आज मदर्स डे के मौके पर देश ही नहीं, बल्कि दुनियाभर में सेलिब्रेशन हो रहे हैं। इस मौके पर मां को स्पेशल फील कराने के लिए बेटियां उन्हें गिफ्ट देती हैं और स्पेशल फील कराती हैं। मां की भूमिका इतनी अहम है कि उसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। बेटी की पर्सनेलिटी मां को देखकर ही विकसित होती है। अगर मां आत्मविश्वास से भरपूर होती हैं तो बेटियों में भी वही कॉन्फिडेंस झलकता है। समय के साथ महिलाओं ने घर और ऑफिस, दोनों जगह अपनी योग्यताओं को साबित किया है। फैशन से लेकर फिल्मों तक, राजनीति से लेकर अर्थव्यवस्था तक, हर जगह महिलाएं अहम पदों पर नजर आती हैं। वर्किंग प्रोफेशनल होना महिलाओं के लिए काफी चैलेंजिंग होता है, क्योंकि वे घर के साथ-साथ ऑफिस की जिम्मेदारियों को भी मैनेज कर रही होती हैं, लेकिन दिलचस्प बात ये है कि यही महिलाएं लीडरशिप के मामले में भी अव्वल होती हैं। अपनी बेटियों को ये वर्किंग मदर्स लीडरशिप के ऐसे लेसन दे सकती हैं, जो उन्हें दुनियाभर में कोई और सिखा नहीं सकता। आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ लीडरशिप स्किल्स के बारे में-

मां हैं बेहतरीन Mentors

leadership lessons to teach

प्रोफेशनल वर्ल्ड और बिजनेस में Mentors की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है, क्योंकि वे इंडस्ट्री में आने वाले नए लोगों को पेशे की बारीकियों से रूबरू कराते हैं, उन्हें अपने काम को बेहतर तरीके से करने का हुनर बताते हैं। वर्कप्रेशर को हैंडल करना, लोगों से बातचीत करते हुए प्रोफेशनल आउटलुक रखना और प्रोफेशनल्स के साथ अच्छी नेटवर्किंग विकसित करने की कला ज्यादातर लोग अपने मेंटर्स से ही सीखते हैं। वर्किंग मदर्स अपनी बेटियों के लिए ऐसी ही मेंटर बन सकती हैं और उन्हें बचपन से ही सही गाइडेंस दे सकती हैं। प्रोफेशनल वर्ल्ड में मेंटरशिप के लिए लोग भारी-भरकम फीस भी चुकाते हैं, लेकिन बेटियां अपनी मां से ही नेतृत्व के गुण आसानी से सीख सकती हैं। अपने काम के अनुभवों को साझा करते हुए वर्किंग मदर्स अपनी बेटियों को अच्छी गाइडेंस दे सकती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: अपनी बेटी को पहले पीरियड्स के बारे में कैसे बताएं, एक्सपर्ट से जानिए

समय की कीमत पहचानना सिखाएं

वर्किंग मदर्स समय की कीमत बखूबी पहचानती हैं। वे अपने ऑफिस की डेडलाइन्स का ध्यान रखते हुए हर काम समय पर पूरे करती हैं और घर पर अपने काम तय समय में पूरे करने के लिए यही फॉर्मूला लागू करती हैं। ये महिलाएं अपनी बेटियों को वक्त की अहमियत ज्यादा प्रभावशाली तरीके से समझा सकती हैं। जहां होममेकर्स अकेले हर काम मैनेज करती रह जाती हैं, वहीं वर्किंग मदर्स टाइम मैनेजमेंट पर पूरा ध्यान देती हैं। वे घर के सभी सदस्यों में काम का बंटवारा करती हैं, जिससे कामों को समय पर पूरा किया जा सके। वर्किंग मदर्स अपना प्रोफेशनल वर्क पूरा होने के बाद घर में बेटियों के साथ क्वालिटी टाइम बिताना पसंद करती हैं। यही चीज वे अपनी बेटियों को भी समझा सकती हैं कि समय पर उन्हें अपनी पढ़ाई और महत्वपूर्ण काम पूरे करने चाहिए, ताकि बचे हुए समय को वे अपनी इच्छानुसार बिता सकें। 

इसे जरूर पढ़ें: मां अपनी बेटियों से सीख सकती हैं ये 5 अहम बातें

पॉजिटिविटी का संदेश

leadership lessons to teach to daughters

महिलाओं के सामने ऐसी बहुत सी चीजें आती हैं, जिनके कारण उनका स्ट्रेस बढ़ सकता है। कोई बुरा हादसा, लोगों का गलत व्यवहार या उनका तंज करना, ये सारी चीजें महिलाओं को परेशान कर सकती हैं, लेकिन प्रोफेशनल वुमन इस तरह की परेशान करने वाली चीजों से खुद को प्रभावित नहीं होने देतीं। उन्हें अच्छी तरह पता होता है कि वे पॉजिटिव माइंडसेट के साथ ही अपने काम पर फोकस कर सकती हैं, इसीलिए वे नेगेटिव लोगों से दूरी बनाए रखने में यकीन रखती हैं और अपनी बेटियों को भी वे यही शिक्षा देती हैं।

Recommended Video

पॉजिटिव रहकर ही वर्किंग वुमन ऐसे लक्ष्य हासिल करने में कामयाब होती हैं, जो दूसरों को असंभव लगते हैं। अपनी बेटियों को भी महिलाएं इसी तरह कूल और रिलैक्स होकर अपने काम पर फोकस होने की सलाह देती हैं, जिससे बेटियों के जीवन को सही दिशा मिलती है।

प्रायोरिटी के हिसाब से काम करना

अपने गोल्स को पाने के लिए डेडलाइन्स के भीतर कामों को पूरा कर लेने का चैलेंज होता है। वर्किंग मदर्स रोज ही यह चैलेंज स्वीकार करती हैं और अपने काम से अपनी काबिलियत साबित करती हैं। डेडलाइन के भीतर काम पूरे करने के लिए कामों की प्रायोरिटी तय करना महत्वपूर्ण होता है। वर्किंग मदर्स यह बात बखूबी समझती हैं और यही चीज वे बचपन से अपनी बेटियों को भी सिखाती हैं। अगर किसी काम में ज्यादा मुश्किल आ रही है तो प्रायोरिटी के हिसाब से उसे और वक्त देना है या फिर बाद में करना है, इसे लेकर वर्किंग मदर्स पूरी तरह से क्लियर होती हैं। अपनी बेटियों को भी वर्किंग मदर्स यही सीख देती हैं कि सबसे जरूरी कामों को सबसे पहले पूरा किया जाए।

अगर आपको यह खबर अच्छी लगी तो इसे जरूर शेयर करें। पेरेंटिस से जुड़ी खबरों पर अडेट्स पाने के लिए विजिट करती रहें हरजिंदगी