• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile
  • Hema Pant
  • Editorial, 07 Apr 2022, 16:29 IST

इन देशों की नहीं है अपनी आर्मी, युद्ध के समय करते हैं ये काम 

किसी देश के लिए आर्मी का होना सबसे बड़ी ताकत माना जाता है। क्योंकि आर्मी ही देश की सुरक्षा के लिए हमेशा तैनात रहती है। 
author-profile
  • Hema Pant
  • Editorial, 07 Apr 2022, 16:29 IST
Next
Article
no army countries

यूक्रेन और रूस की जंग थमने का नाम नहीं ले रही है। ऐसे में अब हर देश अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित है। जंग के इस दौर में हर देश पर इस बात का खतरा है कि कहीं यूक्रेन जैसा हादसा उनके साथ न हो जाए। ऐसे में वह अपने देश की आर्मी को मजबूत करने के प्रयास में सारे कदम उठा रहे हैं। 

कहा जाता है कि अगर किसी देश की ताकत को अगर आंकना हो तो उसकी सैन्य शक्ति को देखा जाता है। आधुनिकीकरण के इस दौर में जहां हर देश परमाणु संपन्न है। वहीं कई ऐसे भी देश हैं जिनके पास अपनी आर्मी नहीं है। एक देश की सुरक्षा के लिए आर्मी बेहद जरूरी होती है। आर्मी के द्वारा देश के बॉर्डर की नाकाबंदी की जाता है, ताकि कोई भी अराजक तत्व देश के अंदर न घुस पाए। अब आप सोचिए कि क्या कोई ऐसा भी देश हो सकता है, जिसके पास अपनी आर्मी न हो। हैरान न हो यह एकदम सच है। पूरी दुनिया में कई देश ऐसे हैं, जो बिना आर्मी के अपना देश चलाते हैं। तो चलिए जानते हैं इन देशों के बारे में। 

मॉरेशियस

mauritius

मॉरेशियस में करीब 13 लाख लोग रहते हैं। साल 1986 में मॉरेशियस यूनाइटेड किंगडम से आजाद हुआ था। ज्यादातर लोग मॉरेशियस को केवल हनीमून डेस्टिनेशन और बीच के लिए ही जानते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि इस देश की अपनी कोई आर्मी नहीं है। लेकिन इस देश में 10,000 पुलिस कर्मी हैं, जो देश की सुरक्षा कार्यों की जिम्मेदारी लेते हैं। 

कॉस्टा रिका

costa rica

कॉस्टा रिका सेंट्रल अमेरिका के पनामा के इस्तमुस पर बसा एक छोटा सा देश है। यहां की जनसंख्या करीब 52 लाख है। साल 1948 में जब कॉस्टा रिका ने गृहयुद्ध में जीत हासिल की, इसी के बाद से इस देश ने अपनी आर्मी हटा दी। यह देश हर साल 1 दिसंबर को सेना उन्मूलन दिवस मनाता है। 

वेटिकन सिटी

vatican city

बता दें कि वेटिकेन सिटी दुनिया का सबसे छोटा देश है। इसका कारण यहां की कम जनसंख्या है। यह देश करीब 0.44 किमी तक फैला हुआ है। जिसमें केवल 840 लोग ही रहते हैं। इसके अलावा यह देश ईसाई धर्म के संप्रदाय रोमन कैथोलिक चर्च का केंद्र है। वेटिकन सिटी में ईसाई धर्म के सर्वोच्च धर्मगुरू पॉप का निवास है। हालांकि, 1970 से पहले इस देश की अपनी आर्मी हुई करती थी। लेकिन 70 के दशक के बाद वेटिकेन सिटी ने अपने देश में आर्मी का चलन बंद कर दिया। यह देश रोम में है, जिसके कारण वेटिकेन सिटी की सुरक्षा की जिम्मेदारी इटली के पास है। (विभिन्न देशों की अजीबो-गरीब बातें जानें)

इसे भी पढ़ें: जानें किन देशों के पास नहीं हैं एक भी एयरपोर्ट

समोआ

samoa

एक समय ऐसा था जब समोआ देश न्यूजीलैंड का गुलाम हुआ करता था। साल 1962 में यह देश आजाद हुआ। आजादी के बाद से ही इस देश के पास अपनी कोई आर्मी नहीं है। हालांकि, इसके पीछे कारण छिपा है। बता दें कि न्यूजीलैंड ने समोआ को आजाद करने पर एक शर्त रखी थी, जिसमें कहा गया था कि समोआ अपनी कोई सेना नहीं बनाएगा। ऐसे में जब भी समोआ को सेना की जरूरत पड़ती है तो वह न्यूजीलैंड से मदद मांगता है। (जापान की अजीबो-गरीब बातें)

इसे भी पढ़ें: इस देश में होती हैं नीले रंग की सड़कें, जानें इसके पीछे क्या है कारण

आइसलैंड

iceland

आइसलैंड यानी यूरोप का दूसरा सबसे बड़ा द्वीप। आप यह जानकर हैरान हो जाएंगे कि साल 1869 से ही इस देश के पास अपनी कोई सेना नहीं है। अब आप सोचिए कि इतने बड़े देश की सुरक्षा बिना किसी आर्मी के कैसे हो सकती है? बता दें कि आइसलैंड नाटो का सदस्य है। जिस कारण से आइसलैंड की सुरक्षा की जिम्मेदारी अमेरिका के पास है। (स्टार्स जिनका नाम गिनीज वर्ल्ड बुक में दर्ज है)

उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुडे रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: Unsplash

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।