हिमालय की घाटी में फूलों का अद्भुत संसार बसा हुआ है, यही वजह  है कि यहां ऐसे कई फूलों के बागवान है जो आज भी सैलानियों के आकर्षण का केन्द्र है। ये बागवान सालों साल हरे-भरे और अनोखे-अनोखे फूलों के लिए पूरे भारत में प्रसिद्ध माने जाते हैं। लेकिन, पिछले कुछ दिनों से हिमालय में खिलने वाले फूलों में से एक फूल की चर्चा जोरों से हैं। इस फूल का नाम है 'ब्रह्मकमल फूल'। इस फूल को लेकर कई लोग बोल रहे हैं कि इसे देखने का मौका बार-बार नहीं मिलता और ना ही ये सालों भर खिले रहते हैं। तो चलिए आज इस फूल के बारे में और करीब से जानते हैं और ये भी मालूम करते हैं कि क्या खास है इस ब्रह्मकमल फूल में-

साल में सिर्फ एक बार खिलाता है ये फूल 

 

ब्रह्मकमल फूल के बारे में कहा जा रहा है कि ये साल में सिर्फ एक बार ही खिलता है। कुछ लोगों का तो ये कहना है कि ब्रह्मकमल फूल एक ही रात खिलता और अगले दिन मुरझा जाता है। इसे रहस्यमयी ब्रह्मकमल फूल भी कहा जाता है। कहा जाता है कि उत्तराखंड के चमोली इलाके में खिलने वाले ये फूल जुलाई से लेकर अक्टूबर में ही खिलते हैं।

इसे भी पढ़ें: ये जैस्मिन का फूल त्‍वचा पर करेगा जादूई असर, चेहरे पर आएगा गजब का निखार

क्या है मान्यता इस फूल को लेकर 

about brahma kamal flower in uttarakhand inside

कहा जाता है कि ये फूल ब्रह्म देव का प्रिय फूल है। ब्रह्मकमल फूल को भगवान ब्रह्मा जी का आसन भी माना जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हिन्दू मान्यता में ब्रह्मा जी को कमल के फूल पर बैठा दिखाया जाता है वो यहीं फूल है। कई पौराणिक कथाओं में भी इस फूल का जिक्र किया गया है। ऐसा भी कहा जाता है कि रामायण में लक्ष्मण के बेहोश होने के बाद जब ठीक हुए थे तो स्वर्ग से यही फूल बरसाए गए थे। (ये फूल कर सकते हैं कई बीमारियों का इलाज)

Recommended Video

ऊंचाई पर ही होते हैं 

about brahma kamal flower inside

ब्रह्मकमल फूल आमतौर पर हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में पाई जाती है। खास कर ये फूल बेहद ही ऊंचाई वाले जगहों पर खिलते हैं। कहा जाता है कि लगभग 45 हज़ार मीटर से अधिक की ऊंचाई पर ही दिखता है ये फूल। कई लोगों का ये भी कहना है कि ये फूल किसी औषधि से कम नहीं है।


इसे भी पढ़ें: होम डेकोर को स्पाइसअप करने के लिए यूं सजाएं फ्लावर पॉट

तिब्बत में भी मिलते हैं 

about brahma kamal flower in uttarakhand inside

कहा जा रहा है कि भारत के अलावा तिब्बत में भी इस इसी तरह के मिलते-जुलते फूल मिलते हैं। ये भी कहा जा रहा है कि हिमाचल और उत्तराखंड में इसकी खेती भी होने लगी लगी। इसी तरह नील कमल, फेन कमल को भी एक रहस्यमयी फूल माना जाता है। (गेंदे के फूल से बने फेस मास्‍क)   

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit:(@uttarakhandtriptrek.com,upload.wikimedia.org,1.treknature.com)