ज्यादातर महिलाएं यही सोचकर डिप्रेस रहती हैं कि लोग उनके किसी व्यवहार या किसी कदम उठाने को लेकर क्या कहेंगे। सोसाइटी उनके घर-परिवार से लेकर उनकी छोटी-छोटी चीजों को लेकर क्या सोचेगी, इसकी फिक्र उन्हें इतनी ज्यादा होती है कि वे अपना सुख-चैन इसी के पीछे गंवा देती हैं। महिलाएं कौन सी ड्रेस पहनकर बाहर जा रही हैं, किस चीज में पैसे खर्च कर रही हैं, कहां जा रही हैं, रोजमर्रा की जिंदगी की हरेक चीज को लेकर महिलाओं के मन में शंका रहती है कि कहीं कोई उन्हें गलत तो नहीं ठहरा देगा, उन पर सवाल तो नहीं उठा देगा, उनकी आलोचना तो नहीं कर देगा। वैसे सवाल उठाने वालों की कमी नहीं है, लेकिन अगर कोई ऐतराज ना भी जताए तो भी महिलाएं मानसिक रूप से इसी तनाव में जीती है कि उन पर सवाल खड़े किए जाएंगे। 

women thinking of others opinion inside

सवाल उठाने वाले ये लोग कौन हैं?

हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में हम सभी इतने व्यस्त हैं कि हमें दूसरों के बारे में सोचने की फुर्सत नहीं मिलती। अपने घर-परिवार के खास लोगों से बात करने के लिए भी हमें समय निकालना पड़ता है। इतनी व्यस्तता होते हुए भी महिलाएं अक्सर यही सोचती हैं कि उनके आसपास के लोग उनकी हर छोटी चीज पर गौर फरमा रहे हैं। हकीकत यह है कि अपनी अखरने वाली चीजों के बारे में महिलाएं खुद ही सबसे ज्यादा सोचती हैं और फिर उसका तनाव लेती हैं

पार्टी में आपने डीप ब्लाउज या झलकने वाले कपड़े क्यों पहन लिए, सैंडल ज्यादा हील वाली क्यों पहन ली, पड़ोसन को ज्यादा वक्त क्यों नहीं दिए, रात के खाने में भिंडी की सब्जी क्यों बना दी, सुबह टाइम पर नाश्ता क्यों नहीं तैयार हो पाया, ससुर जी के लिए कड़क चाय क्यों नहीं दे पाईं, ये सभी सवाल आप खुद से पूछ-पूछकर खुद की ही टेंशन बढ़ाती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: कच्ची उम्र में मां बनी दोस्त की मौत का हुआ ऐसा असर कि इस महिला ने बाल विवाह के खिलाफ छेड़ दी मुहिम

अगर घर-परिवार के लोग आपसे एक्सपेक्टेशन रखते भी हैं और उस नाते आपसे शिकायत कर दें तो वे इसे दिल से लगाकर नहीं रखते, फिर आपको इसकी चिंता में परेशान होने की क्या जरूरत? ऐसे में आपके लिए यही बेहतर होगा कि खुद को शांत रखें और जिंदगी की बड़ी चीजों पर फोकस करें। 

 

बनाएं अपनी अलग पहचान

जब आप अपनी प्राथमिकताओं के बारे में सोचेंगी, उन्हें पूरा करने पर ध्यान देंगी, तभी आप सही मायनों में अपने जीवन में कामयाब हो सकेंगी। इस रास्ते पर चलकर ही आपको अपनी अलग पहचान हासिल हो सकेगी। अगर आप यही सोचती रह जाएंगी कि दूसरे आपके बारे में क्या सोच रहे हैं तो आपको अपनी जिंदगी जीने का मौका कभी नहीं मिलेगा। तो आज से अपने लिए सोचिए, जो काम आपको महत्वपूर्ण लगते है हं, उन्हें पूरे आत्मविश्वास के साथ अंजाम दीजिए। फिर देखिए, कैसे दुनिया आपके कदमों में झुकी हुई नजर आएगी।