विद्या अपनी फिल्मों में अलग किरदारों के लिए जानी जाती हैं। हाल ही में रिलीज उनकी फिल्म ‘शेरनी’ को काफी पॉजिटिव रिस्पांस मिला है। फिल्म ‘शेरनी’ से पहले भी उन्होंने कई दमदार किरदार निभाए हैं, जिसे लोगों ने काफी पसंद किया। हिंदी सिनेमा में वर्सटाइल एक्टिंग के लिए जानी जाने वाली विद्या महिलाओं के लिए एक इंस्पिरेशन हैं। वह अपनी फिल्मों से लोगों का ना सिर्फ मनोरंजन करती हैं, बल्कि उन्हें एक खास संदेश भी देती हैं। वह अक्सर महिला सशक्तिकरण और कई सामाजिक मुद्दों पर अपनी बात खुलकर रखती नजर आईं हैं।

बता दें कि कुछ दिन पहले ही उन्हें एकेडमी अवार्ड की चयन समिति में शामिल किया गया है। अब हाल ही में उन्हें भारतीय सेना ने सम्मानित किया है। छोटे पर्दे से अपने करियर की शुरुआत करने वाली विद्या बालन दो दशक से बॉलीवुड में एक्टिव हैं।

विद्या बालन के नाम पर रखा गया रेजिमेंट का नाम

vidya balan regiment

हिंदी सिनेमा में उनके अहम योगदान को देखते हुए हाल ही में भारतीय सेना ने उन्हें सम्मानित किया है। दरअसल गुलमर्ग में एक्ट्रेस के नाम पर एक सैन्य फायरिंग रेंज को 'विद्या बालन फायरिंग रेंज' नाम दिया गया है। बता दें कि साल के शुरुआत में विद्या बालन और उनके पति सिद्धार्थ रॉय कपूर के साथ इंडियन आर्मी द्वारा आयोजित गुलमर्ग विंटर फेस्टिवल में शिरकत करती दिखाई दी थीं। इसकी जानकारी सोशल मीडिया पर दी गई है, हालांकि विद्या बालन ने खुद इस बारे में कोई पोस्ट शेयर नहीं की है। अब तक विद्या बालन ने अपनी फिल्मों के जरिए कई उपलब्धियां हासिल की हैं। अब इस लिस्ट में यह भी जुड़ गया है। वहीं अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुकी विद्या बालन इन दिनों अपनी नई फिल्म की तैयारी में बिजी चल रही हैं।

इसे भी पढ़ें: मधुबाला नहीं ये एक्ट्रेस थी दिलीप कुमार का पहला प्यार, जिसकी वजह से बन गए थे ट्रेजडी किंग

कई बार झेल चुकी हैं रिजेक्शन

vidya balan career

भले ही बॉलीवुड में अब उनकी एक्टिंग की तारीफ की जाती है, लेकिन एक वक्त था जब उन्हें इंडस्ट्री में काम नहीं मिल रहा था। एक्ट्रेस ने इंडस्ट्री में सफल होने से पहले कई सालों तक स्ट्रगल किया। एक ऐसा भी वक्त आया जब उन्हें कोई फिल्म में कास्ट करने के लिए तैयार नहीं था। बार-बार मिल रहे रिजेक्शन से वह काफी परेशान हो गई थीं, यही नहीं रात में वह सोते वक्त रोने लगती थीं। उन्हें लगने लगा था कि वह अब कभी एक्ट्रेस नहीं बन पाएंगी। अनुपम खेर का टीवी शो ‘कुछ भी हो सकता है’ में विद्या बालन ने बताया कि शुरुआत में उन्होंने 12 फिल्में साइन की थीं, लेकिन एक के बाद एक फिल्मों से उन्हें किसी ना किसी वजह से हाथ धोना पड़ा। इसका असर उनके करियर पर भी पड़ा, साथ ही उन्हें काफी धक्का भी लगा। फिल्ममेकर्स उन्हें मनहूस समझने लगे थे। इसकी वजह से उन्हें कोई कास्ट नहीं करता था।

इसे भी पढ़ें:बिजनेस में आए सबसे छोटे अंबानी, जानें अनंत अंबानी के बारे में कुछ फैक्ट्स

Recommended Video

विद्या बालन की पहली सैलरी थी सिर्फ 500 रुपये

vidya balan first salary

विद्या बालन ने टीवी सीरियल हम पांच से करियर की शुरुआत की थी, लेकिन उससे पहले वह कई ऐड में नजर आ चुकी थीं। उन्होंने पहले टूरिज्म के लिए एक कैंपेन किया था, जिसके लिए उन्हें 500 रुपये मिले थे। फिल्म शेरनी के प्रमोशन के दौरान विद्या ने यह जानकारी टाइम्स नाउ को दी थी। उन्होंने इंटरव्यू में बताया कि ''उस वक्त मैं, मेरी दोस्त और भाई सभी को 500 रुपये मिले थे और इसके लिए हमें बस एक पेड़ के पास खड़े होकर मुस्कुराना था।" बता दें कि फिल्म शेरनी में विद्या बालन का किरदार एक वन विभाग अधिकारी था। इस फिल्म में उनके साथ विजय राज, नीरज काबी, और शरत सक्सेना जैसे एक्टर्स शामिल थे।

विद्या बालन से जुड़ी यह जानकारी कैसी लगी, इसे शेयर और कॉमेंट कर जरूर बताएं। साथ ही, इसी तरह की अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी के साथ।