जब दो लोग एक साथ बतौर कपल रहते हैं तो उनके बीच थोड़ी बहुत नोंक-झोंक होना स्वाभाविक है। दरअसल, उन दोनों की सोच अलग होती है और ऐसे में किसी मु्ददे को लेकर उनके बीच तर्क-वितर्क हो सकता है। लेकिन ऐसे में अपने विचारों को व्यक्त करना और विचारों को साझा करना जरूरी है। कहते हैं कि जिन कपल्स के बीच झगड़ा नहीं होता, उनके बीच का प्यार भी कहीं ना कहीं फीका हो जाता है। ऐसे में कहीं ना कहीं थोड़ा-बहुत लड़ाई-झगड़ा उनके आपसी प्रेम को बढ़ाता है। हालांकि बात नोंक-झोंक होने तक हो ठीक है, लेकिन अगर झगड़े के बीच आप दोनों अपने पार्टनर पर चिल्लाते हैं तो इसका अर्थ है कि आप अपने रिश्ते को सिर्फ और सिर्फ नुकसान ही पहुंचा रहे हैं। हो सकता है कि उस समय चिल्लाकर आप अपनी बात मनवा लें या फिर खुद को सही साबित कर लें, लेकिन इसका हर्जाना आपके रिश्ते को चुकाना पड़ता है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको बता रहे हैं कि पार्टनर पर चिल्लाने से आपका रिश्ता किस तरह खराब होता है-

सिर्फ अपनी बात मनवाना

 partner shouting inside

जब आप अपने पार्टनर पर चिल्ला रही होती हैं, तो इसका मतलब है कि आप चिल्लाने का इस्तेमाल एक हथियार के रूप में करती हैं ताकि पार्टनर आपकी बात सुने। दरअसल, जब कोई हमारी बात नहीं सुन रहा होता है, तो हम अपनी बात को सुनवाने के लिए आवाज उठाते हैं, जो बहुत हानिकारक है। इस स्थिति में आप चिल्लाने की जगह पहले अपने पार्टनर की बात शांति से सुनें। इससे वह भी आपकी बात सुनने में दिलचस्पी रखेंगे। 

गलत शब्दों का प्रयोग

 partner shouting inside

यह अमूमन देखने में आता है कि जब हम अपने पार्टनर पर चिल्लाते हैं तो उस समय हम ऐसे कई शब्दों का इस्तेमाल करते हैं, जो ना सिर्फ पार्टनर के दिल को दुखाती हैं। बल्कि इससे कई बार पार्टनर को इस हद तक बुरा लगता है कि उसका सीधा असर रिश्ते पर होता है। वैसे भी एक रिलेशन में पार्टनर के प्रति सम्मान होना बेहद आवश्यक है।

इसे जरूर पढ़ें: टूटे हुए रिश्ते को दोबारा जोड़ने के यह हैं कुछ आसान उपाय

प्यार कम होना

 partner shouting inside

इस बात में कोई दोराय नहीं है कि जब आप पार्टनर पर चिल्लाती हैं तो ऐसे में आप उन्हें खुद से दूर करती है। दरअसल, अपनी बात को सही साबित करने के लिए चिल्लाने से आप वास्तव में एक क्रोधित इंसान बनती हैं। ऐसे क्षण में आप किसी की बात नहीं सुनना चाहती। तो इस तरह से आप स्वयं को अपने प्रियजन को दूर कर रही हैं।

इसे जरूर पढ़ें: ब्रेस्ट कैंसर का जल्द पता कैसे लगाएं? एक्‍सपर्ट से जानें

Recommended Video

कम्युनिकेशन व अंडरस्टैडिंग नहीं

 partner shouting inside

जिन लोगों को छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा करने व चिल्लाने की आदत होती है, उनके रिलेशन में कम्युनिकेशन व अंडरस्टैडिंग जैसी चीजों की कमी होती है। दरअसल, ऐसे रिश्ते में लोग अपने पार्टनर के गुस्से को देखते हुए उनसे अपनी बात शेयर करने से बचते हैं। इसके अलावा, ना तो वह अपनी बात रख पाते हैं और ना ही पार्टनर की बात समझ पाते हैं। जिससे उनके रिश्ते की नींव ही काफी कमजोर हो जाती है और फिर उनका रिश्ता टूटते देर नहीं लगती।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik