जैसे-जैसे बच्चे बड़े होते हैं पेरेंट्स कोशिश करते हैं कि वह अपने बच्चों के दोस्त बन सकें। ताकि बच्चे उनसे  अपने मन की हर बात शेयर कर सकें। लेकिन क्या सच में ऐसा हो पाता है? क्या पेरेंट्स अपने बच्चों के हमराज बन पाते हैं। शायद बहुत कम लोग ऐसे होते हैं जिनको अपने बच्चों से जुड़ी हर बात पता हो। ज्यादातर बच्चे अपने पेरेंट्स को हर बात का जवाब नहीं देते। वास्तव में पेरेंट्स चाह कर भी अपने बच्चों की पर्सनल लाइफ में जब तक एंट्री नहीं ले पाते जब तक कि उनका बच्चा न चाहे। हम जानते हैं कि तकरीबन सभी पेरेंट्स बच्चों के दोस्त बनकर उनकी ज़िन्दगी का हिस्सा बनना चाहते हैं। अगर आप भी ऐसे ही पेरेंट्स में से एक हैं तो आप इन टिप्स की मदद से अपने बच्चे के साथ के अच्छा रिलेशन बना सकते हैं। 

टीनेज की बातें शेयर करें 

Tips To Open Up Your Teenager inside

अगर आप चाहते हैं की आपका बच्चा आपसे अपने मन की हर बात बताए तो इसके लिए आपको पाने कुछ सीक्रेट उसके साथ शेयर करने होंगे। इससे बच्चे का विश्वास आपकी तरफ बढ़ेगा। आप अपने टीनेज की कोई ऐसी बात बताएं जो आपकी लाइफ का सीक्रेट रही और उसके क्या रिजल्ट आपको झेलने पड़े। कुछ ऐसी बातों को सुनकर आपका बच्चा धीरे-धीरे आपसे खुलने लगेगा।   

इसे भी पढ़ें: Parenting Tips: इन टिप्स की मदद से टीनेजर्स को दें इमोशनल सपोर्ट

Recommended Video


बच्चे को डांटे नहीं 

अगर आपका बच्चा बातों-बातों में गुस्सा होकर आपसे कुछ कह देता है तो उसको डांटें नहीं। क्योंकि गुस्से में ही सही उसकी वास्तिविक भावनाएं आपके सामने जाहिर तो होंगी। अगर आप बात कह रहे हैं और उसका कोई बहुत अटपटा सा जवाब मिलता है तब भी अपने गुस्से को काबू में रखें। आपके पॉजीटिव एटीट्यूड से आप बच्चे का विश्वास जीत सकते हैं।  

इसे भी पढ़ें: टीनएजर्स रखेंगी अपनी डाइट का ख्याल, तो हमेशा रहेंगी हेल्‍दी

अपनी कमियां दिखाएं 

Tips To Open Up Your Teenager inside

हम तुम्हारी उम्र में ऐसा करते थे। हमने कभी चीटिंग नहीं की। हमको कभी भी स्कूल में पनिशमेंट नहीं मिला। ज्यादातर पेरेंट्स अपने बच्चों को अपना अच्छाई वाला पार्ट ही दिखाते हैं। हो सकता है कि आप सच में ऐसे रहे हो और अपने बच्चे के रोल मॉडल भी हैं। लेकिन यह भी सच है कि गलतियां तो इंसान से बौधापे में भी हो जाती हैं। आप अपने बच्चे को अपनी कामों वाला पार्ट भी दिखाएं। जैसे कि अपने मोबाईल का कोई फंक्शन आपको समझ नहीं आ रहा है। अपने बच्चे से मदद लीजिए। उसके साथ कुछ ऑनलाइन गेम्स खेलिए। जिससे वह आपके साथ फ्रेंडली होकर बात करने लगेगा।  टीनेज में कौन-कौन से बदलावों का होता है अनुभव, जानें

इस तरह कुछ बातों को ध्यान में रखकर और अपने पेरेंट्स वाले दायरे से बाहर आकर आप उसके साथ एक रिश्ता बनाने की कोशिश करें। धीरे धीरे आपका बच्चा आपसे खुलने लगेगा और शायद आपको अपना हमराज भी बना लें।

Image Credit:(@freepik)