इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है जिसमें एक बुजुर्ग दंपति खुद को अपने बेटे और बहू से बचाने की गुहार लगा रहा है। यह घटना दिल्‍ली से सटे गाजियाबाद की है। दंपति गाजियाबाद के लोनी थाना क्षेत्र के अंकुर विहार इलाके में रहते हैं। बुजुर्ग मां-बाप को बेटे और बहू ने इतना प्रताड़ित किया कि उन्हें प्रशासन से गुहार लगानी पड़ी कि वो उन्‍हें उनके बच्चों से बचाए। आखिरकार प्रशासन हरकत में आई है और आश्वासन दिया कि बेटे से दस दिन के अंदर घर खाली करवा दिया जाएगा।

elderly couple viral video allege torture by son and daughter in law inside

इसे जरूर पढ़ें: महिलाएं इन 5 सस्ते और बेहतरीन कोर्स से बना सकती हैं करियर

ट्विटर पर इस वीडियो के संबंध में गाजियाबाद पुलिस ने ट्वीट किया था कि थाना प्रभारी को इस प्रकरण में निर्देशित किया गया है। पुलिस विभाग के अधिकारियों के अनुसार मामला पुलिस के संज्ञान में है। डीएलएफ चौकी प्रभारी ने दंपति से मिलकर समस्या के संबंध में जानकारी ली है। अधिकारी के अनुसार दंपति किसी भी तरह की कानूनी कार्रवाई नहीं चाहता। इसलिए पुलिस इस समस्‍या का हल वार्ता से निकालने की कोशिश कर रही है और उसमें सफल भी रही है।

इस मामले में गाजियाबाद की डीएम रितु माहेश्वरी ने तत्काल संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई के आदेश दिए थे। इसके बाद ने बुजुर्ग दंपति और बेटे के बीच समझौता कराया। पुलिस की मौजूदगी में बेटे ने समझौते लिखा है। समझौते के अनुसार, बेटे ने लिखित रूप से आश्वासन दिया है कि दस दिन में वो पत्नी सहित मकान छोड़ देगा।

 

इस संबंध में दंपति ने जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र दिया है। बुजुर्ग दंपति बेटे-बहू को अपने घर से बेदखल करना चाहते हैं और इस पर पुलिस ने बेटे-बहू को बेदखल करने के संबंध में कहा कि यह कार्रवाई जिलाधिकारी और उपजिलाधिकारी के स्तर से होनी है।

elderly couple from ghaziabad allege torture by son and daughter in law inside

आपको बता दें कि घटना डीएलएफ अंकुर विहार कॉलोनी स्थित एमएम रोड की है, यहां रहने वाले इंद्रजीत ग्रोवर और उनकी पत्नि को उनके ही बेटे और बहु ने घर से निकाल दिया है। इंद्रजीत ग्रोवर के अनुसार वह हार्ट पेशेंट हैं और उनकी पत्नी पुष्पा ग्रोवर अर्थराइटिस की मरीज हैं। वायरल वीडियो में दंपति यह कहते हुए नजर आ रहे हैं कि जिस बेटे को पढ़ाया, लिखाया और नौकरी दिलवाई, जिसकी धूमधाम से शादी की, वही बेटा शादी के बाद मकान बेचकर उन्हें घर से बेदखल करना चाहता है। दंपति ने आगे कहा, उनकी बहू फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर मकान खाली करने का दबाव बना रही है।

ghaziabad allege torture by son and daughter in law inside

इसे जरूर पढ़ें: Birthday Special: भूतों के डर से जब सौरव गांगुली ने छोड़ा था होटल, जानें पूरी कहानी

इंद्रजीत ग्रोवर के अनुसार वह पिछले साल नवंबर 2018 में ही बेटे को अपनी संपत्ति से बेदखल कर चुके हैं। इसके बावजूद बेटा और बहू घर से बाहर नहीं जा रहे। उन्होंने वीडियो के जरिए पुलिस और लोगों से मदद की गुहार लगाई थी।उनका कहना है कि जिलाधिकारी से भी मदद की गुहार लगा चुका हूं, लेकिन कुछ परिणाम नहीं निकला है।

आपको बता दें कि गाजियाबाद की डीएम रितु माहेश्वरी ने इस मामले का वीडियो और समझौता होने की तस्वीरें अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से साझा की हैं। साल 2018 में इन कानूनों से महिला सशक्तीकरण को मिला बढ़ावा पढ़ें।