• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

घर के मंदिर में तुलसी के पत्ते रखने के ये 4 जरूरी नियम जान लें

घर के मंदिर में तुलसी के पत्ते रखने से पहले जरूर पढ़ लें ये जरूरी नियम। 
author-profile
Published -27 Jul 2022, 15:43 ISTUpdated -27 Jul 2022, 15:51 IST
Next
Article
Tulsi Ke Upay tips

तुलसी को हिंदू धर्म में बहुत ही पवित्र माना गया है। ऐसी मान्‍यता है कि तुलसी देवी लक्ष्मी का स्वरूप हैं और इसलिए उन्‍हें भगवान विष्णु को प्रिय माना गया है। आमतौर पर सभी हिंदू घरों में तुलसी का पौधा होता जरूर होता है। साथ ही बहुत सारे घरों में मंदिर में तुलसी के पत्ते रखे जाते हैं। 

हम आपको घर में तुलसी का पौधा रखने के नियम पहले ही बता चुके हैं। आज हम आपको घर के मंदिर में तुलसी के पत्ते रखने के कुछ विशेष नियम बताने वाले हैं। यह नियम हमें एस्ट्रोलॉजी एवं न्यूमेरोलॉजिस्ट डॉक्टर शेफाली गर्ग ने बताए हैं। 

शेफाली जी कहती हैं, 'तुलसी को घर के मंदिर में रखने से पहले कुछ बातों का आपको ध्यान जरूर रखना चाहिए, क्योंकि यह बहुत पवित्र मानी गई है और तुलसी का अपमान यानि देवी लक्ष्मी का अपमान माना गया है।'

इसे जरूर पढ़ें- घर की इन 5 जगहों पर भूलकर भी न रखें तुलसी का पौधा, हो सकते हैं कंगाल

rules to keep tulsi leaf at puja room

मंदिर में कितनी तुलसी की पत्तियां रखनी चाहिए? 

शेफाली जी कहती हैं, 'यदि आप केवल 2 तुलसी की पत्ती भी मंदिर में रखते हैं, तो भी यह शुभ माना गया है। मगर धार्मिक लिहाज से मंदिर में तुलसी दल रखने का नियम हैं। हमेशा 7 तुलसी दल घर के मंदिर में जरूर रखना चाहिए।' 

कितनी दिन पुरानी तुलसी को मंदिर में रखा जा सकता है? 

तुलसी की पत्ती कितनी भी पुरानी हो जाए उसकी पवित्रता कम नहीं होत है। मगर 15 दिनों तक आप तुलसी की पत्तियां और दल को भगवान के पास रखे रहने दे सकते हैं। 15 दिन बाद आप इन्‍हें बदल लें। इस बात का भी ध्‍यान रखें कि यदि तुलसी दल सूख गया है या फिर खंडित हो गया है, तो उसे तुरंत ही मंदिर से हटा दें। पूरानी तुलसी का पाउडर बना कर आप उसका सेवन कर सकते हैं। मगर ज्यादा तुलसी न खाएं क्योंकि यह गर्म तासीर की होती है। 

इसे जरूर पढ़ें- इन 5 गलतियों से मर सकता है आपका तुलसी का पौधा

important rules to keep tulsi leaf at puja room

कैसी तुलसी मंदिर में रखें?  

तुलसी के कई प्रकार होते हैं, मगर मंदिर में केवल श्यामा और रामा तुलसी ही रखी जाती है। इनके पत्‍तों पर भी गौर कर लें, यदि पत्तों में कीड़े लगे हैं या फिर वह कटे फटे हैं तो उन्हें न रखें।

किन पर चढ़ती हैं तुलसी? 

शेफाली जी कहती हैं, 'तुलसी श्री कृष्ण पर विशेष रूप से चढ़ती हैं, मगर गणेश जी, शिव जी आदि पर तुलसी के पत्‍तों और दल को नहीं चढ़ाया जाता है।' दरअसल तुलसी को भगवान विष्णु की पत्‍नी माना गया है, इसलिए शिव जी पर तुलसी बिलकुल भी नहीं चढ़ाई जाती है। 

उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।   

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।