मानसिक स्वास्थ्य के लिए जितना महत्वपूर्ण सही खानपान और मेडिटेशन है, उतना ही महत्वपूर्ण इसके बारे में बात करना भी है। एक्सपर्ट के मुताबिक भारत में मेंटल हेल्थ यानी मानसिक स्वास्थ्य की समस्या को लेकर जागरुकता की भारी कमी है। लोग समझ की कमी के कारण मानसिक बीमारियों को हल्के में लेते हैं और उनके बारे में बात करने के लिए आगे नहीं आते। बहुत से लोग डॉक्टर्स से कंसल्ट करने से भी हिचकिचाते हैं। अपने मन की स्थितियों के बारे में बात न करना कई बार घातक सिद्ध हो सकता है। व्यक्ति गलत आदतों में पड़ सकता है, जहां से बाहर निकलना मुश्किल साबित होगा। 

मानसिक स्वास्थ्य पर Fiama की Feel Good मुहिम

मानसिक स्वास्थ्य को लेकर Fiama काफी समय से जागरूकता अभियान चला रहा है। इसका मकसद लोगों को इस बात के लिए प्रोत्साहित करना है कि वो अपनी भावनाओं, इच्छाओं और सोच के बारे में एक-दूसरे को बताएं। Fiama ने NGO MINDS फाउंडेशन के सहयोग से Feel Good नाम से एक मुहिम की भी शुरुआत की, जिसका लोगों पर सीधा असर हुआ है। यह मुहिम लोगों में मानसिक स्वास्थ्य और कल्याण के बारे में जागरूकता को बढ़ा रही है। यही नहीं, लोगों को रियायती दरों पर थैरिपी भी दी जा रही है। 

fiama happy news survey

ये है मेरा हैपीमेस - #SayMoreThanOkay

अपनी फीलिंग्स, इमोशन्स और मूड्स के बारे में दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ बात करना जरूरी है। इससे नकारात्मक विचारों को दूर करने में मदद मिलती है। Feel Good मुहिम के तहत Fiama ने अक्टूबर 2020 में #SayMoreThanOkay नाम से एक वीडियो भी लॉन्च किया था। वीडियो में दिखाया गया है कि हर कोई एक अनोखे अंदाज में अपने इमोशन और मूड को दुनिया के सामने रखकर जश्न मना रहा है। Fiama ने गायिका और गीतकार लिसा मिश्रा के साथ मिलकर एक खूबसूरत वीडियो बनाया था। आप भी देखें ये खूबसूरत वीडियो-

   

मानसिक स्वास्थ्य पर Nielsen और ITC Fiama का सर्वे  

मानसिक स्वास्थ्य के प्रति भारतीयों के बदलते रवैये और व्यवहार को समझने के प्रयास में, प्रमुख बाजार अनुसंधान कंपनी, Nielsen के साथ ITC Fiama ने पिछले साल मानसिक स्वास्थ्य पर एक ऑनलाइन सर्वेक्षण का आयोजन किया था। इस सर्वेक्षण में भारत के 15 शहरों के 18-45 वर्ष के 700 से अधिक पुरुषों और महिलाओं ने भाग लिया। अध्ययन से पता चला कि 77% व्यक्तियों ने माना कि मानसिक स्वास्थ्य पर बातचीत पर्याप्त नहीं है। 87% ने कहा कि मानसिक स्वास्थ्य शारीरिक स्वास्थ्य जैसा ही महत्वपूर्ण है। 80% से अधिक ने कहा कि लॉकडाउन ने उनकी मानसिक सेहत को नकारात्मक रूप से प्रभावित किया है। लगभग चार युवा भारतीयों में से एक को लगता है कि मानसिक स्वास्थ्य का मुद्दा किशोरावस्था से ही शुरू हो जाता है। 25 साल से कम उम्र के 70% युवा भारतीयों के साथ मानसिक स्वास्थ्य और इस तरह के कई तथ्य सामने आए हैं। 

fiama mental health campaign

सकारात्मक खबरों के लिए Happy News Now  

कोरोना ने मानसिक स्वास्थ्य की समस्या को जन्म दिया है। हर तरफ से आ रहे नकारात्मक खबरों ने लोगों को परेशान कर दिया है। जरूरत है ऐसी खबरों की जिसे सुनकर हर किसी के चेहरे पर मुस्कान आ जाए। इसी चीज को ध्यान में रखते हुए अगस्त 2020 में  Fiama ने कॉमेडियन और राइटर मल्लिका दुआ के साथ Happy News Now सीरीज की शुरुआत की। इस सीरीज को शुरू करने का मकसद नकारात्मक माहौल में सकारात्मक खबरों से लोगों में आशा की किरण जगाना है। Happy News Now की खबरों में पीपीई किट पहनकर डांस करने वाली महिला डॉक्टर रिचा और ऑनलाइन पेंटिंग बेचकर 54 हजार कमाकर NGO को दान देने वाले 6 साल के कबीर मोदी की कहानी है। ये कहानियां हमारे चेहरे पर मुस्कान लाती हैं और हमें कुछ अच्छा करने के लिए प्रेरित भी की करती हैं।  

fiama mental health

Fiama का फील गुड कन्वर्सेशन 

लगभग हर इंसान भावनात्मक उतार-चढ़ाव के दौर से गुजरता है। यह ऐसी स्थिति होती है, जिसमें इंसान को कुछ नहीं समझ में आता है।  इस स्थिति का सामना करने के लिए बेहतर उपाय यह है कि आप दोस्तों और परिवार वालों से बात करते रहें। इससे आपको अच्छा महसूस होगा। लोग अपने इमोशन को कैसे डील करें और कैसे मानसिक स्वास्थ्य का ख्याल रखें, इसके लिए Fiama फील गुड कन्वर्सेशन नाम से एक कार्यक्रम लेकर आए।

mental health issue fiama

इस क्रार्यकम में सोशल मीडिया इंफ्लूएंसर देव रयानी ने साइकोथैरेपिस्ट तृषा दारूवाला के साथ ओवरथिंकिंग,  मेंटल हेल्थ और इमोशन के उतार-चढ़ाव पर चर्चा की। इस चर्चा को काफी युवाओं दे देखा।  

fiama and mental health

मानसिक स्वास्थ्य एक बहुत ही बड़ा विषय है, इसपर हर किसी को चर्चा करनी चाहिए। Fiama अपने अभियान और छोटी-छोटी पहल के माध्यम से लोगों को मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान देने के लिए जागरुक कर रहा है। इनकी सभी पहल और Feel Good अभियान लोगों को अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए प्रेरित करते हैं और चेहरे पर मुस्कान ला रहे हैं। Fiama की Feel Good मुहिम, इंस्टाग्राम पर लोगों को जागरूक करने वाले इनके पोस्ट व वीडियो और एक्सपर्ट के साथ डिस्कशन इस बात को सिद्ध करते हैं कि ये मानसिक स्वास्थ्य की समस्या को लेकर बहुत गंभीर है।  

लेखक -  शक्ति सिंह

Note - यह आर्टिकल ब्रांड डेस्‍क द्वारा लिखा गया है।