हम आए दिन देश में ऐसे कई किस्से सुनते हैं, जिसमें महिलाओं के साथ कुछ न कुछ भयानक हादसों का पता चलता है। किसी भी मामले में महिलाओं का देर शाम बाहर रहना खतरे से खाली नहीं है और यह बात अभी हाल ही में हुई एक घटना से पता चली। हरियाणा के गुड़गांव में एक महिला ने ट्विटर पर आपबीती सुनाई है, जिसे पढ़कर लोग हैरत में पड़ गए हैं।

अपने ट्विटर में महिला ने बताया कि एक ऑटोरिक्शा चालक ने उनका अपहरण का प्रयास किया, जिसके चलते उन्हें अपनी जान बचाने के लिए चलते ऑटो से छलांग लगानी पड़ी। अपने साथ हुए इस खौफनाक वाक्या को बताते हुए उन्होंने ट्वीट कर बताया, 'खो जाने से बेहतर था अपनी हड्डियां टूटवाना'...। सोचिए यह कितनी भयंकर घटना है, जो दिल्ली के पास घटी। आपको बता दें कि महिला एकदम सुरक्षित हैं और उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस स्टेशन में भी की है। लेकिन यह घटना कैसे घटी और उनके साथ क्या हुआ, आइए इस मामले को विस्तार से जानें।

क्या हुआ था उस महिला के साथ?

पेशे से कम्यूनिकेशन एक्सपर्ट और गुडगांव की रहने वाली एक महिला जिनका नाम निष्ठा है, ने ट्विटर पर कई सारे ट्वीट किए हैं। अपने पोस्ट में निष्ठा ने बताया कि उनके साथ यह घटना गुड़गांव सेक्टर-22 में हुई, जो उनके घर से सिर्फ 7 मिनट की दूरी पर है। उन्होंने ट्वीट अपनी आपबीती बताते हुए लिखा कि कैसे उनके चालक ने ऑटो को जान-बूझकर गलत रास्ते पर मोड़ लिया और एक अनजानी सड़क की ओर दौड़ाने लगा। जब उन्होंने उसका विरोध किया, तो भी उसने कोई जवाब नहीं दिया। डरी हुई निष्ठा को अपनी जान बचाने के लिए ऑटो से कूदना पड़ा।

ट्विटर पर सुनाई आपबीती

महिला ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'कल मेरे जीवन के सबसे डरावने दिनों में से एक था क्योंकि मुझे लगता है कि मेरा लगभग अपहरण कर लिया गया था। मुझे नहीं पता कि यह क्या था, लेकिन मुझे यह सोचकर अभी भी कंपन हो रही है। दोपहर 12:30 बजे, मैंने ऑटो स्टैंड से एक ऑटो लिया मेरे घर के लिए एक व्यस्त बाजार सेक्टर 22 (गुड़गांव) में जो 7 मिनट की दूरी पर है। मैंने ऑटो ड्राइवर से कहा कि मैं पेटीएम करूंगा क्योंकि मेरे पास कैश नहीं है और उसके सेटअप को देखकर ऐसा लग रहा था कि वह उबर के लिए ड्राइव करता है, मुझे लगा कि वह इसके साथ जाना ठीक रहेगा। वह मान गया और मैं ऑटो में बैठ गई। वह भक्ति संगीत सुन रहे थे। एक एक टी पॉइंट पर पहुंचते ही, जहां से उसे मेरे सेक्टर के लिए दाएं लेना था, उसने अचानक बाएं लिया। मैंने उससे पूछा कि आप बाएं क्यों ले जा रहे हैं? मगर उसने नहीं सुना, इसके बजाय उसने भगवान का नाम लेकर चिल्लाना शुरू कर दिया (मैं उसके मजहब के बारे में नहीं बोल रही, क्योंकि यह किसी धर्म से संबंधित नहीं है)।'

