Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    Diwali 2022: जानिए क्यों लक्ष्मी जी के साथ ही होती है गणेश जी की पूजा?

    इस लेख में हम आपको बताएंगे कि क्यों दिवाली पर लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा साथ में होती है। 
    author-profile
    Updated at - 2022-10-11,17:37 IST
    Next
    Article
    Why ganesh and laxmi are worshipped together on diwali

    हमारे देश में कई तरह के त्यौहार मनाए जाते हैं और हर त्यौहार का एक अलग महत्व होता है। दिवाली का त्यौहार हमारे देश में लोगों के लिए प्रमुख त्यौहारों में से एक माना जाता है। हिन्दू धर्म की मान्यताओं के अनुसार इस दिन गणेश जी और लक्ष्मी जी की पूजा करने से विशेष फल प्राप्त होता है और परिवार में सुख-शांति भी आती है।

    इस साल दिवाली का त्योहार 24 अक्टूबर को मनाया जाएगा। दिवाली पर गणेश जी की पूजा को लक्ष्मी जी के साथ की जाती है लेकिन दोनों की साथ में ही पूजा क्यों होती है इस बारे में हम आपको बताएंगे। 

    दिवाली पर पूजा क्यों होती है?

    ganesh laxmi pujan

    दिवाली पर माता लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा को विधि पूर्वक किया जाता है। आपको बता दें कि हिंदू धर्म की पौराणिक कथाओं के अनुसार इस दिन लक्ष्मी जी और गणेश जी की पूजा करने से भक्तों के घर में धन की वृद्धि होती है और भगवान ज्ञान की उत्पत्ति भी होती है।

    दिवाली पर रात में पूजन के मुहूर्त के अनुसार पूजा करते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस दिन पूजा करने से मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। आपको बता दें कि माता लक्ष्मी का दिवाली पर समुद्र मंथन से आगमन हुआ था। साथ ही उन्हें गणेश जी का मानस पुत्र भी माना जाता है। इस वजह से भी दोनों की पूजा करने का खास महत्व होता है। 

    इसे जरूर पढ़ें-Diwali 2022:जानिए क्यों दिवाली पर की जाती है माता लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा?

    क्यों गणेश जी के साथ होती है लक्ष्मी पूजा?

    पौराणिक कथा के अनुसार जब माता लक्ष्मी को धन की देवी बनाया गया तब उन्हें इसका अभिमान हो गया था। यह अभिमान खत्म करने के लिए भगवान विष्णु ने उनसे कहा था कि एक स्त्री का जीवन तभी पूर्ण होता है जब वह मां बन जाती है। तब लक्ष्मी जी को बहुत निराशा हुई और फिर वह देवी पार्वती के पास पहुंची और उनसे इस बारे में बताया और एक पुत्र के लिए मांग की थी लेकिन माता पार्वती यह जानती थी कि देवी लक्ष्मी बहुत समय तक एक स्थान पर नहीं रहती हैं।

    इसे भी पढ़ेंःDiwali Wishes 2022: अपने प्रियजनों को प्यार से कहें दिवाली मुबारक, भेजिए ये शुभकामनाएं और संदेश

    इस बात को जानते हुए भी उन्होंने अपने पुत्र गणेश को उन्हें दे दिया। इस वजह से माता लक्ष्मी बहुत प्रसन्न हुई थी। इस वजह से गणेश जी की पूजन हमेशा लक्ष्मी जी के पूजन से पहले किया जाता है। दिवाली पर दोनों की पूजा का इसलिए ही सबसे अधिक महत्व होता है। मान्यताओं के अनुसार गणेश जी की पूजा पहले करने से माता लक्ष्मी की कृपा हमेशा अपने भक्तों पर बनी रहती है।

    तो यह थी जानकारी गणेश और लक्ष्मी जा के पूजन से जुड़ी हुई। 

    अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। इसी तरह के लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

     

    image credit- freepik

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।