जब एक कपल पैरेंट बनते हैं तो उनके जीवन में काफी कुछ बदल जाता है। उनकी जिम्मेदारियां पहले से काफी अधिक बढ़ जाती है और इसलिए बच्चे की बेहतरीन परवरिश के लिए दोनों को ही मिलकर काम करना होता है। हालांकि कई बार बच्चे की जिम्मेदारियों को लेकर कपल्स के बीच झगड़ा हो जाता है। दरअसल, आज भी समाज में यह समझा जाता है कि बच्चे की जिम्मेदारी महिला को ही उठानी चाहिए, लेकिन अब जब महिलाएं भी घर से बाहर निकलकर काम करने लगी हैं तो ऐसे में बच्चे की पूरी जिम्मेदारी महिला के लिए उठा पाना संभव नहीं होता और इसलिए दोनों ही पार्टनर्स को जिम्मेदारी उठानी होती है। अब सवाल यह उठता है कि बच्चे की जिम्मेदारी को किस तरह बांटा जाए कि कपल्स के बीच कोई परेशानी भी ना हो और किसी भी एक व्यक्ति पर कोई बोझ ना पड़े तो ऐसे में आपको कुछ टिप्स अपनाने की जरूरत होती है। तो चलिए आज हम आपको ऐसे ही कुछ टिप्स के बारे में बता रहे हैं-

जरूर करें चर्चा

 parenting tips inside

अगर आप बच्चे की जिम्मेदारियों को बंटवारा करने के बारे में सोच रही हैं तो यह बेहद जरूरी है कि आप इसके बारे में पहले अपने पार्टनर से बातचीत करें। कभी भी खुद से ही जिम्मेदारियों का बंटवारा करने के बारे में ना सोचें। कई बार ऐसा होता है कि पुरूष बच्चे की कुछ जिम्मेदारियों से परहेज करते हैं। इसलिए अगर आप खुद से कुछ सुनिश्चित करेंगी तो इससे आपके बीच अनबन हो सकती है।

इसे जरूर पढ़ें: जानें टीनएज बच्चों में आने वाले बदलाव और परवरिश के तरीके

जेंडर बायस ना बनें 

 parenting tips inside

जब बात बच्चे की जिम्मेदारी की होती है तो ऐसे में जेंडर बायस ना बनें। जब आप ऐसा करते हैं तो इससे आपसी बातचीत का कोई हल नहीं निकलेगा। हो सकता है कि आपके पति को बच्चे की क्लीनिंग आदि में परेशानी हो, लेकिन ऐसे में आप उन्हें लंच बॉक्स की तैयारी करने या फिर घर की क्लीनिंग आदि का काम सौंप सकती हैं। याद रखें कि आप दोनों जिम्मेदारियों का बंटवारा तब तक नहीं कर सकते, जब आप दोनों अपने जेंडर की ईगो को दूर ना करें।

इसे जरूर पढ़ें: बैड बॉडी पॉश्चर के कारण बच्चे को नहीं होगी कोई परेशानी, बस अपनाएं यह टिप्स

अपनी भावनाओं को करें व्यक्त

 parenting tips inside

जब आप बच्चे की जिम्मेदारियों को लेकर आपस में बातचीत कर रही हैं तो यह जरूरी है कि आप कम्युनिकेशन हेल्दी होना चाहिए। मसलन, पहले आप बेहद धैर्यपूर्वक अपने पार्टनर के मन की बात सुनें और  उनके पक्ष को समझने की कोशिश करें। इसके बाद आप अपने मन की भावनाओं को भी व्यक्त करें। जब आप दोनों ऐसा करते हैं तो इससे आप दोनों को ही एक-दूसरे का पक्ष समझने में आसानी होती है। साथ ही कोई भी पार्टनर अपनी मर्जी नहीं थोपता। इस तरह ना सिर्फ जिम्मेदारियों का बंटवारा करने में आसान होती है, बल्कि किसी भी पार्टनर को कोई परेशानी नहीं होती।

Recommended Video

प्राथमिकताओं को दें तवज्जो

 parenting tips inside

जब आप बच्चे की जिम्मेदारियों को आपस में शेयर कर रहे हैं, तो यह बेहद जरूरी है कि आप एक-दूसरे की प्राथमिकताओं व जरूरतों को तवज्जो दें। तभी आप अपनी मैरिड लाइफ को स्मूथ बना पाएंगी। मसलन, अगर आपके हसबैंड का काम लेट नाइट का है तो ऐसे में आप कोशिश करें कि आप मार्निंग के काम की जिम्मेदारी उन्हें ना दें। बेहतर होगा कि आप उन्हें सुबह अच्छी तरह सोने दें। सुबह के समय की बच्चे व घर की जिम्मेदारी आप खुद पर लें और दोपहर या शाम का कुछ काम आप उन्हें सौंप सकती हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik.com