ईश्वर की कृपा बनी रहती है।

diya lighting importance bring happiness positivity fulfill wishes inside

राहु-केतु की प्रसन्नता के लिए दीया

राहु और केतु को पापी ग्रह माना गया है। इनके होने से मनुष्य के जीवन में उथल-पुथल मच जाती है, लेकिन इन ग्रहों के प्रसन्न होने से जीवन में सुख-समृद्धि भी आती है। राहू-केतु को प्रसन्न करने के लिए अलसी के तेल का दीया इनके सामने अवश्य जलाएं। भैरव साधना या शत्रु नाश के लिए भी भैरव भगवान की प्रतिमा के सामने सरसों के तेल का चार मुखी दीप प्रज्ज्वलित करें। इससे शत्रुओं का नाश होता है।

यश और कीर्ति के लिए तीन मुखी दीया

गणेश भगवान की कृपा पाने के लिए शुद्ध घी का तीन मुखी दीया नियम से जलाना चाहिए। इससे घर धन-धान्य से भरपूर होगा। मान-सम्मान और यश के लिए सूर्यदेव का प्रसन्न होना आवश्यक है इसीलिए प्रतिदिन घी का दीया सूर्य को अर्घ्य देने के बाद जलाएं।

कानूनी मामलों में जीत के लिए पांच मुखी दीया

अगर आप सालों से अदालत के चक्कर काट रहे हैं और इस कारण मानसिक तनाव में हैं तो प्रतिदिन घर में पांच मुखी दीया जलाएं। माना जाता है कि इससे अदालत के मामलों के हल होने का रास्ता साफ होता है। अगर किसी मुकदमे में जीत की प्राप्ति की कामना है तो पांच मुखी दीपक प्रत्येक दिन जलाएं।

  • Saudamini Pandey
  • Her Zindagi Editorial