क्या आपका बच्चा अन्य व्यक्तियों से बात करने में घबराता है? क्या बातचीत के दौरान वह आई कॉन्टैक्ट बनाने से डरता है या फिर अटक-अटककर बोलता है? क्या आपका बच्चा पेट में दर्द जैसी शारीरिक समस्याओं की शिकायत करता है और स्कूल, फील्ड ट्रिप या पार्टियों की बजाय हमेशा घर में रहना चाहता है? अगर ऐसा है तो यह बच्चों में सोशल एंग्जाइटी का संकेत हो सकता है। आज के समय में सोशल एंग्जाइटी बच्चों में एक बेहद कॉमन प्रॉब्लम है, जिसके कारण बच्चों का माइंडसेट ग्रोथ होने में प्रॉब्लम होती है।

यह एक मुख्य कारण है कि बच्चे असफल होने या गलतियाँ करने से डरते हैं। वे दूसरों को Let Down करने से डर सकते हैं या फिर उन्हें ऐसा लगता है कि वे दूसरों के सामने शर्मिंदा होंगे, जिसके कारण वह कोशिश तक भी नहीं करते। इस सोशल एंग्जाइटी के कारण अक्सर बच्चे नई चीजों को सीखने व रिस्क लेने से भी घबराते हैं।

ऐसे में वह अपनी पूरी क्षमताओं का इस्तेमाल करके खुद को एक अच्छी ग्रोथ नहीं दे पाते हैं। तो चलिए आज हम आपको बच्चों में सोशल एंग्जाइटी की समस्या को दूर करने के कुछ आसान टिप्स के बारे में बता रहे हैं-

रहें सकारात्मक

how to reduce social anxiety in kids positivity

अगर मन में पॉजिटिविटी हो तो इससे बड़ी से बड़ी समस्या को सुलझाया जा सकता है। ऐसे में आप भी बच्चे की सोशल एंग्जाइटी को पॉजिटिविटी के साथ हैंडल कर सकती हैं। मसलन, अगर आप बच्चे के व्यवहार (शरारती बच्चा के लिए पेरेंटिंग टिप्स) या दूसरों के साथ बातचीत की आलोचना न करें। बल्कि इसकी जगह आप उसके द्वारा किए गए अच्छे कार्यों के लिए सराहना करें और उसे सेलिब्रेट करें। इससे उनका आत्मविश्वास बढ़ने लगेगा।

डीप ब्रीदिंग

how to reduce social anxiety in kids deep breathing

अगर आपने कभी नोटिस किया हो तो जब भी आप चिंता में होते हैं या फिर आपको मन ही मन घबराहट होती है तो ऐसे में डीप ब्रीदिंग से यकीनन आपको रिलैक्स महसूस होता होगा। आप इसी तकनीक का सहारा बच्चों की सोशल एंग्जाइटी को दूर करने के लिए भी कर सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें- Yoga for Kids: बच्‍चों का ब्रेन होगा सुपर एक्टिव अगर रोजाना करेंगे योग

आप हर दिन बच्चों के साथ डीप ब्रीदिंग व प्राणायाम आदि का अभ्यास कर सकती हैं। इससे बच्चों का मन काफी शांत होता है। साथ ही सोशल एंग्जाइटी भी कम होती है।

रोल प्ले

how to reduce social anxiety in kids role play

यह एक बेहतरीन तरीका है बच्चों में सोशल एंग्जाइटी को दूर करने का। यह तो हम सभी जानते हैं कि बच्चे जीवन में कई चीजें खेलते-खेलते सीख जाते हैं। ऐसे में आप उनकी प्रॉब्लम्स को दूर करने के लिए गेमिंग का सहारा लें। इसके लिए आप रोल प्ले की मदद ले सकती हैं। आप अलग-अलग कास्ट्यूम, प्रॉप्स आदि की मदद से रोल प्ले करें। इससे उनके मन की घबराहट काफी हद तक दूर होती है और फिर वह लोगों से सोशलाइज होने में अधिक सहज महसूस करते हैं।

आउटडोर गेम्स

how to reduce social anxiety in kids games

आउटडोर गेम्स जैसे रनिंग, स्विंगिंग, व गेम प्ले करने से बच्चे केवल फिजिकली एक्टिव नहीं बनते, बल्कि इससे उन्हें अन्य भी कई लाभ होते हैं। मसलन, इससे उनकी सोशल एंग्जाइटी काफी कम होती है।

इसे जरूर पढ़ें- रात में दोस्तों के साथ करनी है मस्ती, खेलें यह मजेदार गेम्स

आउटडोर गेम खेलते हुए वह नए बच्चों व नए लोगों से मिलते हैं। शुरूआत में यह भले ही उन्हें अनकंफर्टेबल लगे, लेकिन कुछ वक्त उनकी सोशल एंग्जाइटी धीरे-धीरे कम होती है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।