क्या आप हर रविवार की शाम को सिर्फ इसलिए परेशान हो जाती हैं क्योंकि आपको अगले दिन ऑफिस जाना है? क्या आप सुबह न चाहते हुए भी खुद को जबरदस्ती ऑफिस जाने के लिए तैयार करती हैं? क्या आप हर महीने ऑफिस सिर्फ इसलिए जाती हैं ताकि आपकी सैलरी अकांउट में आ जाए? क्या आप ऑफिस टाइम खत्म होने से एक घंटे पहले ही घड़ी देखने लगती हैं? अगर इन सभी सवालों के जवाब हां है तो इसका अर्थ यह है कि आप corporate slave बन गई हैं। ऐसे में आपको खुद को मोटिवेट करने की जरूरत है। दरअसल, अपने करियर की शुरूआत में हम सभी बेहद उत्साह, जोश, मेहनत व लग्न से कार्य शुरू करते हैं। लेकिन धीरे-धीरे जैसे साल बीतने लगते हैं, वह जोश भी ठंडा होने लगता है। फिर एक समय आता है कि हमें अपने रोजमर्रा का काम नीरस लगने लगता है। यही वह वक्त होता है, जब आपको स्वयं को मोटिवेट करने की जरूरत होती है। तो चलिए आज हम आपको उन तरीकों के बारे में बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप अपने ऑफिस में खुद को मोटिवेट कर सकती हैं-

इसे भी पढ़ें: वर्कलाइफ बैलेंस: ऑफिस और घर दोनों मोर्चों पर वर्किंग मॉम के आगे रहने के लिए स्मार्ट टिप्स

करें कमिटमेंट

motivated at work when it seems impossible inside

अगर आप खुद को मोटिवेट करना चाहती हैं तो इसके लिए कमिटमेंट करना सबसे अच्छा उपाय है। हर दिन ऑफिस निकलने से पहले आप खुद से वादा करें कि आज आप काम में अपना बेस्ट देंगी। साथ ही ऑफिस में कुछ नया सीखने की कोशिश करेंगी। भले ही आपको काम करते हुए कई साल हो जाएं, लेकिन फिर भी हर फील्ड में सीखने की गुजांइश होती है। आप हर दिन आने वाले चैलेंजेस से बहुत कुछ सीख सकती हैं।

निकलें कंफर्ट जोन से बाहर

motivated at work when it seems impossible inside

ऑफिस में बोरियत होने का एक सबसे बड़ा कारण कंफर्ट जोन होता है। जब हम एक ही काम को एक तरह से करने के आदी हो जाते हैं तो इससे मन का उत्साह कहीं खो जाता है। इसलिए खुद को कंफर्ट जोन से बाहर निकालें। कोशिश करके नई जिम्मेदारियों को अपने कंधे पर उठाएं। इससे आपको काफी कुछ नया जानने व सीखने को मिलेगा। साथ ही इससे आपका खोया हुआ उत्साह दोबारा लौट आएगा।

सेट करें गोल्स

motivated at work when it seems impossible inside

भले ही आपको ऑफिस की तरफ से जिम्मेदारी दी गई हो, लेकिन फिर भी आप खुद के लिए कुछ गोल्स सेट करें। अक्सर ऑफिस में जो काम अधूरा रह जाता है, हम उसे अगले दिन के लिए छोड़ देते हैं। लेकिन आप हर दिन सुबह एक टू-डू लिस्ट बनाएं और ऑफिस में आपको कितना काम कंप्लीट करना है, उसे तय करें। इससे आपको काम को जल्दी व बेहतर तरह से करने का प्रोत्साहन मिलेगा। साथ ही जब काम समय पर पूरा होगा तो आपको बाद में किसी तरह का तनाव भी नहीं झेलना पड़ेगा।

लें ब्रेक्स

motivated at work when it seems impossible inside

अब जब आपने स्वयं के लिए गोल सेट कर लिया है तो इसका अर्थ यह कतई नहीं है कि आप ऑफिस में लगातार काम करती रहें। ऐसा करने से आपका दिमाग थक जाता है और फिर आपका काम में मन नहीं लगता। इसलिए आप एक काम खत्म करने के बाद एक छोटा सा ब्रेक जरूर लें। इससे आपको खुद को रिफ्रेश करने में मदद मिलेगी।

इसे भी पढ़ें: इन संकेतों से पहचानें कि वर्कस्पेस में आपके साथियों से बढ़ रहे हैं फासले

फीडबैक भी है जरूरी

motivated at work when it seems impossible inside

जब आप कोई काम खत्म करती हैं तो उसके बारे में अपने कलीग या बॉस से जरूर बात करें। अगर आपका काम अच्छा होगा तो आपको सबकी तारीफ मिलेगी, जिसके आपके भीतर एक उर्जा का संचार होगा। वहीं अगर उसमें कुछ गलतियां होंगी तो भी आपको आसानी से पता चल जाएगा और फिर आपको अपनी गलतियों से सीखने का मौका मिलेगा। इससे भी आपको काम को बेहतर तरीके से करने की प्रेरणा मिलेगी। यह ऑफिस में खुद को मोटिवेट करने का एक प्रभावी तरीका है। बस आप इस बात का ध्यान रखें कि आप जिन लोगों से फीडबैक ले रही हैं, वह निष्पक्ष होकर आपके काम के बारे में अपनी राय रखें।