मौजूदा समय में कश्मीर में आर्टिकल 370 का हटाया जाना किसी ऐतिहासिक फैसले से कम नहीं है। एक झटके में कश्मीर की इतनी बड़ी समस्या का हल निकालना मुश्किल था, लेकिन नामुमकिन नहीं था। मोदी सरकार का ये फैसला जहां विपक्ष के गले नहीं उतर रहा वहीं सोशल मीडिया पर इसे लेकर काफी कुछ कहा गया है। लोग इसकी तारीफ भी कर रहे हैं और कुछ इसके खिलाफ भी हैं। 

जैसा कि हर बार होता आया है, इस बार भी धारा 370 को लेकर फेक न्यूज फैलना शुरू हो गई है। फेक न्यूज भी कोई एक दो नहीं बल्कि कई सारी। सोशल मीडिया पर इसे लेकर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं। इन झूठे दावों को लेकर बातें बनाने वाले लोग फेक तस्वीरें भी पोस्ट कर रहे हैं। आर्टिकल 370 और लद्दाख, कश्मीर को लेकर इन बातों पर बिलकुल यकीन न करें- 

इसे जरूर पढ़ें- जम्मू-कश्मीर की इस घाटी को कहा जाता है जन्नत का दरवाजा  

1. कश्मीर में बिकने लगी है प्रॉपर्टी- 

जैसे ही धारा 370 के हटने की बात सामने आई वैसे ही सोशल मीडिया पर टेक्स्ट मैसेज और तस्वीरें वायरल होने लगीं। ये थीं कश्मीर में प्रॉपर्टी की बिक्री होने बातें। टेक्स्ट मैसेज भी शेयर हो रहा है जिसमें कश्मीर की जमीन की कीमत 11.25 लाख रुपए तक कही जा रही है। ये मैसेज अगर आपके पास भी आया है तो मैं आपको बता दूं कि ये पूरी तरह से फेक है। 

Kashmir fake property sale message

इसी के साथ, कई तस्वीरें भी शेयर की जा रही हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि बिल्डर्स कुछ प्रॉपर्टी बेच रहे हैं। जो नंबर मैसेज में दिया गया है वो कोलकाता की एक रियल एस्टेट कंपनी का है। ये कंपनी कोलकाता और उसके आस-पास ही जमीनों की बिक्री करवाती है। 

Kashmir fake property sale news 

कंपनी वालों को खुद नहीं पता कि उनका नंबर कैसे मैसेज में शेयर हो रहा है। अगर कश्मीर में जमीनें बिकेंगी तो उसके लिए पहले कई कानूनी प्रक्रियाएं होंगी। अभी सिर्फ ये धारा हटाई गई है। अभी किसी भी तरह की प्रॉपर्टी की बिक्री शुरू नहीं हुई है। कश्मीर में अगर आपको घर खरीदना है तो उसके लिए थोड़ा इंतज़ार करना होगा।  

2. कश्मीर में हो रहे हैं दंगे-  

सोशल मीडिया पर एक और मैसेज वायरल हो रहा है कि फौज ने कश्मीर में हंगामा मचा दिया है, इसी के साथ ये भी मैसेज जा रहे हैं कि कश्मीरी लोगों ने फौज पर हमला कर दिया है। ऐसे दोनों ही मैसेज गलत हैं। अभी कश्मीर में शांति है।

Kashmir soldiers

भले ही वहां मौजूद नेताओं के भाषण थोड़े ज्यादा हो रहे हैं, लेकिन फिर भी अभी दंगों जैसे कोई हालात नहीं हैं। इस तरह के ट्वीट सोशल मीडिया पर देखने को मिल जाएंगे। ये फेक स्टोरी और फेक तस्वीरों का इस्तेमाल कर रहे हैं। 

3. लद्दाख में ट्रैवल मना हो गया है-

नहीं ये भी सच नहीं है। लद्दाख में ट्रैवल बिलकुल मना नहीं हुआ है। लद्दाख घूमने का अगर प्लान है तो किसी भी हालत में आपको कोई दिक्कत नहीं होगी। लद्दाख में वैसे भी कोई समस्या नहीं होती थी और वो कश्मीर की समस्या से अलग था। अब वो पूरी तरह से अलग हो गया है। कश्मीर की समस्या का लद्दाख ट्रिप पर कोई भी असर नहीं पड़ेगा। 

इसे जरूर पढ़ें- कश्मीर की ये खूबसूरत जगहें इसे बनाती हैं बेस्ट हनीमून डेस्टिनेशन, जानिए इनकी खासियत

क्या सच है?

- कश्मीर में इंटरनेट, फोन कॉल आदि सब बंद हैं। तीन दिन न ही कोई कॉल आ रहा है न ही इंटरनेट चल रहा है। 

- कश्मीर से टूरिस्ट को वापस भेजा जा रहा है और अभी वहां थोड़ी सी खींचा तानी चल रही है। 

- कश्मीर में हालाकत एकदम सही नहीं है। ये भी सच है कि वहां बड़ी तादात में फौज मौजूद है। 

- अभी टूर एंड ट्रैवल एजेंट कश्मीर में टूर नहीं दे रहे हैं। 

कश्मीर की वादियां अभी भी उतनी ही खूबसूरत हैं जितनी पहले थीं और कश्मीर अभी भी जन्नत ही है। उम्मीद की जा सकती है कि कुछ दिनों में वहां के हालात सामान्य हो जाएंगे। 

स्‍वतंत्रता दिवस और रक्षा बंधन के अवसर पर HerZindagi महिलाओं के लिए एक exclusive वर्कशॉप प्रस्‍तुत कर रहा है। हमारे #BandhanNahiAzaadi अभियान का हिस्सा बनने के लिए आज ही फ्री रजिस्ट्रेशन करें। सभी प्रतिभागियों को मिलेगा आकर्षक इनाम।