• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

Gayatri Jayanti 2022 : जानें कब मनाई जाएगी गायत्री जयंती, पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व

सनातन धर्म में माता गायत्री के पूजन का विशेष महत्व बताया जाता है और उनके अवतरण दिवस के दिन पूजन मुख्य रूप से फलदायी माना जाता है।
Published -02 Jun 2022, 14:32 ISTUpdated -02 Jun 2022, 15:08 IST
author-profile
  • Samvida Tiwari
  • Editorial
  • Published -02 Jun 2022, 14:32 ISTUpdated -02 Jun 2022, 15:08 IST
Next
Article
gayatri jayanti mahatv

हिंदू धर्म में सभी देवी देवताओं का बहुत ज्यादा महत्व है और सभी भगवानों की पूजा का फल भी अलग होता है। जैसे देवताओं की पूजा करना शुभ फल देता है वैसे ही सभी देवियों की पूजा करने से भी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है। उन्हीं देवियों में से एक हैं गायत्री माता। उन्हें वेदों की देवी कहा जाता है और उनका पूजन बड़े ही विधि विधान से किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि मां गायत्री का पूजन करने से व्यक्ति की बुद्धि तीव्र होती है और मन मस्तिष्क पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

गायत्री माता का पूजन मुख्य रूप से उनकी जयंती के दिन करने की सलाह दी जाती है और इस दिन किया गया पूजन व्यक्ति को सद्बुद्धि देता है। सभी वेदों की देवी होने की वजह से माता गायत्री को वेद माता के नाम से भी जाना जाता है। सनातन धर्म में गायत्री जी के अवतरण  कि गायत्री जयंती का विशेष महत्व बताया गया है। यह हर साल ज्येष्ठ महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को मनाई जाती है। आइए ज्योतिर्विद पं रमेश भोजराज द्विवेदी जी से जानें इस साल कब मनाई जाएगी गायत्री जयंती और इसका क्या महत्व है।

कौन हैं मां गायत्री

gayatri mata jayanti

ऐसा माना जाता है कि देवी गायत्री भगवान् ब्रह्म के सभी अभूतपूर्व गुणों की अभिव्यक्ति हैं। उन्हें त्रिमूर्ति की देवी के रूप में भी भी पूजा जाता है। मां गायत्री को सभी देवताओं की माता होने के साथ और देवी सरस्वती, देवी पार्वती और देवी लक्ष्मी का स्वरुप माना जाता है। उनका पूजन वेदों की देवी के रूप में किया जाता है। गायत्री जयंती ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की एकादशी, जिसे निर्जला एकादशी कहा जाता है उस दिन ही मनाई जाती है और यह गंगा दशहरा के अगले दिन होती है। ऐसी मान्यता है कि मां गायत्री ने इसी तिथि में अवतार लिया था। कई जगह श्रावण पूर्णिमा के दौरान भी माता गायत्री के अवतरण के रूप में मनाया जाता है।

गायत्री जयंती की तिथि

  • इस साल 2022 में गायत्री जयंती, ज्येष्ठ महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन 11 जून, शनिवार को मनाई जाएगी।
  • गायत्री जयंती तिथि आरंभ - 10 जून, शुक्रवार प्रातः 07 बजकर 25 मिनट पर
  • गायत्री जयंती तिथि की समापन -11 जून, शनिवार प्रात: 05 बजकर 45 मिनट पर
  • चूंकि उदयातिथि के अनुसार गायत्री जयंती की तिथि 11 जून, शनिवार को है, इसलिए इसी दिन माता गायत्री का पूजन फलदायी होगा।

गायत्री जयंती का महत्व

gayatri pujan vidhi

शास्त्रों के अनुसार गायत्री जयंती उस दिन होती है जब ऋषि विश्वामित्र ने पहली बार गायत्री मंत्र का उच्चारण किया था। कुछ लोगों का यह भी मानना था कि वेदों की माता देवी गायत्री उसी दिन पृथ्वी पर प्रकट हुई थीं। गायत्री मंत्र की सर्वोच्चता हिंदू धार्मिक शास्त्रों और पुराणों में वर्णित है। इस मंत्र की महानता वैदिक काल से जानी जाती है। किंवदंतियों के अनुसार, देवी गायत्री देवियों में सर्वोच्च देवी हैं और उन्हें देवी मां के रूप में भी पूजा जाता है। ऐसी मान्यता है कि देवी गायत्री ने अपने भक्तों को सभी आध्यात्मिक और सांसारिक सुख प्रदान किए। इसके साथ ही गायत्री मंत्र व्यक्ति को सभी पापों से मुक्त करता है। जो व्यक्ति नियमित मां गायत्री का पूजन और गायत्री मंत्र का उच्चारण करता है उसे ज्ञान की प्राप्ति होती है और मनोकामनाओं की पूर्ति होती है।

Recommended Video

गायत्री जयंती की पूजा विधि

how to perform gayatri puja

  • ज्योतिष के अनुसार गायत्री जयंती के दिन भक्तों को प्रातः जल्दी उठना चाहिए और स्नान आदि से मुक्त होकर साफ़ वस्त्र धारण करने चाहिए।
  • घर के मंदिर या पूजा स्थल को साफ़ करें और सभी देवी देवताओं को साफ वस्त्र पहनाएं।
  • एक साफ़ चौकी पर लाल कपड़ा बिछाकर माता गायत्री की प्रतिमा या तस्वीर स्थापित करें।
  • चौकी को गंगाजल छिड़ककर पवित्र करें और माता गायत्री का आह्वाहन करें।  
  • माता  गायत्री को अक्षत, पुष्प, चंदन, नैवेद्य आदि चढ़ाएं और उसके बाद धूप-दीप जलाएं।
  • गायत्री मंत्र ' ॐ भूर्भुव: स्व: तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो न: प्रचोदयात्' का कम से कम 108 बार जाप करें
  • गायत्री चालीसा का पाठ करें और माता की आरती पढ़ें।

इस प्रकार गायत्री जयंती के दिन माता गायत्री का पूजन विशेष रूप से फलदायी और मनोकामनाओं की पूर्ति करने वाला होता है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik.com and wallpaper cave.com 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।