• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial

यह छोटी-छोटी आदतें सच में बनाती हैं आपको एक स्ट्रांग और हैप्पी वुमन

अगर आप सच में एक स्ट्रांग और हैप्पी वुमन बनना चाहती हैं तो इन हैबिट्स को अपनी लाइफ का हिस्सा बनाएं। 
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial
Published -30 Jan 2022, 12:00 ISTUpdated -29 Jan 2022, 15:34 IST
Next
Article
how to be a strong woman

आज के समय में महिला सशक्तिकरण को लेकर तरह-तरह की बातें होती हैं। यह सच है कि अब पहले की तुलना में महिलाओं की स्थिति में काफी बदलाव आया है। अब महिलाएं हर क्षेत्र में अपनी उपस्थिति दर्ज करवा रही हैं और अपनी काबिलियत का लोहा मनवा रही हैं। लेकिन महज इसे ही एक स्ट्रांग महिला ही पहचान के रूप में नहीं देखा जा सकता।

आप वास्तव में तभी एक स्ट्रांग महिला बनती हैं, जब आप खुद को भीतर से अधिक खुश महसूस करें। कभी-कभी यह देखने में आता है कि महिलाएं अपनी क्षमताएं साबित करने के चक्कर में इस हद तक पिसती जाती हैं कि वह खुद को भीतर से काफी कमजोर व दुखी महसूस करने लगती हैं। जब आप खुद से खुद ही खुश ना हो तो आप एक स्ट्रांग महिला कैसे बन सकती हैं। सच में एक स्ट्रांग वुमन बनने के लिए आपको अपनी लाइफ में कुछ आदतों को अपनाने की आवश्यकता है, जिसके बारे में आज हम आपको इस लेख में बता रहे हैं-

परफेक्ट बनने की आदत छोड़े

एक महिला से यह उम्मीद की जाती है कि वह हर चीज में परफेक्ट हो। एक परफेक्ट पत्नी, एक परफेक्ट बहू, एक परफेक्ट मां और एक परफेक्ट इम्पलॉय। महिलाएं भी बिना सोचे-समझे इसी रास्ते पर आगे बढ़ती जाती है। लेकिन परफेक्शन कब उनके लिए एक बोझ बन जाता है, उन्हें पता भी नहीं चलता। ऐसे में वह खुद ही परेशान रहने लगती हैं और एक गिल्ट में जीवन जीती हैं। लेकिन अब आपको परफेक्ट बनने की आदत छोड़ देनी चाहिए और थोड़े इम्पेरफ़ेक्शन के साथ जीवन जीएं। यकीन मानिए, आप खुद को पहले से अधिक खुश महसूस करेंगी। जो काम आप नहीं करना चाहतीं या फिर आपको नहीं आता है, उसके लिए मना करने में हिचके नहीं। ना कहना भी कहीं ना कहीं आपके स्ट्रांग होने की निशानी है। (जिंदगी को आसान बनाने के कुछ तरीके)

happy and strong

खुद के लिए रखती हैं खुद का ख्याल

अधिकतर महिलाएं अपना पूरा जीवन सिर्फ और सिर्फ दूसरों की केयर करने में अपना पूरा जीवन बिता देती हैं। लेकिन जो महिलाएं सच में स्ट्रांग होती हैं, वह दूसरों के साथ-साथ खुद का ख्याल रखने की कीमत भी जानती हैं। वह हर उस चीज को करना पसंद करती हैं, जिससे उन्हें खुशी मिले। एक स्ट्रांग महिला खुद पर भी पैसे खर्च करने की हिम्मत रखती है। साथ ही साथ, वह यह सब किसी दूसरे के लिए नहीं करती हैं, बल्कि खुद ही खुशी के लिए ऐसा करना पसंद करती हैं। मसलन, कभी-कभी खुद की खुशी के लिए घर पर होते हुए भी वह मेकअप करती हैं या फिर अपनी बॉडी को पैम्पर करती हैं। यह छोटी-छोटी चीजें उन्हें खुद का महत्व समझाती हैं। (तनाव और थकान को ऐसे करें दूर)

storng and happy woman

दूसरों की बातों को दिल पर ना लेना

आज के समय में ऐसे लोगों की कमी नहीं है, जो हमेशा ही दूसरों के काम में कमी निकालते रहते हैं। आपको भी अपने आस-पास ऐसे कई लोग मिल जाएंगे। आमतौर पर, लोग ऐसा अपनी कमी छिपाने या फिर दूसरों की काबिलियत से जलकर भी करते हैं। इसलिए, अगर आप एक स्ट्रांग और हैप्पी वुमन बनना चाहती हैं तो आपको दूसरों की अनावश्यक बातों को दिल पर लेने की आदत छोड़ देनी चाहिए। जब तक आप पर दूसरों की नेगेटिव बातों का असर होता रहेगा, आप कभी भी खुद से खुश नहीं रह पाएंगी। इसलिए सुनें सबकी, लेकिन करें अपने मन की।

Recommended Video

टॉक्सिक लोगों की नो एंट्री 

आपके आसपास जो भी लोग होते हैं, उनकी ऊर्जा कहीं ना कहीं आप पर अपना प्रभाव डालती ही है। इसलिए, अगर आपके करीबियों में कोई ऐसा है, जो आपकी लाइफ को अधिक नेगेटिव व टॉक्सिक बना रहा है तो आपको ऐसे लोगों से दूरी बनाने से घबराना नहीं चाहिए। एक हैप्पी लाइफ जीने के लिए यह बेहद ही आवश्यक है। हो सकता है कि शुरूआत में यह आपके लिए थोड़ा कठिन व दर्दनाक हो। लेकिन कुछ वक्त बाद आप यकीनन खुद को अधिक हैप्पी व स्ट्रांग महसूस करेंगी।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit- freepik

 
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।