UPSC में 28वीं रैंक लाने वाली काजल जावला ने कामयाबी की नई मिसाल कायम की है। शादी के तीन साल बाद उन्होंने यह सफलता हासिल की। समाजसेवा का जज्बा लिए काजल ने आइएएस बनने की ठानी और सफल हुईं। नौकरी के साथ सेल्फ स्टडीज कर काजल ने यह रैंक हासिल की। श्रद्धापुरी फेज दो की रहने वाली काजल जावला इस समय गुरुग्राम में एक मल्टीनेशनल कंपनी में कार्यरत हैं। काजल की शादी साल 2016 में रोहतक निवासी आशीष मलिक से शादी हुई थी। आशीष दिल्ली में अमेरिकी एंबेसी में कार्यरत हैं। घर और नौकरी दोनों में तालमेल बिठाते हुए काजल ने तैयारी जारी रखी और ऑल इंडिया में 28वीं रैंक हासिल कर बचपन के अपने सपने को पूरा किया।

काजल ने 10वीं तक की पढ़ाई सेंट फ्रांसिस कंकरखेड़ा से की थी। 12वीं डीएमए से की। काजल ने मथुरा से इलेक्ट्रानिक कम्युनिकेशन में बीटेक करने के बाद कुछ समय विप्रो में नौकरी की। कई साल से वह गुरुग्राम में कार्यरत हैं। काजल ने पिता और पति की प्रेरणा से अपनी तैयारी को जारी रखा। हर दिन पिता से अपनी तैयारी को लेकर चर्चा करतीं रहीं। शादी से पहले बगैर तैयारी के प्री की परीक्षा पास की थी। इंटरव्यू में जाने के समय उन्हें भरोसा था कि वह सफलता हासिल करेगी। शादी के बाद भी बेटी को आइएएस अफसर बनते देखकर पूरा परिवार खुशी से फूले नहीं समा रहा है।