बेटियों को चाहिए अपने पति में पिता जैसी खूबियां

By Saudamini Pandey22 Jun 2018, 10:49 IST

एक बच्चे के लिए मां के साथ-साथ पिता की परवरिश भी बहुत अहम होती है। पिता जिस तरह से बच्चों को स्पेस देते हैं, प्यार करते हैं, कॉन्फिडेंट बनाते हैं और उन्हें सपोर्ट करते हैं, वह बच्चों को जिंदगीभर मजबूती देता है। पिता की यह बॉन्डिंग बेटियों के साथ और भी गहरी होती है। बेटियां अपने पिता से इतनी ज्यादा इमोश्नली अचैज्ड होती हैं कि वे अपने पति में भी पिता की ही क्वालिटीज चाहती हैं। फादर्स डे के मौके पर आइए जानते हैं कि बेटियां अपने पति में पिता की कौन सी खूबियां देखना चाहती हैं

अनकंडीशनल सपोर्ट

काम चाहे छोटा हो या बड़ा, पिता अपनी बेटी की जरूरतें पूरी करने के लिए, उनकी खुशी के लिए हमेशा हर काम के लिए तैयार रहते हैं। यही सपोर्ट महिलाएं अपने पति से भी चाहती हैं कि वे उनकी जरूरतों को समझें और उन्हें पूरा सपोर्ट दें। कई बार लाइफ में आने वाली प्रॉब्लम्स जैसे कि हेल्थ कंडिशन, फैमिली प्रॉब्लम या किसी अन्य तरह की मुश्किल में फंसने पर सबसे ज्यादा इमोशनल सपोर्ट की जरूरत होती है। महिलाएं चाहती हैं कि पिता की तरह उनका पति भी उनकी भावनाओं को समझे और उन्हें प्यार दे। 

सम्मान है अहम

पिता से बेटियों को जो मान-सम्मान मिलता है, वह किसी बड़े पुरस्कार से कम नहीं है, क्योंकि इसी से वे कॉन्फिडेंट होती हैं, अपनी जिंदगी की मुश्किलों से बेहतर तरीके से लड़ती हैं और नई राहों पर चलने के लिए हौसला दिखाती हैं। हर महिला चाहती है कि उसका हमसफर उसे पूरी रेस्पेक्ट दे, उसे वैल्यू करे और उसकी बातों को सम्मान दे। 

 Watch more : आपकी लटकती बाजुओं को 2 हफ्ते में टोन्‍ड बनाती हैं ये 4 एक्‍सरसाइज

बांटें छोटी-छोटी खुशियां

पिता घर के माहौल को खुशगवार बनाने के लिए छोटे-छोटे पलों में भी खुशियां बिखेरते हैं। सुबह-सुबह की कॉफी, साफ-सफाई से लेकर खाना बनाने तक हर काम के लिए पापा हमेशा रेडी रहते हैं। भले ही वे थके हों, परेशान हों या अपनी किसी प्रॉब्लम में उलझे हों लेकिन अपने बच्चों के लिए वह हरपल साथ खड़े दिखाई देते हैं। उनका यही साथ बेटियों के साथ उनकी रिलेशनशिप को इतना स्ट्रॉन्ग बना देता है कि शादी होने के बाद भी वे अपने पिता के लिए कंसर्न्ड रहती हैं और उनकी केयर करती हैं। 

जब मिल जाएं पिता और पति की खूबियां

महिलाएं यही चाहती हैं कि उनके पिता जैसी क्वालिटीज उनके पति में भी हों। पिता बेटियों को पूरा स्पेस देते हैं, उन्हें अपने फैसले खुद लेने की आजादी देते हैं, ज्यादा रोक-टोक नहीं करते, इससे बेटियां अपनी इंडिपेंडेंट आइटेंटिटी बनाने में कामयाब होती हैं। पति में भी जब उन्हें यही क्वालिटीज मिलती हैं तो वे खुद को लकी मानती हैं। अपनी जिंदगी के दो महत्वपूर्ण आधार पिता और पति, दोनों का जब साथ मिलता है तो महिलाएं निश्चित रूप में कामयाब होती हैं।