इसे भी पढ़ें :पेट्रियाकल रूढ़ियों को तोड़ अपनी बीवी के पैर छू रहे एक दूल्हे का वीडियो हुआ वायरल

जब नहीं रुका ऑटोरिक्शा तो...

auto rikshaw incident in gurgaon

निष्ठा ने आगे ट्वीट किया, 'मैं जोर से चिल्लाई- 'भैया, मेरा सेक्टर राइट में था आप लेफ्ट लेकर क्यों जा रहे हो।' उसने कोई जवाब नहीं दिया। मैंने उसके बाएं कंधे पर 8-10 बार मारा, लेकिन वो फिर भी नहीं रुका। मेरे दिमाग में एक ही विचार आया कि बाहर कूद जाऊं। उस वक्त ऑटो की स्पीड 35-40 किमी प्रतिघंटा होगी और इससे पहले कि वह और तेज करता, मेरे लिए उस ऑटो से बाहर कूदना ही एकमात्र ऑप्शन था। मुझे लगा कि टूटी हुई हड्डियां मेरा अपहरण होने से बेहतर हैं। और मैं चलती ऑटो से बाहर कूद गई! मुझे नहीं पता कि मुझमें कहां से ऐसी हिम्मत आई।'

क्या है कहती है पुलिस?

आपको बता दें कि इस घटना के बारे में पुलिस को पता चलते ही, पुलिस ने जांच-पड़ताल शुरू कर दी है। गुड़गांव (इस बार वीकेंड में घूम सकते हैं गुरुग्राम के पास ये 5 जगहें) के पालम विहार के एक पुलिस अधिकारी जितेंद्र यादव ने कहा है कि वह उस ऑटोरिक्शा चालक का पता लगा लेंगे। निष्ठा बहुत घबरा गई थी और इसलिए ऑटोरिक्शा का नंबर नोट नहीं कर पाई। ऐसे में पुलिस उक्त ड्राइवर का पता लगाने के लिए इलाके के सीसीटीवी फुटेज का इस्तेमाल करेगी।

इसे भी पढ़ें :video: प्रेशर कुकर में भी बन सकती हैं रोटियां, इस वीडियों में देखें रोटी पकाने का ये एडवांस तरीक़ा

ट्विटर पर लोगों की राय

निष्ठा ने जबसे इस बात को ट्विटर पर शेयर किया है, तब से काफी लोगों ने इस पर अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। इसके साथ कई महिलाओं ने अपने साथ हुए ऐसे ही किस्सों को शेयर भी किया। कई सारे लोगों ने ऑटो का नंबर हमेशा अपने पास रखने की सलाह दी, तो साथ ही निष्ठा के सुरक्षित होने पर खैर जताया। लोगों ने उनकी हिम्मत की भी दाद दी और ऑटोरिक्शा चालक के प्रति काफी आक्रोश जताया।

अगर आप ऐसी किसी स्थिति में फंस जाएं तो क्या करना चाहिए?

travelling alone tips

अगर आप ऐसी किसी स्थिति में फंस जाएं, तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। जब भी आप अकेली बाहर ट्रैवल कर रही हैं, तो इन टिप्स का ध्यान रखें-

  • जब भी घर से बाहर निकलें, तो अपने प्लान के बारे में 2-3 लोगों को जरूर बताएं।
  • किसी ऑटो या टैक्सी में बैठने पहले उसका नंबर लेकर अपने दोस्तों के ग्रुप में जरूर शेयर करें।
  • अपने फोन में जीपीएस लोकेशन हमेशा ऑन रखें और उसे 1-2 लोगों के साथ शेयर करें। 
  • रात को बाहर निकल रही हैं, तो फैमिलियर जगहों से ही ट्रैवल करें, किसी अनजाने रास्ते पर जाने से बचें।

इस घटना के बारे में आपकी क्या राय है हमें जरूर बताएं। अगर यह लेख पसंद आया तो इसे लाइक और शेयर करें। ऐसे अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।